करंट टॉपिक्स

NCERT – पुस्तक में पढ़ाया शाहजहां और औरंगजेब ने मंदिरों की मरम्मत करवाई, स्रोत पूछा तो कहा पता नहीं

वामपंथी विचार के लेखकों ने शिक्षण संस्थानों में पढ़ाए जाने वाले विषयों व इतिहास को किस कदर तोड़ मरोड़कर लिखा है, इसे लेकर समय-समय पर...

अबू धाबी में बन रहे हिन्दू मंदिर का अंतिम डिजाइन जारी

नई दिल्ली. अबू धाबी में बन रहा पहला हिन्दू मंदिर वैश्विक सौहार्द का प्रतीक होगा. इस मंदिर का अंतिम डिजाइन जारी कर दिया गया है. तथा...

दिल्ली की खानदानी सल्तनत ने अपनी श्रेष्ठता के आगे सबको तुच्छ माना..?

जयराम शुक्ल 31 अक्तूबर की तारीख का बड़ा महत्व है. आज के दिन ही सरदार बल्लभ भाई पटेल पैदा हुए थे. इस महान हस्ती को...

दिलों में सदा जिंदा है ‘दूरदर्शन’

डॉ. पवन सिंह मलिक दूरदर्शन, इस एक शब्द के साथ न जाने कितने दिलों की धड़कन आज भी धड़कती है. आज भी दूरदर्शन के नाम...

वैश्विक गणेश / दो – कंबोडिया में सिद्धिविनायक

कंबोडिया में हजार वर्ष से भी ज्यादा समय हिन्दू साम्राज्य था. पहले फुनान, बाद में कंबोज़ और फिर खमेर राजवंशों ने कंबोडिया में हिन्दुत्व की...

भारतीय संस्कृति के त्यौहारों का उदार स्वरूप

हरियाणा (विसंकें). भारतीय संस्कृति में त्यौहारों का अपना एक अलग महत्व है. हमारे त्यौहार आपसी भाईचारे, प्यार-प्रेम व सद्भावना का प्रतीक हैं. भारतीय त्यौहार किसी...

‘सभ्यताओं के संघर्ष में संवाद का रास्ता दिखाती है भारतीय संचार परंपरा’

लोकमंगल से भटका, नकारात्मकता में क्यों अटका मीडिया? नई दिल्ली. मीडिया में ऐसे कौन से पहलू हैं, जिनसे भारतीय मूल्य नेपथ्य में जाते दिखते हैं...

भगवान न्याय करते हैं, एनकाउंटर नहीं

गोपाल गोस्वामी गुजराती के एक प्रसिद्ध दैनिक में प्रकाशित एक लेख ने बुद्धिजीवी वर्ग के प्रति हिन्दुओं के मन में एक बार पुनः आक्रोश भर...

नकारात्मक समय में सकारात्मक सोच बनाए रखने की आवश्यकता

हेमेन्द्र क्षीरसागर सकारात्मक और नकारात्मक दो पहलू जीवन के अहम हिस्से हैं. सकारात्मकता से बड़े से बड़े दुख हर लिए जाते हैं, वहीं नकारात्मकता से...

पत्रकारिता के आदर्श व्यक्तित्व – देवर्षि नारद

प्रशांत पोळ आज जेष्ठ कृष्ण द्वितीया, अर्थात देवर्षि नारद जयंती. देवाधिदेवों के ऋषि यानि नारद मुनि. अत्यंत कुशाग्र बुद्धि के, अनेक विषयों के ज्ञाता. अनेक...