करंट टॉपिक्स


Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/sandvskbhar21/public_html/wp-content/themes/newsreaders/assets/lib/breadcrumbs/breadcrumbs.php on line 252

लाल बहादुर शास्त्री भारतीय संस्कृति की श्रेष्ठ पहचान हैं

लाल बहादुर शास्त्री के बेटे अनिल शास्त्री याद करते हैं - "1965 की लड़ाई के दौरान अमरीकी राष्ट्रपति लिंडन जॉन्सन ने शास्त्री को धमकी दी...

अंत्योदय से भारत उदय की यात्रा के शिल्पकार दीनदयाल उपाध्याय

प्रणय विक्रम सिंह राष्ट्रीय और जनपक्षधर राजनेता, तत्वदर्शी, चिंतक, दूरद्रष्टा, स्वप्नदर्शी दीनदयाल उपाध्याय की आत्मा ने आज ही के दिन दस्तक दी थी. आज ही...

नि:स्वार्थ संघर्ष से ही पूरा होगा अखंड भारत का लक्ष्य

  सुखदेव वशिष्ठ पृथ्वी पर जिस भू-भाग अर्थात् राष्ट्र के हम निवासी हैं, उस भू-भाग का वर्णन अग्नि, वायु एवं विष्णु पुराण में लगभग समानार्थी...

राष्ट्र प्रथम की अवधारणा का संदेश

सिद्धार्थ शंकर गौतम ''हम समान पूर्वजों के वंशज हैं, ये विज्ञान से भी सिद्ध हो चुका है. 40 हजार साल पूर्व से हम भारत के...

धर्मांतरण – समस्या या साज़िश

डॉ. नीलम महेंद्र कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश में लगभग एक हजार लोगों के धर्मांतरण का मामला सामने आया था. रिपोर्ट्स के अनुसार इन लोगों...

स्वातंत्र्यवीर सावरकर पर ‘द वीक’ का माफ़ीनामा

लोकेन्द्र सिंह 'द वीक' पत्रिका ने स्वातंत्र्यवीर सावरकर पर लिखे गए झूठे और अपमानजनक लेख के लिए माफी मांगी है. ‘द वीक’ की यह माफ़ी राष्ट्रभक्त...

सेवा की आड़ में धर्मांतरण से सामाजिक तानेबाने और सुरक्षा पर संकट

सुखदेव वशिष्ठ स्वतंत्रता के समय भारत आर्थिक रूप से संपन्न देश नहीं था और वित्तीय सहायता के लिए पाश्चात्य ईसाई देशों और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों...

डॉ. हेडगेवार ने किया था जंगल सत्याग्रह का नेतृत्व, 9 माह का कारावास झेला था

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विरोधियों को जब विरोध का अन्य कोई आधार नहीं मिलता तो वे अक्सर स्वतंत्रता संग्राम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की भूमिका...

Swaraj@75 – स्वतंत्रता के 75 वर्षों का जश्न मनाने के लिए प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय समिति का गठन

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 15 अगस्त, 2017 को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपने संबोधन में कहा था – “देश के किसी भी...

अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस – अपनी भाषा में शिक्षा से ही बच्चे का सही विकास हो पाता है

अतुल कोठारी 21 फरवरी, 1952 के दिन बांग्लादेश (तत्कालीन पूर्वी पाकिस्तान) में बांगला भाषा को पाकिस्तान की अधिकारिक भाषा बनाने हेतु वहां के छात्रों ने...