करंट टॉपिक्स

वरिष्ठ पत्रकार मनोज जोशी की पुस्तक हिन्दुत्व और गांधी का लोकार्पण

Spread the love

भोपाल. अर्चना प्रकाशन भोपाल के तत्वाधान में वरिष्ठ पत्रकार मनोज जोशी द्वारा लिखित पुस्तक हिन्दुत्व और गांधी का लोकार्पण माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता व संचार विश्वविद्यालय भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में हुआ. मुख्य अतिथि के रूप में अर्चना प्रकाशन न्‍यास के अध्यक्ष पूर्व न्‍यायाधीश एवं मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष अशोक पांडेय उपस्थित रहे. कार्यक्रम की अध्यक्षता माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता व संचार विश्वविद्यालय भोपाल के कुलपति के.जी. सुरेश ने की. आयोजन में विशिष्ट अतिथि पूर्व एसीएस मध्य प्रदेश शासन मनोज श्रीवास्तव व राष्‍ट्रीय स्‍व्‍यंसेवक संघ के मध्य क्षेत्र सह कार्यवाह हेमंत मुक्ति बोध रहे. विशेष अतिथि के रूप में वरिष्ठ पत्रकार महेश श्रीवास्तव उपस्थित रहे.

कार्यक्रम का शुभारंभ माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय भोपाल के सभागृह में दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया. सभी अतिथियों की गरिमामय उपस्थिति में पुस्तक का विमोचन किया गया.

वरिष्ठ पत्रकार महेश श्रीवास्तव ने कहा कि हिन्दुत्व एक आकाश की तरह है, जिसमें तारे बिखरे हुए हैं. उन्होंने मनोज जोशी द्वारा लिखित पुस्तक के विषय में कहा कि इसमें गांधी जी के सभी विचार हिन्दुत्व में व्यक्‍त हुए हैं.

हेमंत मुक्तिबोध जी ने कहा कि गांधी भाषण से ज्यादा आचरण में लाने के विषय हैं. बंगाल की क्रांति और हिमालय की शांति दोनों गांधी में देखने को मिलती थी. दो तरह के गांधीवादी हुए हैं, एक जो गांधी के समर्पित, दूसरे जो गांधी के विरोधी. गांधी समर्पित उन्हें देवता मानते थे और उनके प्रति कोई भी टिप्पणी बर्दाश्त नहीं करते थे. वहीं एक थे विरोधी, जिन्होंने उन्हें रूढ़ीवादी कहा था. उन्होंने कहा कि गांधी का नाम प्रातः पढ़े जाने वाले एकात्मता स्तोत्र में शामिल है. गांधी एक विचारधारा थी जो कहीं ना कहीं आरएसएस से जुड़ा हुआ था. मुक्तिबोध ने कहा कि संघ और गांधी के संदर्भ में कई समानताएं हैं.

पूर्व एसीएस मध्यप्रदेश शासन मनोज श्रीवास्तव ने कहा कि हिन्दुत्व से दुनिया की शक्तियां टकराईं पर उसका कुछ बिगाड़ नहीं पाई और यह अभी भी जारी है. भारत में लाख कोशिशों के बाद भी हिन्दुत्व नहीं मिटा. उन्होंने मनोज जोशी द्वारा लिखित पुस्तक को साहस का कार्य बताया. उन्होंने कहा कि इस पुस्तक में हिन्दुत्व और गांधी दोनों का संगम कराया गया है. गांधी जी भारतीय जनता की प्रेरणा शक्ति थे, जिसे पहचानना आज जरूरी है. उन्होंने हिन्दुत्व विचारधारा से ही स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ी.

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति केजी सुरेश ने कहा कि पुस्तक का विमोचन हमारे मंच से हो रहा है, यह बहुत ही गरिमामयी बात है. इस पुस्तक में सभी लिखित बातें तथ्यों के आधार पर कही गई हैं. इसमें लिखित सभी बातों के साथ उपस्थित हैं. आज युवा पीढ़ी के मन में बहुत सारे प्रश्न खड़े हुए हैं. कोई भी बात तथ्यों के आधार पर सत्यता के साथ युवा पीढ़ी के समक्ष रखना जरूरी है. यह पुस्तक शोधकर्ताओं को प्रेरित करेगी, इस तरह की किताबें आगे भी आती रहेंगी.

पूर्व न्‍यायाधीश, मध्यप्रदेश लोकसेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष एवं अर्चना प्रकाशन के अध्यक्ष अशोक पांडे ने कहा कि कि गांधी जी ने जो कहा और जो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने जो कहा, उसमें कोई अंतर नहीं है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ हिन्दुत्व के दर्शन में विश्वास रखता है. सत्य की अनवरत खोज का नाम ही हिन्दुत्व है. इस पुस्तक के माध्यम से खुली चुनौती तथ्यों के आधार पर दी गई है.

कार्यक्रम में अर्चना प्रकाशन के ओम प्रकाश गुप्ता ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हमारे द्वारा अभी तक ढाई सौ से ज्यादा पुस्तक में प्रकाशित की जा चुकी हैं. कार्यक्रम में सभी लोगों का मार्गदर्शन प्राप्त हुआ, इसके लिए सभी का धन्यवाद ज्ञापित करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.