करंट टॉपिक्स

अयोध्या – साजिश नहीं, आकस्मिक थी ढांचा विध्वंस की घटना, सभी आरोपी बरी

सीबीआई की विशेष लखनऊ अदालत ने मामले में सुनाया फैसला राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने न्यायालय के निर्णय का स्वागत किया नई दिल्ली. अयोध्या में विवादित...

सजग भारत में साम्प्रदायिक व छद्म सेक्युलरवाद की राजनीती निष्क्रिय हो रही

डॉ. मनमोहन वैद्य सह सरकार्यवाह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण कार्य का नेत्रदीपक शुभारम्भ करोड़ों भारतीयों और दुनिया भर में भारतीय मूल...

स्वरोजगार, स्वावलंबन के लिए देशभर में गतिविधियां प्रारंभ करेगा विहिप – मिलिंद परांडे

भोपाल (विसंकें). विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय महामंत्री मिलिंद जी परांडे ने कहा कि कोरोना महामारी के समय समाज की सेवा का व्यापक कार्य सम्पूर्ण...

सात वर्षों में भारत ने ऐसे लिखी अपनी सामर्थ्य कथा

जयराम शुक्ल लालकिले की प्राचीर पर पंद्रह अगस्त को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार सातवीं बार तिरंगा ध्वज फहरा रहे थे, तब ऐसा लग रहा...

अरुणोदय हो चुका वीर अब कर्मक्षेत्र में जुट जाएँ

डॉ. मनमोहन वैद्य 05 अगस्त, 2020 को अयोध्या में श्रीराम जन्मस्थान पर भव्य मंदिर के निर्माण का नेत्रदीपक समारंभ समूचे भारत, और विश्व भर में फैले...

चरमपंथ, धार्मिक असहिष्णुता एवं साम्प्रदायिकता को बढ़ावा क्यों?

डॉ. खुशबू गुप्ता भारतीय संविधान की प्रस्तावना में “लोकतंत्रात्मक गणराज्य” जैसे महत्वपूर्ण शब्द निहित हैं. यह एक ऐसा चित्र प्रस्तुत करता है जो न केवल...

सबके राम – वनवासी समाज में भी जले आस्था के दीये

संजीव कुमार [caption id="attachment_35383" align="alignleft" width="322"] वेनुगढ़ (किशनगंज)[/caption] अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण कार्य शुभारंभ पर वनवासी समाज में भी पारंपरिक तरीके से उत्सव...

हमारे जनजाती भाइयों और बहनों ने सनातनी संस्कारों को जीवित रखा है

1193 में मुहम्मद गौरी के मनहूस कदम पड़ने से लेकर 1947 में अंग्रेजों की वापसी तक जिस घने अंधकार ने हिन्दुस्थान की अस्मिता को ढाँक...

पथ निहारते नयन…. श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण कार्य शुभारंभ – 2

पिंकेश लता रघुवंशी श्रीराम जन्मभूमि आंदोलन असंख्य हिन्दुओं के आराध्य भगवान राम और आस्था के केन्द्र श्रीराम जन्मभूमि स्थान के विधर्मियों द्वारा विध्वंस को भला...

गया में भी दीपोत्सव, एकल अभियान ने 270 गांवों में जश्न मनाया

गया. यह लोगों के विश्वास की “जीत’ है. विक्रम संवत् 2077, मास भाद्रपद कृष्ण पक्ष द्वितीया तिथि.... सनातन धर्मावलंबियों के लिए इतिहास के पन्नों में...