करंट टॉपिक्स

विश्व हिन्दू परिषद के छप्पन वर्ष – सामाजिक समरसता के लिए एक मंच पर आया संत समाज

विनोद बंसल स्वतंत्रता के पश्चात तुष्टीकरण के कारण हिन्दू समाज के साथ बढ़ते अन्याय तथा ईसाईयों को लेकर 1957 में आई नियोगी कमीशन की आँखें खोल देने वाली...

लखनऊ की यादें – जिन्होंने राममन्दिर आन्दोलन में तन मन समर्पित किया

अवध. हजरतगंज चौराहे पर कारसेवकों की भीड़ और पुलिस की घेराबन्दी. श्रीराम मन्दिर आन्दोलन का केन्द्र अयोध्या थी, लेकिन इस आन्दोलन का एक रास्ता लखनऊ...

ऐसे हुई श्रीराम जन्मभूमि की मुक्ति…..

विनोद बंसल ईस्वी सन् 1528 से लेकर आज तक भारत ने असंख्य उतार-चढ़ाव देखे हैं. एक ओर उसने वह असहनीय दर्द सहा, जब भव्य तथा...

जगत में स्वयं को और स्वयं में सारे जगत को देखने की दृष्टि भारत की है – डॉ. मोहन भागवत

श्रीराम मंदिर निर्माण कार्य शुभारंभ कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी का उद्बोधन श्रद्धेय महंत नृत्यगोपाल जी महाराज सहित उपस्थित...

अयोध्या – फैज़ाबाद के जिला जज (ब्रिटिश जज) ने राम जन्मस्थान पर बाबरी ढांचे को दुर्भाग्यपूर्ण कहा था…

भारत में मुग़ल काल से ही यूरोपियन व्यापारियों और यात्रियों का आना प्रारंभ हो गया था. इनमें से बहुतों ने अपने यात्रा वृत्तांत संस्मरण आदि...

आचार्य जी का पार्थिव शरीर भी आया राष्ट्र के काम

नई दिल्ली. विश्व हिन्दू परिषद के वरिष्ठ नेता व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक आचार्य गिरिराज किशोर के पार्थिव शरीर को 14 जुलाई को दधीचि...