करंट टॉपिक्स

वैष्णो देवी यात्रियों के लिए RFID कार्ड आवश्यक; नियम का उल्लंघन करने पर जुर्माने का प्रावधान

Spread the love

कटरा. श्री माता वैष्णो देवी मंदिर में जाने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बनाए ‘रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिटी कार्ड’ यानि (RFID कार्ड) को लेकर श्राइन बोर्ड प्रशासन ने नए निर्देश जारी किए हैं. श्राइन बोर्ड प्रशासन के नए दिशा निर्देश के अनुसार अब बिना आरएफआइडी कार्ड के यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं से 100 रुपये जुर्माना वसूला जाएगा. सिर्फ जुर्माना ही नहीं, बल्कि उन सभी श्रद्धालुओं की यात्रा भी निरस्त कर उन्हें घर भेज दिया जाएगा जो बिना आरएफआइडी कार्ड के यात्रा करते हुए पकड़े जाएंगे.

श्राइन बोर्ड प्रशासन ने बताया कि प्रशासन द्वारा लिए गए निर्णय को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है. अर्थात् यात्रा पर जाने वाले सभी भक्तों को आरएफआइडी कार्ड का उपयोग विशेष तौर पर करना होगा. इसके अलावा कई श्रद्धालुओं द्वारा दर्शन कर वापस लौटते वक्त कार्ड वापस न करने पर भी बोर्ड ने कड़ा कदम उठाया है. यात्रा के प्रवेश द्वार दर्शनी ड्योढ़ी के साथ नए ताराकोट मार्ग के प्रवेश द्वार, कटड़ा हेलीपैड, श्री माता वैष्णो देवी रेलवे स्टेशन कटड़ा सहित अन्य स्थानों पर कर्मियों की तैनाती की है. साथ ही सभी श्रद्धालुओं पर अत्याधुनिक स्कैनरों से नजर रखी जा रही है.

हालांकि, मां वैष्णो देवी की यात्रा करने के बाद 97 प्रतिशत श्रद्धालु यात्रा कार्ड जमा करवा रहे हैं. 3 प्रतिशत श्रद्धालु ऐसे श्रद्धालु हैं जो यात्रा कार्ड जमा नहीं करवाते हैं. प्रशासन द्वारा लिए गए निर्णय का मुख्य उद्देश्य श्रद्धालुओं को जागरूक करना है. लापरवाही बरतने वाले श्रद्धालुओं से जुर्माना वसूलने के साथ ही उन्हें जागरूक किया जा रहा है, ताकि आने वाले श्रद्धालुओं के लिए दोबारा से आरएफआइडी कार्ड का उपयोग किया जा सके. बोर्ड को एक कार्ड की कीमत 60 रुपये पड़ रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.