करंट टॉपिक्स

भारत अपने सामर्थ्य के बल पर विश्व में अलग पहचान बना रहा – स्वामी जितेंद्रानन्द सरस्वती जी महाराज

गोरक्ष. देवर्षि नारद जयंती के अवसर पर विश्व संवाद केंद्र गोरखपुर द्वारा 'वर्तमान परिदृश्य में लोकमत परिष्कार' विषयक गोष्ठी का आयोजन सरस्वती विद्या मंदिर सभागार...

संघर्ष, त्याग, आस्था, शक्ति का प्रतीक है पत्रकारिता – अजय मित्तल

देहरादून. प्रज्ञा प्रवाह के अखिल भारतीय शोध समन्वय प्रमुख अजय मित्तल ने कहा कि आजादी के संघर्ष में पत्रकारों ने नारद जी के विचारों पर...

सूचनाओं के संवाहक, धर्म के प्रचारक तथा सर्वलोकहितकारी हैं देवर्षि नारद – राजेन्द्र सक्सेना

काशी. आद्य पत्रकार देवर्षि नारद धर्म के प्रचार तथा लोक कल्याण के कार्यों में सदैव प्रयत्नशील रहते हैं. इसी कारण देवर्षि नारद जी को सूचनाओं...

जो भारत को मातृभूमि मानता है, भक्तिभाव रखता है वह भारत माता की संतान है – निम्बाराम

जयपुर. विश्व संवाद केंद्र फाउंडेशन की ओर से शनिवार को मालवीय नगर स्थित नारद सभागार में देवर्षि नारद जयंती और पत्रकार सम्मान समारोह का आयोजन...

सत्य का अन्वेषण भारतीय संस्कृति का मूल चिंतन – किस्मत कुमार

शिमला (हिमाचल प्रदेश). देवर्षि नारद जयंती के अवसर पर विश्व संवाद केंद्र शिमला में आयोजित कार्यक्रम में किस्मत कुमार ने कहा कि सत्य का अन्वेषण...

भारतीय मीडिया को विदेशी षड्यंत्रों के नैरेटिव से बाहर आना होगा – उमेश उपाध्‍याय

पत्रकारिता में सत्‍यता का अन्‍वेषण करते हुए ही उसे दिव्‍यता के साथ पूर्णता दी जा सकती है - सुभाष जी लखनऊ (विसंकें). देवर्षि नारद जयन्‍ती...

विश्व के 20 देशों में सराही गई ‘हू एम आई ‘ – अशोक जमनानी

भोपाल. सतपुड़ा चलचित्र समिति द्वारा विश्व संवाद केंद्र, भोपाल के मामा माणिकचंद वाजपेयी सभागार में ‘हू एम आई’ फिल्म प्रदर्शित की गई. यह फिल्म नर्मदापुरम...

भारत के मूल में हिन्दुत्व है – विजय शंकर तिवारी

मेरठ. विश्व हिन्दू परिषद के अखिल भारतीय सह मंत्री व प्रवक्ता विजय शंकर तिवारी ने कहा कि समय की मांग है कि हमारे विचार एवं...

धर्म को अंग्रेजी में भी धर्म ही कहना चाहिए, रिलीजन कहना उचित नहीं – डॉ. मनमोहन वैद्य जी

धार, मालवा. विश्व संवाद केन्द्र, मालवा के वार्षिक साहित्यिक समागम “नर्मदा साहित्य मंथन” के तृतीय सोपान (१६-१७-१८ फरवरी) के समापन सत्र में मुख्य वक्ता राष्ट्रीय...

प्रभु श्रीराम तो सबके हैं – अमरनाथ जी महाराज

जिन लोगों ने अज्ञानता वश धर्म कार्य में बाधा बनने का प्रयत्न किया, या जान-बूझकर प्रभु राम के नाम को कोसा है, राम तो उनके...