करंट टॉपिक्स

पूर्णिया – शादी से दो सप्ताह पहले लड़की को भगा ले गया मो. असरफ, केस दर्ज

Spread the love

पूर्णिया. पूर्णिया जिले के डगरुआ में चिकनी गाँव का मो. असरफ आलम (पुत्र हामिद अंसारी) 13 अप्रैल को एक हिन्दू लड़की को बहला-फुसला कर भगा ले गया. लड़की के भाई बसंत कुमार ने डगरुआ थाने में केस दर्ज कराया है (डगरुआ थाना में दर्ज कांड संख्या- 99/21). लेकिन एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी पुलिस लड़की को ढूंढने में सफल नहीं हो पाई है. आरोप है कि पुलिस मामले में कुछ विशेष पहल भी नहीं कर रही है. लड़की की शादी 26 अप्रैल को होनी थी.

बसंत ने बताया कि 26 तारीख को बहन का विवाह होना था, तिलक भी हो गया था, शादी की कई तैयारियां पूरी की जा चुकी थीं. लेकिन मो. असरफ आलम ने साजिश के तहत 13 अप्रैल, 2021 को बहला-फुसलाकर उसे अगवा कर लिया. लड़की के भाई बसंत कुमार ने प्रशासन से अपनी बहन की बरामदगी की गुहार लगाई है.

डगरूआ थाना प्रभारी ने बताया कि इस संबंध में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. आवश्यक कार्यवाही के लिए मोबाइल नंबर को ट्रैक किया जा रहा है. मो. अफसर आलम का मोबाइल दिल्ली में ट्रैक किया गया था. जल्द ही लड़की की बरामदगी की जाएगी और आरोपी मोहम्मद असरफ आलम अंसारी को गिरफ्तार किया जाएगा.

यह क्षेत्र मुस्लिम बहुल है और यहां कट्टरपंथियों के दबाव के कारण कोई दलित या पिछड़ा हिन्दू कुछ बोल नहीं सकता है. यहाँ के मुखिया, सरपंच से लेकर विधायक तक सभी मुस्लिम हैं. अगर कोई हिंदू है तो उसका हिम्मत नहीं होती, वहां पर कुछ बोल सके क्योंकि वे लोग कई हिंसक घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं, जिससे वहां के हिन्दू दहशत में हैं.

डगरूआ थाना में भी लगाई थी आग

इस क्षेत्र में रहने वाले कट्टरपंथियों ने डगरूआ थाना को भी एक बार अपना निशाना बनाया था और थाने को आग के हवाले किया था.

कमलेश तिवारी ने जब अपनी स्वतंत्रता का उपयोग करते हुए मोहम्मद को लेकर बयान दिया था तो इस क्षेत्र में भी हिंसक घटनाएं घटी थीं, जिसमें हिन्दुओं की दुकानें, गाड़ियां और घर जलाए गए थे. उस समय यह नेशनल न्यूज़ भी बना था.

इसी क्षेत्र में सर्वलाल मांझी जो एक दलित है, उसको भी यहां के कट्टरपंथी जिहादियों की भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला था और उनके शव का दाह संस्कार भी नहीं करने दिया जा रहा था. इस घटना की शिकायत जब केंद्रीय एससी-एसटी आयोग के पास की गई तो उसके बाद डीएम और एसपी को शो-कॉज नोटिस जारी किया गया था. तब प्रशासन की नींद खुली और गिरफ्तारी होने से लेकर शव का अंतिम संस्कार तक किया गया.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *