करंट टॉपिक्स

कोरोना काल में भी कारोबारियों के हौसले बुलंद, 52 हजार से नई कंपनियों का पंजीकरण

नई दिल्ली. वैश्विक महामारी कोरोना के कारण विश्व में आर्थिक गतिविधियों की रफ्तार थम सी गई थी. संकट के कारण देश सहित विश्व में अर्थव्यवस्था...

देशज चिंतन शैली में ही निहित है भारत की सभी समस्‍याओं का समाधान

रवि प्रकाश समस्‍या चाहे जैसी भी हो, चिंतन कर उसका समाधान निकाला जा सकता है. समाधान क्‍या निकलेगा, वह समाधान कारगर होगा कि नहीं, समस्‍याओं...

नासिक कोविड अस्पताल में लगा बोर्ड अनूठी सेवा भावना की मिसाल

विजयलक्ष्मी सिंह डेढ़ वर्ष की गीता व 6 माह के आयुष लोहार के सिर से मां का साया तो चार माह पहले ही उठ गया...

हमें नहीं चाहिए, हमें पहले ही राशन किट मिल चुकी है

घुमंतू समाज के लिए कार्यरत महाराष्ट्र की ‘भटके विमुक्त विकास परिषद’ मुंबई (विसंकें). कोरोना काल के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों व संघ प्रेरित...

विश्व को सही दिशा में चलने के लिए प्रेरित करने वाला बनेगा भारत – डॉ. मोहन भागवत

सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने किया पौधारोपण प्रवासी श्रमिक, पर्यावरण, स्वदेशी, ग्राम विकास और सामाजिक समरसता पर चर्चा रायपुर. जागृति मंडल, गोविन्द नगर, रायपुर...

शिक्षा और सामाजिक समरसता के लिए विशेष प्रयास करें स्वयंसेवक – डॉ. मोहन भागवत

मोहल्ला एवं ग्रामीण शिक्षा केंद्रों के संचालन एवं पर्यावरण संरक्षण पर जोर [caption id="attachment_7025" align="aligncenter" width="650"] सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत (फाइल फोटो)[/caption] भोपाल (विसंकें). राष्ट्रीय...

कोरोना संकट – संकट काल में घरेलू बचत बनी बड़ा सहारा

नई दिल्ली. भारत में परिवार व्यवस्था प्राचीन समय से ही सुदृढ़ रही है. जिस कारण बड़े से बड़े संकट की स्थिति में भी कभी देश...

लोकमान्य तिलक की ‘स्वदेशी’ अवधारणा और आत्मनिर्भर भारत

दिलीप धारुरकर भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में लोकमान्य तिलक जी ने जिस चतु:सूत्री का प्रतिपादन किया था, उनमें ‘स्वदेशी’ और ‘बहिष्कार’ यह दो सूत्र थे. स्वदेशी...

संघ सेवा कार्य – कोरोना प्रभावित मृत व्यक्ति को सम्मानजनक अंतिम विदाई..!!

सोनाली दाबक मैं एक महिला स्वयंसेवक "बाबू मोशाय जिंदगी और मौत ऊपर वाले के हाथ में है. उसे ना तो आप बदल सकते हैं ना...

किस रज से बनते कर्मवीर ….. भाग १

इंदौर (विसंकें) मैं सुबह नहाकर थोड़ा पूजा पाठ करके भोजन करने बैठा ही था कि तभी मोबाइल की घंटी बजी. मैंने अपनी पत्नी को बोला...