करंट टॉपिक्स

द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाना, संपूर्ण जनजातियों के लिए गर्व की बात – वनवासी कल्याण आश्रम

Spread the love

वनवासी कल्याण आश्रम ने द्रौपदी मुर्मू जी को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने का स्वागत किया है. कल्याण आश्रम के अध्यक्ष ने बयान में कहा कि – “श्रीमती द्रौपदी मुर्मू के रूप में एक जनजाति महिला को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाकर भाजपा के नेतृत्व में एनडीए सरकार ने जो पहल की है. उसका अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम स्वागत करता है.

भाजपा के नेतृत्व में एनडीए ने झारखंड की पूर्व राज्यपाल श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी को आगामी राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए अपना उम्मीदवार घोषित किया है. कल्याण आश्रम के केन्द्रीय कार्यकारी मंडल की बैठक अरुणाचल प्रदेश के नामसाई में चल रही है. इसी बैठक में यह सुखद समाचार मिला.

स्वाधीनता के अमृत महोत्सव काल में संथाल जनजाति की एक महिला को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने का निर्णय ऐतिहासिक है, ऐसा कल्याण आश्रम का मानना है.

भारतीय परंपरा एवं संस्कृति का अभिन्न घटक और एक गौरवशाली परंपरा का वाहक होने के बावजूद भी देश के जनजाति समाज को वर्षों से उपेक्षा का शिकार होना पड़ा. देश के ऐसे एक बड़े समाज घटक की महिला को देश के सर्वोच्च पद पर बिठाने की जो पहल एनडीए सरकार ने की है, इसके लिए हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और एनडीए के सभी घटक दलों का अभिनंदन करते हैं. देश के 12 करोड़ से अधिक जनजाति समाज की उपेक्षा का परिमार्जन करने वाला यह एक ऐतिहासिक कदम है, ऐसा हमारा मानना है.

उड़ीसा की रहने वाली द्रौपदी जी का संपूर्ण जीवन संघर्षमय रहा है. अत्यंत प्रतिकूल परिस्थिति में राजनीतिक क्षेत्र में काम करते हुए उन्होंने राजनीति के साथ-साथ सामाजिक क्षेत्र में भी अपना एक स्थान बनाया. इसी कारण झारखंड जैसे राज्य की राज्यपाल बनने का सौभाग्य भी उनको प्राप्त हुआ था. सामाजिक, राजनीतिक और राज्यपाल जैसे प्रतिष्ठित पद पर कार्यरत रहते हुए जो अनुभव उन्होंने प्राप्त किया है, उसका उपयोग राष्ट्रपति पद पर नियुक्त होने के बाद संपूर्ण देश को होगा ऐसा हमारा विश्वास है.

एनडीए के नेतृत्व वाली वर्तमान केंद्र सरकार ने द्रौपदी जी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाकर सामाजिक परिवर्तन की दृष्टि से एक सराहनीय कदम उठाया है. जनजाति समाज की सर्वांगीण उन्नति के प्रति अपनी प्रतिबद्धता प्रकट करने का एक अवसर सभी राजनीतिक पार्टियों को आगामी राष्ट्रपति पद के चुनाव में प्राप्त हुआ है. इसलिए, देश की सभी एक होकर श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद पर निर्विरोध चुनने की दृष्टि से पहल करने का आह्वान भी हम सभी राजनीतिक पार्टियों से करते हैं.”

रामचंद्र खराडी

अध्यक्ष, अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम

Leave a Reply

Your email address will not be published.