करंट टॉपिक्स

बौद्धिक गुलामी से मुक्ति के लिए प्रारंभ हुआ राष्ट्रधर्म – दत्तात्रेय होसबाले जी

लखनऊ. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले जी ने बुधवार को डालीबाग स्थित गन्ना संस्थान के सभागार में राष्ट्रधर्म मासिक पत्रिका के विशेषांक ‘राष्ट्रीय...

संघ में हम व्यक्ति निर्माण करते हैं – अनिल ओक जी

कानपुर. स्वर संगम घोष शिविर का उद्घाटन पंडित दीनदयाल उपाध्याय सनातन धर्म इंटर कॉलेज आजाद नगर के मां सुशीला नरेन्द्रजीत सिंह सभागार में सम्पन्न हुआ....

भारतरत्न राष्ट्र ऋषि नानाजी देशमुख 11वीं पुण्यतिथि समारोह चित्रकूट

चित्रकूट. भारतरत्न नानाजी देशमुख और पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के विचारों पर आत्मनिर्भर भारत की जो संकल्पना है, उसे बढ़ाने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जोर-शोर...

मानव जीवन का सम्पूर्ण प्रकृति के साथ एकात्म सम्बंध स्थापित करना ही एकात्म मानवदर्शन

चित्रकूट. राष्ट्रऋषि नानाजी देशमुख ने 1968 में पं. दीनदयाल उपाध्याय के निर्वाण के उपरांत दीनदयाल स्मारक समिति बनाकर उनके अधूरे कार्यों को पूर्ण करने का...

पं. दीनदयाल उपाध्याय जयंती समारोह 25 को, आयोजन समिति ने पोस्टर का विमोचन किया

जयपुर (विसंकें). एकात्म मानवदर्शन के प्रणेता व भारतीय जनसंघ के संस्थापक पंडित दीनदयाल उपाध्याय का 104वां जयंती समारोह 25 सितम्बर को धानक्या रेलवे स्टेशन स्थित...

फाइव स्टार गांव – स्वच्छता, आत्मनिर्भर, आधुनिक सुविधाओं से युक्त

हरियाणा के कैथल जिला का धेरड़ू गांव ग्राम विकास का उत्कृष्ट उदाहरण रोहतक (विसंकें). म्हारे हरियाणे का 5 स्टार गांव. कैथल जिला में इस गांव...

सुभाष के सपनों को साकार करने के लिए बनाया गया नागरिकता संशोधन कानून

वाराणसी. नागरिकता संशोधन कानून पर देशभर में मचे बवाल के बीच विशाल भारत संस्थान एवं पं. दीनदयाल उपाध्याय पीठ, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वाधान...

भारत विश्व गुरु बनने के पथ पर बढ़ चला है – उपराष्ट्रपति वेंकैय्या नायडू

मुंबई. उपराष्ट्रपति वेंकैय्या नायडू जी ने कहा कि देश के युवकों को सकारात्मक एवं रचनात्मक वृत्ति से कार्य करने की आवश्यकता है. हर एक व्यक्ति...

मानव का सम्पूर्ण प्रकृति के साथ एकात्म संबंध स्थापित करना ही एकात्म मानव दर्शन – मदन दास देवी जी

चित्रकूट. राष्ट्रऋषि नानाजी देशमुख ने 1968 में पं. दीनदयाल उपाध्याय के निर्वाण के उपरांत दीनदयाल स्मारक समिति बनाकर उनके अधूरे कार्यो को पूर्ण करने के...