करंट टॉपिक्स

‘शिवलिंग’ क्या हैं …?

स्मरण रखें.... हम कालजयी, वैज्ञानिक, सनातन संस्कृति के संवाहक हैं. प्रशांत पोळ वर्ष २०२२ के मई में जब काशी के ज्ञानव्यापी परिसर में सर्वे हुआ...

देश अपने प्रतीक चिन्हों को उनके ‘स्व’ के आधार पर चुनते हैं

राजा भोज की नगरी में नर्मदा साहित्य मंथन के तृतीय सोपान का उद्घाटन धार. नर्मदा साहित्य मंथन का तृतीय सोपान माँ नर्मदा के पूजित जल...

धार में आयोजित होगा प्रतिष्ठित ‘नर्मदा साहित्य मंथन’

इंदौर. विश्व संवाद केन्द्र, मालवा के वार्षिक साहित्यिक समागम “नर्मदा साहित्य मंथन” के तृतीय सोपान का आयोजन आगामी १६-१७-१८ फरवरी को माँ वाग्देवी एवं राजा...

कैसा बसन्त? जब सरस्वती लन्दन में कैद हो..!

बसन्त दहलीज पर है. बसन्त पंचमी के दिन देशभर में छोटे–बड़े हजारों उत्सव होते हैं. वर्ष भर उत्सवों को उत्सव कलाकार अपनी कला से बनाते...

नर्मदा साहित्य मंथन से प्राप्त विमर्श रूपी अमृत समाज के लिए उपयोगी होगा – नरेंद्र कुमार जी

इंदौर. नर्मदा साहित्य मंथन-भोजपर्व का तीसरा दिन दीप प्रज्ज्वलन, शंखनाद एवं पिछले दिवस के सत्रों के सिंहावलोकन से प्रारम्भ हुआ. प्रथम सत्र में “राजा भोज...

समर्थ भारत ही विश्व कल्याण का मार्ग

नर्मदा साहित्य मंथन-भोजपर्व का उद्घाटन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील जी आम्बेकर की उपस्थिति में माँ नर्मदा के जल कलश के...