करंट टॉपिक्स

‘एक चीन नीति’ वैश्विक स्तर पर सबसे बड़ा धोखा – प्रफुल्ल केतकर

चीन : एक वैश्विक खतरा (तियानमेन चौक नरसंहार से लेकर कोविड-19 के परिप्रेक्ष्य में) विषय पर द नैरेटिव द्वारा आयोजित सात दिवसीय राष्ट्रीय वेबिनार के...

पत्रकारिता में शुचिता, नैतिकता और आदर्श के हामी दीनदयाल जी

(पं. दीनदयाल उपाध्याय जयंती विशेष – 25 सितम्बर) लोकेन्द्र सिंह पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजनीतिज्ञ, चिंतक और विचारक के साथ ही कुशल संचारक और पत्रकार भी थे. उनके पत्रकार-व्यक्तित्व...

बाबा साहेब का जीवन सामाजिक भेदभाव को समाप्त करने में बीता – डॉ. कृष्ण गोपाल

दिल्ली में 650 शाखाओं में मनाई बाबा साहेब की जयंती.... नई दिल्ली. बाबा साहेब डॉ. भीमराव आम्बेडकर की 129वीं जयंती राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की 650 शाखाओं में...

सादगी, समर्पण, समरसता और सरलता के प्रतीक पी. परमेश्वरन जी का पुण्यस्मरण

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने कहा कि एक हजार वर्ष का इतिहास पराधीनता और आत्मरक्षा का इतिहास रहा...

सामाजिक, सांस्कृतिक ध्रुवीकरण के दौर में तटस्थता खतरनाक है

पुणे (विसंकें). प्रज्ञा प्रवाह के अखिल भारतीय संयोजक जे. नंदकुमार जी ने कहा कि ''वर्तमान में देश में एक बहुत बड़ा सामाजिक और सांस्कृतिक ध्रुवीकरण...

13 मई / जन्मदिवस – ‘दिल्लीश्वर’ वसंतराव ओक

नई दिल्ली. संघ के प्रारम्भिक प्रचारकों में एक श्री वसंतराव कृष्णराव ओक का जन्म 13 मई, 1914 को नाचणगांव (वर्धा, महाराष्ट्र) में हुआ था. जब...

हर देश की एक प्रकृति होती है और भारत की प्रकृति आध्यात्मिक है – स्वामी नरसिम्हानंद जी

रांची. रांची के खेलगांव अवस्थित लोकमंथन २०१८ कार्यक्रम के दूसरे दिन प्रेस को संवोधित करते हुए प्रज्ञा प्रवाह केन्द्रीय टोली के सदस्य और साप्ताहिक अंग्रेजी पत्रिका...

एक है हिन्दुत्व – राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक जी का साक्षात्कार

रा.स्व.संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा यानी संघ से जुड़ा वर्ष का सबसे बड़ा आयोजन. समाज में संघ कार्य की स्वीकार्यता तेजी से बढ़ रही...

निष्ठावान कार्यकर्ता हो.वे.शेषाद्रि

26 मई/जन्म-दिवस आज तो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का साहित्य हर भाषा में प्रचुर मात्रा में निर्माण हो रहा है; पर इस कार्य के प्रारम्भ में...