करंट टॉपिक्स

नया पाकिस्तान – कोटरी में चोरों ने हिन्दू मंदिर को निशाना बनाया, चांदी के हार और नकदी ले उड़े

Spread the love

नई दिल्ली. इमरान खान के नया पाकिस्तान में हिन्दुओं व उनके धार्मिक स्थलों पर हमलों का क्रम निरंतर जारी है. नए घटनाक्रम में पाकिस्तान के कोटरी शहर में चोरों ने हिन्दू मंदिर को निशाना बनाकर वहां से गहने और नगदी चुरा ली. बुधवार को घटित घटना में चोरों ने तीन चांदी के हार और मंदिर की दानपेटी से 25 हजार रुपये की नकदी चुरा ली. हालांकि, पुलिस ने मंदिर के केयरटेकर भगवान दास की शिकायत पर केस दर्ज किया है, लेकिन पूर्व के अनुभवों को देखते हुए कार्रवाई की उम्मीद कम ही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, चोरों ने कोटरी में देवी मां मंदिर का ताला तोड़ा और भगवान की मूर्तियों के गले से चांदी के तीन हार और दान पेटी से करीब 25 हजार रुपये चुरा लिए. भगवान दास ने बताया कि चांदी के तीनों हारों का वजन 10 तोला था.

रिपोर्ट्स के अनुसार, जमशोरो SSP जावेद बलोच ने कहा कि मंदिर प्रबंधन को शक है कि पास के रहवासी इलाके से किसी ने मंदिर में लूट की.

सिंध प्रांत में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ज्ञानचंद ईरानी ने SSP को FIR दाखिल करने और आरोपियों को पकड़ने का आदेश दिया है. उन्होंने कहा कि कुछ ही दिन में हिन्दू समुदाय दीवाली का त्यौहार मनाने जा रहा है, ऐसे समय में इस तरह की घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

दो महीने पहले जन्माष्टमी के अवसर पर भी सिंध प्रांत के संघार जिले के खिर्पो में मंदिर में तोड़फोड़ की घटना हुई थी. इसमें रखी मूर्तियों को तोड़ दिया गया और वहां मौजूद हिन्दुओं से मारपीट और बदसलूकी की गई. सिंध में हुई घटना की जानकारी पाकिस्तान के ह्यूमन राइट एक्टिविस्ट राहत आस्टिन ने सोशल मीडिया पर दी थी. उन्होंने लिखा था-  मंदिर पर हमला इसलिए किया गया क्योंकि यहां हिन्दू समुदाय धूमधाम से भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाने जुटे थे.

बांग्लादेश में भी मंदिरों पर हुए थे हमले

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा (नवरात्रि) के दौरान कई क्षेत्रों में पूजा पंडालों और मंदिरों में तोड़फोड़ की गई थी. इसके बाद हिंसा ने भयावह रूप ले लिया था. चिट्टगांव के कोमिला में दुर्गा पंडालों पर हुए हमलों में 4 लोगों की मौत हो गई थी. सोशल मीडिया पर अफवाह के बाद कई जगहों पर हिंसक घटनाएं हुईं. चांदपुर, चिट्‌टागांव, गाजीपुर, बंदरबन, चपाई नवाबगंज और मौलवी बाजार में पूजा पंडालों में तोड़फोड़ की गई.

नोआखाली में इस्कॉन मंदिर में तोड़फोड़ की. 200 लोगों की भीड़ ने इस्कॉन के एक सदस्य पार्थो दास को बेरहमी से मार डाला, जिनका शव मंदिर के पास वाले तालाब में मिला. बेगमगंज में जतन कुमार साहा नाम के एक शख्स को मार डाला गया, जबकि 17 लोग घायल हुए थे.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *