करंट टॉपिक्स

मध्यप्रदेश – पत्रकारिता की आड़ में नाबालिगों का शारीरिक शोषण करता था प्यारे मियां

Spread the love

भोपाल (विसंकें). मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पत्रकारिता की आड़ में नाबालिगों का शारीरिक शोषण करने का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जहां अखबार का मालिक नाबालिग बच्चियों को शराब पिलाकर उनसे अश्लील हरकतें और डांस कर रहा था.

जानकारी के अनुसार ‘भोपाल के अधिकार’ नामक अखबार के मालिक प्यारे मियां ने पांच नाबालिग बच्चियों को शराब पिलाई और उनसे जबरदस्ती डांस करवाया. पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार देर रात पुलिस को गश्त करते समय पांच लड़कियां सड़क पर दिखीं, जब पुलिस ने उन लड़कियों से सड़क पर घूमने को लेकर सवाल किये तो लड़कियां शराब के नशे में जवाब नहीं दे पाईं. पुलिस ने इन सभी को पुलिस लाइन को सौंप दिया और इनकी काउंसलिंग की गई. जब पूछताछ हुई तो इन लड़कियों ने उनके साथ यौन शोषण होने का खुलासा हुआ.

घटना वाली रात पांच लड़कियों में से एक लड़की के साथ प्यारे मियां ने बलात्कार किया और बाकी लड़कियां भी उसकी हवास को पूरा करने का माध्यम बनीं, जिन्हें जबरजस्ती अश्लील डांस करने के लिए विवश किया गया.

प्यारे मियां अपनी असिस्टेंट  के साथ मिलकर काफी दिनों से इन लड़कियों का यौन शोषण कर रहा है. पार्टियों में पैसे के बदले डांस करने और उसके बाद यौन शोषण के लिए प्यारे मियां ने नाबालिग लड़कियों को अपने जाल में फंसाया और इस काम में उसका साथ दिया असिस्टेंट ने. इस मामले में अब तक की जांच में भोपाल के 5 बड़े नाम सामने आ रहे हैं.

लड़कियों ने पुलिस को बताया है कि उन्हें शाहपुरा क्षेत्र में शनिवार की रात एक जन्मदिन पार्टी में नाचने के लिए ले जाया गया था. प्यारे मियां ने अपनी सहायक की मदद से इन लड़कियों को अपने यहां नाचने के लिए बुलाया था. विष्णु हाइट्स स्थित फ्लैट में पार्टी के दौरान प्यारे मियां द्वारा एक नाबालिग का यौन शोषण भी किया गया. पांचों लड़कियों ने प्यारे मियां पर लैंगिक शोषण का आरोप लगाया है, उन्होंने बताया कि समय-समय पर उन लड़कियों को फ्लैट में ले जाया जाता था. उन्हें इसके लिए धनराशि भी दी जाती थी. सब कुछ असिस्टेंट ही मैनेज करती थी, प्यारे मियां की तरफ से उन लड़कियों को धनराशि का प्रलोभन दिया करती थी. पुलिस आरोपी की तलाश में लगी है और उसकी सहायक स्वीटी को गिरफ्तार कर लिया गया है. प्यारे के खिलाफ विभिन्न धाराओं में एफ आई आर दर्ज की गई है.

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने संज्ञान में लिया मामला

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा मामले का संज्ञान लिया गया है. आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने ट्वीट कर बताया कि भोपाल मध्यप्रदेश में बच्चों का अनैतिक कार्यों में उपयोग करवाए जाने की घटना पर एनसीपीसीआर ने संज्ञान लिया है. मैंने संबंधित पुलिस अधिकारियों से फोन पर संपर्क कर आवश्यक निर्देश दिए हैं, राज्य बाल आयोग भी संपर्क में है. बच्चों का शोषण करने वालों को बचने नहीं दिया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.