करंट टॉपिक्स

घुमंतू जातियों के उत्थान के लिए आगे आए समाज – दुर्गादास जी

जयपुर. घुमंतू जाति उत्थान न्यास और डॉ. पंकज सिंह फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में मंगलवार को विद्याधर नगर की घुमंतू बस्ती में रोजगार मेला आयोजित...

पहली बार होगा ‘दिवेर युद्ध की ऐतिहासिक विजय’ का नाट्य रूपान्तरण

उदयपुर. दिवेर युद्ध में महाराणा प्रताप की निर्णायक एवं अप्रतिम विजय का प्रथम बार शेखावाटी साहित्य संगम में नाट्य के रूप में मंचन होगा. 28...

देश की अखंडता बनाए रखना सबकी सामूहिक जिम्मेदारी – डॉ. मोहन भागवत जी

नागपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तृतीय वर्ष संघ शिक्षा वर्ग समापन समारोह में सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि देश की स्वाधीनता के 75...

राष्ट्रचिंतन लेखमाला – परम वैभवशाली अखंड भारतवर्ष

नरेंद्र सहगल देशवासियों ने प्रसन्नता और उल्लास के साथ अपना 74वां गणतंत्र दिवस मनाया है. यह हमारी राष्ट्रभक्ति का स्वाभाविक परिचय है. परंतु यह खंडित...

राष्ट्र चिंतन लेखमाला – राजनीतिक/सांप्रदायिक अवधारणा नहीं है ‘हिन्दू राष्ट्र’

नरेंद्र सहगल भारत में सर्वस्पर्शी ‘हिन्दू राष्ट्र’ की अवधारणा किसी विशेष जाति, क्षेत्र अथवा साम्प्रदाय से कोसों दूर है. यह कोई राजनीतिक अथवा चुनावी मुद्दा...

प्रतिनिधियों को दी जाएगी हल्दीघाटी और मानगढ़ धाम की माटी

जयपुर. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के जयपुर में आयोजित अधिवेशन में देशभर के सैकड़ों छात्र-छात्राओं सहित नेपाल से भी प्रतिनिधि शामिल हुए हैं. अधिवेशन...

‘मर्दानी’ रानी लक्ष्मीबाई की वीरता

झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई 1857 की क्रान्ति की बलिदानी वीरांगना थीं. वीरांगना का जन्म वाराणसी में 19 नवम्बर, 1828 को हुआ था. उनका बचपन का...

विजयादशमी उत्सव पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन जी भागवत का उद्बोधन

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ श्री विजयादशमी उत्सव (आश्विन शुद्ध दशमी बुधवार दि. 5 अक्तूबर 2022) आज के कार्यक्रम की प्रमुख अतिथि आदरणीया श्रीमती संतोष यादव जी,...

अमृत महोत्सव लेखमाला – सशस्त्र क्रांति के स्वर्णिम पृष्ठ : भाग सात

सावरकर के शिष्य मदन लाल ढींगरा ने लंदन पहुंचाई क्रांति की ज्वाला नरेन्द्र सहगल भारतमाता को गुलामी की जंजीरों में जकड़ने वाले ब्रिटिश शासकों के...

अमृत महोत्सव – साहसी बालिका मैना

ज्वालामुखी पिता की बेटी, ज्वाला बनकर ही पलती है. उसे कहाँ भय जल जाने का, जिसमें क्रांति-ज्वाल जलती है. भगवान की पूजा करते समय असावधानी...