करंट टॉपिक्स

खिलाफत आंदोलन – जबरदस्ती और नरसंहार!

डॉ. श्रीरंग गोडबोले खिलाफत आंदोलन का अगस्त 1920 से मार्च 1922 तक का दूसरा चरण ज़बरदस्ती और नरसंहार का चरण था. इसमें असहयोग आंदोलन ने...

बेंगलुरु हिंसा में आतंकी कनेक्शन – गिरफ्तार संदिग्ध के अल-हिंद के सदस्यों से भी संपर्क

2016 में संघ कार्यकर्ता रुद्रेश की हत्या के मामले में आरोपियों के संपर्क में भी रहा बेंगलुरू (विसंकें). बेंगलुरु हिंसा के मामले में आतंकी कनेक्शन...

ब्रिटिश साम्राज्य पर अंतिम निर्णायक प्रहार करने वाले नेता जी सुभाष चंद्र बोस

पुण्यतिथि पर विशेष “तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा” नरेंद्र सहगल यह एक ऐतिहासिक सच्चाई है कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस के नेतृत्व में आजाद...

मुस्लिम-ब्रिटिश सांठगांठ और हिन्दुओं का भोलापन  (1857-1919)

डॉ. श्रीरंग गोडबोले खिलाफत आंदोलन (1919-1924) की शुरुआत 27 अक्टूबर 1919 से मानी जा  सकती है, जब यह दिन पूरे भारत में खिलाफत दिवस के...

अखंड भारत की सर्वांग स्वतंत्रता

नरेंद्र सहगल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और मुस्लिम लीग की पूर्ण सहमति के बाद विश्व के सबसे प्राचीन राष्ट्र के टुकड़े करके अंग्रेज अपने घर चले...

विभाजन का इतिहास हम तक पहुंचने में कठिनाइयां और उसके परिणाम

डॉ. अपर्णा ललिंगकर धार्मिक आधार पर 14 अगस्त को देश का विभाजन हुआ और स्वतंत्र हिन्दुस्थान बना. विभाजन से पहले भी हिन्दू-मुस्लिम दंगे हो रहे...

इतिहास याद रखेगा! जब सैनिक सीमा पर लड़ रहे थे तो कांग्रेस टांग खींच रही थी

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में अब राष्ट्रीय कुछ भी नहीं बचा ! सौरभ कुमार इस वक्त सारी दुनिया कोरोना की महामारी से दो-दो हाथ कर रही है, लेकिन...

धन उगाही का गांधी फैमिली फाउंडेशन

सूर्य प्रकाश सेमवाल पूर्व प्रधानमन्त्री राजीव गांधी के विजन को आगे बढ़ाने के नाम पर राजीव गांधी फाउंडेशन की स्थापना उनकी मृत्यु के एक माह...

#BharatChinaFaceOff – भारत के साथ क्यों खड़े नहीं होते वामपंथी?

रजनीश कुमार भारत और चीन के बीच जारी लंबी अस्थिरता के बीच सामरिक रूप से महत्वपूर्ण गलवान घाटी में हिंसक सैन्य झड़प हुई थी, जिसे...

बातों से नहीं मानते लातों के भूत – भाग दो

समस्त भारतीय सरकार एवं सेना के साथ चीन के चहेतों से सावधान वीरव्रती इतिहास का शुभारम्भ नरेन्द्र सहगल भारत चीन सीमा पर भारतीय क्षेत्र गलवान...