करंट टॉपिक्स

राष्ट्रीय सेवा संगम – गोबर व गोमूत्र की उपयोगिता स्थापित करती गोकृति

गोबर व गोमूत्र अनमोल हैं. एक ओर पर्यावरण संतुलन में इनकी महती भूमिका है, वहीं दूसरी ओर इनसे अनेक प्रकार की सजावटी वस्तुएं भी बनाई...

राष्ट्रीय सेवा संगम – हम गाय को नहीं, गाय हमें पालती है

जयपुर. यदि आप बाजार जाएं और आपको पता चले कि एक किलो गोबर की कीमत 350 रुपये है, तो आप आश्चर्य में मत पड़ियेगा. अपशिष्ट...

आर्थिक समृद्धि का द्वार खोल सकती हैं गौ-शालाएं

अधिकांश गौ-शालाओं में गोबर का उपयोग नहीं होता, कई स्थानों पर गोबर पानी में बहा दिया जाता है. जबकि गोबर ऊर्जा प्राप्त करने के साथ...

अपना क्लीनिक बंद कर डॉ. शरण बने गौ-पालक, गोबर-गोमूत्र से बना रहे औषधि व अन्य उपयोगी सामान  

मुजफ्फरपुर (विसंकें). एक होम्योपैथिक चिकित्सक की कहानी, जिसने चिकित्सा का व्यवसाय छोड़कर गौ पालन का मार्ग अपनाया. चिकित्सक आज अपना पूरा समय देसी नस्ल की...

देसी गाय के गोबर का प्रयोग कर लाखों की कमाई कर रहे रोहतक के डॉ. शिव दर्शन

गोबर से वैदिक प्लास्टर, प्राकृतिक रंग व ईंट करते हैं तैयार रोहतक (विसंकें). देसी गाय गुणों की खान है. दूध के अलावा गाय का गोबर...