करंट टॉपिक्स

मझगवां में वीरांगना दुर्गावती की प्रतिमा स्थापना के लिए भूमि पूजन सम्पन्न

मझगवां. दीनदयाल शोध संस्थान, वाल्मीकि परिसर, मझगवां-सतना में 19 जनवरी, गुरुवार, माघ मास, कृष्ण पक्ष, द्वादशी तिथि को विधि विधान पूर्वक पूजन कर रानी दुर्गावती...

देव दीपावली – काशी में गंगा के आकाशगंगा से मिलन का अद्भुत, अलौकिक और अविस्मरणीय दृश्य

काशी. काशी में कार्तिक पूर्णिमा पर सूर्यास्त के पश्चात घाटों पर उभरे अद्भुत, अलौकिक और अविस्मरणीय दृश्य के साक्षी काशीवासी ही नहीं, बल्कि देश-विदेश के...

चित्रकूट – ग्रामोदय मेला में शरदोत्सव की शाम रही कुमार विश्वास के नाम

चित्रकूट. राष्ट्र ऋषि नानाजी देशमुख की जयंती पर 9 अक्तूबर से दीनदयाल शोध संस्थान के दीनदयाल परिसर चित्रकूट में चल रहे बहुवर्णी कलाओं पर आधारित...

हम सबको समरसता का उदाहरण प्रस्तुत करना होगा – हनुमान सिंह

भीलवाड़ा. श्री केशव स्मृति सेवा प्रन्यास की ओर से रविवार को भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव आम्बेडकर की जयन्ती पर संगोष्ठी का आयोजन हुआ....

पं. दीनदयाल जी की जयंती पर ग्रामोदय पखवाड़ा का शुभारंभ

चित्रकूट. नानाजी देशमुख ने 1968 में पं. दीनदयाल उपाध्याय के निर्वाण के उपरांत दीनदयाल स्मारक समिति बनाकर उनके अधूरे कार्यो को पूर्ण करने के लिये...

“निजाम मातृभूमि का दुश्मन” – बाबासाहब आंबेडकर

  मराठवाड़ा मुक्ति संग्राम अथवा हैदराबाद मुक्ति संघर्ष न केवल भारत की अखंडता, बल्कि संप्रभुता की दृष्टि से भी अत्यधिक महत्वपूर्ण संघर्ष था. हैदराबाद की...

तत्कालीन सामाजिक समस्याओं का परकीय नहीं, भारतीय दृष्टिकोण से समाधान चाहते थे डॉ. आंबेडकर

भारतरत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर अपने अधिकांश समकालीन राजनीतिज्ञों की तुलना में राजनीति के खुरदुरे यथार्थ की ठोस एवं बेहतर समझ रखते थे. नारों...

भारतरत्न राष्ट्र ऋषि नानाजी देशमुख 11वीं पुण्यतिथि समारोह चित्रकूट

चित्रकूट. भारतरत्न नानाजी देशमुख और पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के विचारों पर आत्मनिर्भर भारत की जो संकल्पना है, उसे बढ़ाने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जोर-शोर...

नानाजी की 11वीं पुण्यतिथि पर मानस पाठ का शुभारंभ

चित्रकूट. भारतरत्न नानाजी देशमुख की 11वीं पुण्यतिथि पर 26 फरवरी को प्रातः 7 बजे से श्रीरामचरितमानस पाठ का शुभारंभ हुआ. और 27 फरवरी को हवन...

सामाजिक समरसता – एक मुट्ठी अनाज, एक रुपये के अंशदान से होगा भंडारा

भारत रत्न नानाजी की पुण्यतिथि पर आस्था से पुरुषार्थ हो रहा जागृत चित्रकूट. व्यक्ति पुरुषार्थी, स्वावलंबी तब बनता है, जब उसका आत्मबल मजबूत होता है....