करंट टॉपिक्स

हिन्दुओं में रामत्व के प्रसार के साथ संस्कारित व सबल हिन्दू समाज बनाएंगे – बजरंग लाल बागड़ा

अयोध्या. विश्व हिन्दू परिषद की केंद्रीय प्रन्यासी मंडल व प्रबंध समिति की त्रिदिवसीय बैठक आज उत्तर प्रदेश के अयोध्या धाम के पवित्र स्थल कारसेवकपुरम् में...

श्रीराम की संस्कृति, संस्कार, आचरण भी हर व्यक्ति के जीवन में आना आवश्यक – डॉ. मोहन भागवत जी

समाज में अस्पृश्यता का भाव नहीं चाहिए धामणगाँव रेलवे. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि समाज में अच्छे भाव,...

घुमंतू समाज के ज्ञान से पूरे समाज को लाभ हुआ – डॉ. मोहन भागवत जी

जालना. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि घुमंतू समाज अपने व्यवसाय के लिए नहीं, बल्कि धर्म के लिए जीता...

आर्थिकी का आधार

प्रमोद भार्गव भारत में मुख्यधारा की पत्रकारिता धर्म आधारित पत्रकारिता के सामाजिक सरोकारों से लगभग दूर ही रही है. संवैधानिक पदों पर बैठे नेता मंदिरों...

नीब करौरी बाबा के आदर्श आज भी प्रासंगिक – नरेन्द्र ठाकुर जी

दिल्ली. बाबा नीब करौरी महाराज के संस्मरणों पर आधारित पुस्तक ‘महान संत नीब करौरी महाराज’ का विमोचन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार...

समाज का संरक्षण एवं सर्वांगीण उन्नति ही दोनों महापुरुषों का लक्ष्य था

काशी. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ काशी प्रांत प्रचारक रमेश जी ने कहा कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय लघु भारत है, जहां समग्र राष्ट्र चिंतन और दर्शन प्राप्त...

प्रभु श्रीराम की जन्मभूमि अपने गौरवशाली दिनों में लौट आई है – नमल राजपक्षे

अयोध्या/नई दिल्ली. श्रीराम जन्मभूमि मंदिर में प्रभु श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद से ही रामभक्त दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. श्रीराम के बालस्वरूप...

समाज प्रमुखों से आह्वान, हम सब मिलकर समाज से छुआछूत को समाप्त करें

मुरैना. मुरैना में आयोजित तीन दिवसीय प्रांत (मध्यभारत प्रांत) कार्यकर्ता सम्मेलन में विभिन्न समाज प्रमुखों के साथ सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी की भेंट हुई....

विनायक राव जैसे कार्यकर्ता संघ की उपलब्धि हैं – भय्याजी जोशी

चिंचवड़. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य भय्याजी जोशी ने कहा कि संघ विवाद का विषय नहीं है. यह पढ़ने या सुनने...

श्रीरामलला प्राण प्रतिष्ठा – संघ ने समाज जागरण और संगठन किया

संघ ने तय किया है कि हम केवल व्यक्ति निर्माण, समाज संगठन और राष्ट्रीय चेतना का जागरण करेंगे. राष्ट्रीय दृष्टि से जाग्रत ऐसे लोग समाज...