You Are Here: Home » Posts tagged "कांग्रेस"

    नागरिकता संशोधन कानून – अब किस मुंह से अफगानिस्तान के सिक्खों की चिंता कर रहे अमरिंदर सिंह

    देवेश खंडेलवाल पिछले दिनों अफगानिस्तान में एक इस्लामिक आतंकी संगठन ने 27 सिक्खों का स्थानीय गुरुद्वारे में नरसंहार कर दिया. घटना के वक्त अफगानिस्तान के अल्पसंख्यक सिक्ख प्रार्थना के लिए जुटे थे. राजधानी काबुल स्थित इस 400 साल पुराने गुरूद्वारे पर हुए आत्मघाती फिदायीन हमने ने फिर से नागरिकता (संशोधन) कानून, 2019 पर चर्चा को फिर से शुरू कर दिया है. भारत सरकार ने दिसंबर 2019 में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानि ...

    Read more

    CJI दीपक मिश्रा पर महाभियोग के लिए समर्थन मांगने आए थे कपिल सिब्बल – रंजन गोगोई

    नई दिल्ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए नामांकित करने के बाद से ही उन्हें लेकर बेवजह विवाद खड़ा किया जा रहा है. तरह-तरह के सवाल ठाए जा रहे हैं. अब रंजन गोगोई ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल को लेकर खुलासा किया है. रंजन गोगोई ने बताया कि साल 2018 में जब सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी, उस समय कपिल सिब्बल तत्कालीन चीफ जस्टिस दीपक ...

    Read more

    जवाहरलाल नेहरू ने सावरकर का कभी तिरस्कार नहीं किया

    देवेश खंडेलवाल नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में सुबनसर हॉस्टल के नजदीक एक सड़क का नाम बदलकर वीर सावरकर मार्ग किया गया है. विश्वविद्यालय के वामपंथी व कांग्रेसी छात्रों ने इसका विरोध शुरू कर दिया. जेएनयूसू की अध्यक्ष आइशी घोष ने अपने ट्विटर हैंडल से इसकी एक तस्वीर शेयर की. इस तस्वीर में साफ दिखा कि सुबनसर हॉस्टल को जाने वाली सड़क को वीडी सावरकर मार्ग नाम दिया गया है. आइशी घोष ने इसी पर अपना गुस्सा ...

    Read more

    पाकिस्तान अधिक्रांत जम्मू कश्मीर – भूल और सुधार

    प्रधानमंत्री पी.वी. नरसिम्हा राव का कार्यकाल जम्मू और कश्मीर के लिए अनेक उतार-चढ़ावों वाला था. एक तरफ कश्मीर घाटी से हिन्दुओं का नरसंहार और निष्कासन लगातार जारी था. वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान अधिकृत जम्मू-कश्मीर (पीओजेके) में भारत के खिलाफ आतंकवादियों के प्रशिक्षण की शुरुआत हो चुकी थी. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी पाकिस्तान की भाषा को समर्थन मिलने लगा था. साल 1993 में अमेरिका के स्टेट डिपार्टमेंट में उप-सहायक सचिव ...

    Read more

    09 अक्तूबर / जन्मदिवस – गृहस्थ प्रचारक भैया जी दाणी

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की परम्परा में प्रचारक अविवाहित रहकर काम करते हैं; पर कुछ अपवाद भी होते हैं. ऐसे गृहस्थ प्रचारकों की परम्परा के जनक प्रभाकर बलवन्त दाणी का जन्म नौ अक्तूबर, 1907 को उमरेड, नागपुर में हुआ था. आगे चलकर ये भैया जी दाणी के नाम से प्रसिद्ध हुए. ये अत्यन्त सम्पन्न पिता के इकलौते पुत्र थे. उनके पिता श्री बापू जी लोकमान्य तिलक के भक्त थे. अतः घर से ही देशप्रेम के बीज उनके मन में पड़ गये थे, ज ...

