करंट टॉपिक्स


Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/sandvskbhar21/public_html/wp-content/themes/newsreaders/assets/lib/breadcrumbs/breadcrumbs.php on line 252

लाल बहादुर शास्त्री भारतीय संस्कृति की श्रेष्ठ पहचान हैं

लाल बहादुर शास्त्री के बेटे अनिल शास्त्री याद करते हैं - "1965 की लड़ाई के दौरान अमरीकी राष्ट्रपति लिंडन जॉन्सन ने शास्त्री को धमकी दी...

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय – कश्मीर पर आक्रमण के समय पाकिस्तानी सेना में भर्ती हो रहे थे विवि के छात्र

कभी राजपूतों का गढ़ रहा कोइल अट्ठारहवीं शताब्दी में शिया कमांडर नजफ खान के कब्जे के बाद अलीगढ़ के नाम से जाना जाने लगा. पिछले...

सदैव अटल – सबको दिशा देने वाले भारतरत्न अटल बिहारी वाजपयी

सूर्य प्रकाश सेमवाल अजातशत्रु और सार्वकालिक लोकप्रिय राजनेता होने के साथ एक श्रेष्ठ कवि, कुशल वक्ता और आदर्श सांसद भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न अटल...

विधानसभा चुनाव और कांग्रेस का सेकुलरवाद

बलबीर पुंज भारत में "सेकुलरवाद" कितना विकृत हो चुका है - इसे विधानसभा चुनावों ने फिर रेखांकित कर दिया है. कांग्रेस ने भाजपा के विजय-उपक्रम...

ना ‘राष्ट्रवाद’ शब्द भारतीय है और ना ही उसकी अवधारणा

भारतीय विचार में ‘राष्ट्रवाद’ नहीं ‘राष्ट्रीयता’ का भाव है डॉ. मनमोहन वैद्य भारत और विश्व एक नए भारत का अनुभव कर रहे हैं क्योंकि भारत की...

हिंसक प्रदर्शनों के पीछे की साजिशों का पर्दाफाश करना जरूरी – कर्नल जयबंस सिंह

नागरिकता संशोधन अधिनियम पर हिंसा को लेकर रक्षा विशेषज्ञ व बुद्धिजीवियों ने जताई चिंता जालंधर (विसंकें). विश्व संवाद समिति द्वारा ‘नागरिकता संशोधन अधिनियम - भ्रम...

हैदराबाद विलय दिवस – निजामशाही से हैदराबाद की मुक्ति में जनता ने भी भागीदारी निभाई

भारत पर ब्रिटेन के लंबे शोषण, उत्पीड़नपूर्ण औपनिवेशिक शासन से 1947 में स्वतन्त्रता प्राप्ति के बाद लौह व्यक्तित्व और अदम्य साहस के धनी तत्कालीन गृहमंत्री...

24 अप्रैल / पुण्यतिथि – गौरक्षा के लिये 166 दिन अनशन करने वाले महात्मा रामचंद्र वीर

नई दिल्ली. वर्ष 1966 में दिल्ली में गौरक्षार्थ 166 दिन का अनशन करने वाले महात्मा रामचंद्र वीर का जन्म आश्विन शुक्ल प्रतिपदा, विक्रमी संवत 1966...

प्रणव दा संघ मुख्यालय में ……

आजकल भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. प्रणव मुखर्जी जी की मीडिया और सोशल मीडिया में चर्चा है. चर्चा में इसलिए हैं क्योंकि वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक...