करंट टॉपिक्स

हमें लावारिस की मौत नहीं मरना ….

योगिता साळवी राजीव गांधी नगर परिसर. २० वर्ष पहले अनधिकृत बस्ती की झुग्गियां तोड़ने महापालिका अधिकारी यहां आए थे. बस्ती के बच्चों से लेकर बूढ़ों...

आत्मनिर्भरता का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए हमें अपने ‘स्व’ को पहचानना होगा – डॉ. मनमोहन वैद्य

  राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य ने कहा कि भारत को स्वतंत्रता मिले 74 वर्ष हो गए हैं. 15 अगस्त, 1947...

अरुणोदय हो चुका वीर अब कर्मक्षेत्र में जुट जाएँ

डॉ. मनमोहन वैद्य 05 अगस्त, 2020 को अयोध्या में श्रीराम जन्मस्थान पर भव्य मंदिर के निर्माण का नेत्रदीपक समारंभ समूचे भारत, और विश्व भर में फैले...

सर्वांग स्वतंत्रता की ओर संघ के बढ़ते कदम

नरेंद्र सहगल 15 अगस्त, 1947 को देश दो भागों में विभक्त हो गया. ‘इंडिया दैट इज़ भारत’ और ‘पाकिस्तान’. भारत को राजनीतिक स्वतंत्रता प्राप्त होने बाद गांधी जी ने ‘कांग्रेस का काम पूरा...

विश्व हिन्दू परिषद के छप्पन वर्ष – सामाजिक समरसता के लिए एक मंच पर आया संत समाज

विनोद बंसल स्वतंत्रता के पश्चात तुष्टीकरण के कारण हिन्दू समाज के साथ बढ़ते अन्याय तथा ईसाईयों को लेकर 1957 में आई नियोगी कमीशन की आँखें खोल देने वाली...

कोरोना मुक्त ठाणे – चेंदनी कोलीवाडा हॉटस्पॉट में चप्पा-चप्पा छान रहीं कोरोना योद्धा

जनकल्याण समिति की प्रेरणा से स्क्रीनिंग में लगीं महिला कार्यकर्ता ठाणे, मुंबई. कोरोना के खिलाफ जंग में मातृशक्ति भी फ्रंटलाइन पर कार्य कर रही है....

रोचक – वैश्विक नेटवर्क से मुंबई के वृद्ध दंपत्ति को मिली सहायता

ह्यूस्टन से फ्रैंकफर्ट- नागपुर और फिर मुंबई में साधा संपर्क मुंबई (विश्व संवाद केंद्र). कोरोना महामारी के विकट संकट में देशभर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की...

सेवा भारती संकटमोचन दल जम्मू कश्मीर ने बांटी राहत सामग्री

सैकड़ों लोगों को चावल, सरसों का तेल, आटा, दालें आदि वितरित किया जम्मू. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ परिवार से जुड़े संगठनों ने जम्मू-कश्मीर में कोरोना वायरस...

श्रद्धेय दत्तोपंत ठेंगड़ी जी सर्वसमावेशी विचारक थे

दिल्ली में श्रद्धेय दत्तोपंत ठेंगड़ी जन्मशताब्दी समारोह का उद्घाटन नई दिल्ली. भारतीय मजदूर संघ के संस्थापक श्रद्धेय दत्तोपंत ठेंगड़ी जी के जन्मशताब्दी समारोह का दिल्ली...

30 अक्तूबर / जन्मदिवस – बहुमुखी कल्पनाओं के धनी मोरोपन्त पिंगले जी

नई दिल्ली. संघ के वरिष्ठ प्रचारक मोरोपन्त पिंगले जी को देखकर सब खिल उठते थे. उनके कार्यक्रम हास्य-प्रसंगों से भरपूर होते थे. पर, इसके साथ...