करंट टॉपिक्स

दंगल के उस्ताद के निधन की खबर से मीडिया जगत स्तब्ध

Spread the love

नई दिल्ली. दंगल का उस्ताद, देशहित की पत्रकारिता के जुझारू योद्धा, वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना के आकस्मिक निधन का समाचार सुन हर कोई स्तब्ध है. आज दोपहर दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया. उनके परिवार में उनकी पत्नी और दो बेटियां हैं. कोरोना से जूझते हुए भी दूसरों की सहायता के लिए तत्पर रहने वाले #RohitSardana का निधन अपूरणीय क्षति है.

रोहित सरदार कुछ दिन पहले कोरोना संक्रमित हो गए थे, लेकिन उससे ठीक हो रहे थे और दूसरों की सहायता में सक्रिय थे. गुरुवार रात तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें नोएडा के मैट्रो अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां शुक्रवार को हार्ट अटैक से उनका निधन हो गया.

हरियाणा के कुरुक्षेत्र के मूल निवासी रोहित सरदाना के नाम बेस्ट एंकर के NT Award और ENBA Award के साथ-साथ हिंदी पत्रकारिता का प्रतिष्ठित गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार भी है.

रोहित सरदाना भारत के सबसे ज़्यादा पसंद किए जाने वाले, ऊर्जावान एंकर थे. उन्होंने डेढ़ दशक के अपने करियर में ऑल इंडिया रेडियो में बतौर उद्घोषक अपनी आवाज़ घर-घर पहुंचाई और उसके बाद ईटीवी, सहारा समय, जी न्यूज़ और फिर आजतक में अपनी एंकरिंग से घर-घर में अपनी पहचान बनाई.

तीखे और स्पष्ट सवाल रोहित सरदाना की एंकरिंग की खूबी थे. सोशल मीडिया पर भी उनके लाखों की संख्या में फॉलोअर्स थे.

ग्राउंड पर जाकर चुनावी फिजा को भांपने और उसे जनता तक पहुंचाने में उनकी महारत थी. उनके निधन पर समाज के अलग अलग क्षेत्र की तमाम हस्तियों ने शोक व्यक्त किया.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रोहित सरदाना के निधन पर शोक व्यक्त किया – “रोहित सरदाना बहुत जल्दी हमें छोड़ कर चले गए. भारत की प्रगति के लिए ऊर्जा से भरपूर, भावुक और एक दयालु हृदय आत्मा वाले थे, रोहित को कई लोगों द्वारा याद किया जाएगा. उनके निधन ने मीडिया जगत में एक विशाल शून्य पैदा कर दिया है. उनके परिवार, दोस्तों और चाहने वालों को सांत्वना. ओम शांतिः”

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य जी ने कहा – प्रसिद्ध पत्रकार एवं न्यूज़ एंकर श्री रोहित सरदाना के अकल्पित निधन का समाचार अघातजनक एवं दुःखद है. रोहित जी अच्छी सकारात्मक पत्रकारिता के मापदंड थे. उनके जाने से पत्रकार सृष्टि में अपूरणीय रिक्तता महसूस होगी. उनके प्रति विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ.

 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *