करंट टॉपिक्स

प्रभु श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा एक संकल्प पूर्ति का क्षण भी और एक शुभारंभ भी

डॉ. मनमोहन वैद्य सह सरकार्यवाह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ 22 जनवरी, 2024 को अयोध्या स्थित श्रीराम जन्मभूमि मंदिर में श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होने जा...

पश्चिमी दृष्टि में रची-बसी पीढ़ी के कारण स्वत्व का चलना कठिन

भोपाल, 23 सितम्बर. प्रख्यात लेखक और विचारक सुरेश सोनी ने कहा कि अंग्रेजों और यूरोपियंस के साथ भारत का राजनैतिक नहीं, सभ्यतागत संघर्ष हुआ. इसका...

भारत जमीन जीतने वाली संस्कृति का देश नहीं

भोपाल, 24 सितम्बर. पद्मश्री कपिल तिवारी ने कहा कि भारतीय ज्ञान परंपरा विभिन्न धाराओं का संगम है. इस परंपरा में ज्ञान न तो प्राचीन है...

अखंड भारत संकल्प दिवस नहीं, प्रयास दिवस मनाएं – सुरेश सोनी जी

ग्वालियर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य सुरेश सोनी जी ने कहा कि अब अखंड भारत संकल्प दिवस नहीं, प्रयास दिवस मनाएं. यह...

बाबा साहेब ने पत्रकारिता को बताया सामाजिक न्याय का माध्यम

लोकेन्द्र सिंह बाबा साहेब डॉ. भीमराव रामजी आम्बेडकर का व्यक्तित्व बहुआयामी, व्यापक एवं विस्तृत है. उन्हें हम उच्च कोटि के अर्थशास्त्री, कानूनविद, संविधान निर्माता, ध्येय...

संघ के शताब्दी वर्ष को लेकर समाज में भी उत्सुकता

डॉ. मनमोहन वैद्य सह सरकार्यवाह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना को 100 वर्ष पूर्ण हो रहे हैं. 1925 में नागपुर में संघ स्थापना हुई थी....

डॉ. आंबेडकर की पत्रकारिता का संदेश और सार

लोकेंद्र सिंह भारतीय संविधान के शिल्पकार डॉ. भीमराव रामजी आंबेडकर ने समाज में व्याप्त जातिभेद, ऊंच-नीच और छुआछूत को समाप्त कर समता और बंधुत्व का...

वैदिक, पौराणिक और अरण्य जगत सब एक ही हैं – डॉ. धर्मेन्‍द्र पारे

भोपाल. जनजातीय संग्रहालय में दत्तोपंत ठेंगड़ी शोध संस्थान व आदिवासी लोक कला एवं बोली विकास अकादमी, संस्‍कृति विभाग के संयुक्‍त तत्‍वाधान में ‘जनजातीय धार्मिक परंपरा और...

दत्तोपंत ठेंगड़ी जी का जीवन देश, धर्म, संस्कृति और समाज के लिए समर्पित था – डॉ. मोहन भागवत

व्यक्तित्व, कृतित्व, नेतृत्व और प्रतिभा के अनुकरणीय प्रतिरूप दत्तोपंत ठेंगड़ी नई दिल्ली. प्रसिद्ध विचारक व समाजशास्त्री भारतरत्न दत्तोपंत ठेंगड़ी की जन्मशताब्दी पर उनके संसदीय भाषणों...

मजदूर, किसान संगठन और सामाजिक समरसता के प्रयासों को ठेंगड़ी जी ने दिशा दी

शिमला (विसंकें). राज्यपाल बंडारू दतात्रेय ने कहा कि दत्तोपंत ठेंगड़ी मजदूरों के सच्चे हितैषी थे. वे किसानों और मजदूरों की लड़ाई लड़ते थे. उन्होंने मजदूरों,...