    Read more

    अज्ञात स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 16

    नरेंद्र सहगल सर्वांग स्वतंत्रता की ओर संघ के बढ़ते कदम 15 अगस्त 1947 को देश दो भागों में विभक्त हो गया. ‘इंडिया दैट इज़ भारत’ और ‘पाकिस्तान’. भारत को राजनीतिक स्वतंत्रता प्राप्त होने बाद गांधी जी ने ‘कांग्रेस का काम पूरा हो गया, अब इसे समाप्त कर के एक सेवादल के रूप में परिवर्तित कर देना चाहिए’ का सुझाव कांग्रेस के नेताओं के समक्ष रखा था. परन्तु सत्ता के मोह में फंस चुके कांग्रेस के नेताओं ने गांधी जी की एक न ...

    Read more

    अज्ञात स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 15

    नरेंद्र सहगल अखंड भारत की सर्वांग स्वतंत्रता भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और मुस्लिम लीग की पूर्ण सहमति के बाद विश्व के सबसे प्राचीन राष्ट्र के टुकड़े कर के अंग्रेज अपने घर चले गए. इस दुर्भाग्यशाली अवसर पर ‘अखंड भारत की पूर्ण स्वतंत्रता’ के लिए अपना सर्वस्व अर्पण करने वाले लाखों स्वतंत्रता सेनानियों की आत्मा कितना रोई होगी, कितना तड़पी होगी, इसका अंदाजा वह कांग्रेसी नहीं लगा सकते जो हाथ में कटोरा लेकर अंग्रेजों ...

    Read more

    अज्ञात  स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार– 10

    नरेंद्र सहगल संघ संस्थापक डॉक्टर हेडगेवार तथा उनके अंतरंग सहयोगी अप्पाजी जोशी 1928 तक मध्य प्रांत कांग्रेस की प्रांतीय समिति के वरिष्ठ सदस्य के नाते सक्रिय रहे.कांग्रेस की इन बैठकों एवं कार्यक्रमों के आयोजन में डॉक्टर जी का पूरा साथ रहता था.सभी महत्वपूर्ण प्रस्ताव इन्हीं के द्वारा तैयार किए जाते थे.इसी समय अंग्रेज सरकार ने भारतीय फौज की कुछ टुकड़ियों को चीन में भेजने का फैसला किया.नागपुर में कांग्रेस की एक ज ...

    Read more

    वे पन्द्रह दिन… / 09 अगस्त, 1947

    सोडेपुर आश्रम... कलकत्ता के उत्तर में स्थित यह आश्रम वैसे तो शहर के बाहर ही है. यानी कलकत्ता से लगभग आठ-नौ मील की दूरी पर. अत्यंत रमणीय, वृक्षों, पौधों-लताओं से भरापूरा यह सोडेपुर आश्रम, गांधी जी का अत्यधिक पसंदीदा है. जब पिछली बार वे यहां आए थे, तब उन्होंने कहा भी था कि, “यह आश्रम मेरे अत्यंत पसंदीदा साबरमती आश्रम की बराबरी करता है....” आज सुबह से ही इस आश्रम में बड़ी हलचल है. वैसे तो आश्रम के निवासी सुबह ज ...

    Read more

    अज्ञात  स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 4

    नरेंद्र सहगल नेशनल मेडिकल कॉलेज कलकत्ता से डॉक्टरी की डिग्री और क्रांतिकारी संगठन अनुशीलन समिति में सक्रिय रहकर क्रांति का विधिवत प्रशिक्षण लेकर डॉक्टर हेडगेवार नागपुर लौट आए. स्थान-स्थान से नौकरी की पेशकश और विवाह के लिए आने वाले प्रस्तावों का तांता लग गया. डॉक्टर साहब ने बेबाक अपने परिवार वालों एवं मित्रों से कह दिया ‘मैंने अविवाहित रहकर जन्मभर राष्ट्रकार्य करने का फैसला कर लिया है’. इसके बाद विवाह और नौक ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top