करंट टॉपिक्स

चीन की हरकत पर देशभर में गुस्सा, चाइनीज़ वस्तुओं के बहिष्कार का संकल्प

Spread the love

नई दिल्ली. देश में चीनी सामानों के बहिष्कार को लेकर अभियान तेज हो रहा है. आम जनता, सरकार, व्यापारी, सेलिब्रेटी सब चीनी सामान के बहिष्कार के लिए आगे आ रहे हैं. युवा व विभिन्न संगठन विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, चीन के राष्ट्रपति का पुतला जला रहे हैं. इसी क्रम में देश की राजधानी दिल्ली सहित देश के विभिन्न इलाकों में लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं.

शिमला में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा उपायुक्त कार्यालय के बाहर चीन के राष्ट्रपति का पुतला जलाया गया व विरोध प्रदर्शन किया गया. सचिन ने कहा कि भारत और चीन के सीमा में लंबे समय से सीमा विवाद है और चीन द्वारा कायराना हमला करना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है. चीन लगातार वास्तविक नियंत्रण रेखा गलवान घाटी क्षेत्र में हिंसक घटनाओं को अंजाम दे रहा है. भारत सैनिकों के बलिदान को सदैव याद रखेगा और बलिदान कभी भी व्यर्थ नहीं जाएगा. भारत का प्रत्येक नागरिक देश के साथ देश की सेना के साथ खड़ा है. एबीवीपी की अपील है कि चीन में बनी वस्तुओं का बहिष्कार करें और भारत में बनी वस्तुओं का प्रयोग करें तथा आत्मनिर्भर भारत बनाने में सहयोग दें. रविवार को दिल्ली के रघुबीर नगर में स्थानीय लोगों ने चीनी राष्ट्रपति का पुतला फूंका. इसके साथ ही चीन और चीनी समान के विरोध में प्रदर्शन भी किया. प्रदर्शन रघुबीर नगर के ख्याला थाना चैक से शुरू हुआ प्रदर्शन गांववाला चैक से होते हुए नगर के विभिन्न स्थानों पर गया. लोगों ने ‘हिन्दी-चीनी बाय-बाय‘ ‘चीनी सामान बंद करो’ के नारे लगाए. लोगों ने हाथों में तख्तियां भी पकड़ी हुई थीं और वह स्थानीय लोगों से स्वदेशी अपनाने की अपील कर रहे थे. इस दौरान लोगों ने संकल्प भी किया कि वह जितना हो सके स्वदेशी अपनाएंगे और चीनी सामान का बिल्कुल प्रयोग नहीं करेंगे. प्रदर्शन के आखिर में लोगों ने चीनी राष्ट्रपति शी जिंगपिंग का पुतला जलाया गया.

स्वदेशी जागरण मंच ने पूर्वी दिल्ली में चाईनीज सामान की होली जलाई

स्वदेशी जागरण मंच ने पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मीनगर में चाईनीज माल की होली जलाई. मंच के कार्यकर्ता बीते सप्ताह गलवान घाटी में चीन की आक्रामकता के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. जागरण मंच के समन्वयक विकास चौधरी ने कहा कि विरोध प्रदर्शन सैनिकों को श्रद्धाजंलि देने के साथ ही चीन में बनने वाले उत्पादों का बहिष्कार करने के लिए किया जा रहा है. हम लोग चीन को बताना चाहते हैं कि उनके उत्पादों को खरीद कर उनके हाथ मजबूत करके अपने सैनिकों को नहीं मरने दे सकते. व्यापार मंडल के अध्यक्ष सुंदर चौधरी और सदस्यों सहित युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने भाग लिया.

दक्षिण दिल्ली के खानपुर में चीन के खिलाफ लोगों में भारी आक्रोश दिखा. सीमा पर चीनी दुस्साहस पर नाराज लोगों ने जोरदार नारेबाजी की और राष्ट्रपति शी जिनपिंग का पुतला फूंका. खानपुर में निगम पार्षद के नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन किया गया और चीनी माल के बहिष्कार की बात दोहराई गयी. भारत का एक-एक नागरिक एक सिपाही है जो चीन के सामान का बहिष्कार करके चीन को आर्थिक क्षति पहुंचाकर घुटने टेकने पर मजबूर कर सकता है.

दिल्ली के कनॉट प्लेस में भी राष्ट्र निर्माण पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बलिदानी सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के बाद चीनी राष्ट्रपति का पुतला जलाया. जिन कंपनियों को चीन से सामान लाने के लाईसेंस मिले हैं, उनको तुरंत प्रभाव से निरस्त किया जाए. देश में छोटे कारोबारियों की सबसे बड़ी संस्था कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ने चीनी सामान के बहिष्कार के अभियान को ज्यादा तीव्र कर दिया है.

झुमरीतलैया कोडरमा में भी चीनी उत्पादों का बहिष्कार

झारखंड के झुमरीतलैया कोडरमा में बलिदानी सैनिकों को युवकों ने झंडा चौक के समक्ष दीपक जलाकर श्रद्धांजलि दी. युवकों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से शीघ्र ही बदला लेने की अपील भी की. युवाओं ने कहा कि चीन धोखा देने में माहिर है. कोरोना वायरस के मामले में पूरे विश्व को गलत सूचना देकर लोगों की जान लेने की कार्य किया है.

जम्मू के सुंदरबनी कालाकोट और नौशहरा में चीन के खिलाफ प्रदर्शन

सुंदरबनी में विश्व हिन्दू परिषद, बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने सुंदरबनी, कालाकोट और नौशहरा में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का पुतला जलाकर प्रदर्शन किया. जम्मू-पुंछ राजमार्ग अवरुद्ध कर चीनी राष्ट्रपति का पुतला फूंकने के साथ चीनी सामान के बहिष्कार और स्वदेशी अपनाओ के नारों के साथ प्रदर्शन किया. प्रदर्शन के दौरान विहिप ने कहा कि हम शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं और चीनी उत्पादों के बहिष्कार का आह्वान करते हैं. हमारी सरकार और सेना पूर्ण सक्षम है और चीन को उचित जवाब भी दे रही है.

अखनूर में बजरंग दल और विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकर्ताओं ने चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. चीनी राष्ट्रपति का पुतला फूंका और चीन में निर्मित उत्पादों को जलाकर विरोध प्रकट किया गया. कस्बे के सुंगल मोड़ पर बड़ी संख्या में एकत्रित कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की. बजरंग दल के प्रांतीय प्रधान बलकार सिंह ने कहा कि लद्दाख के गलवान घाटी में चीन के सैनिकों ने भारतीय सेना के 20 जवानों को धोखे से शहीद कर दिया. इससे लोगों में रोष है. चीन में बने हर सामान का बहिष्कार करना चाहिए. देश की जनता सीमा पर किसी भी कार्रवाई के समर्थन में है.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *