You Are Here: Home » Posts tagged "विहिप"

    श्रीराम मंदिर निर्माण कार्य शुभारंभ – प्रभात फेरी, भजन कीर्तन का आयोजन, कारसेवकों का सम्मान

    नई दिल्ली. अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण कार्य शुभारंभ के पश्चात देशभर में प्रसन्नता का माहौल है. कहीं प्रभात फेरी का आयोजन किया जा रहा है, तो कहीं कारसेवकों को सम्मानित किया जा रहा है. भजन कीर्तन, प्रसाद वितरण की क्रम भी चल रहा है. हिमाचल प्रदेश के नगरोटा में भारत विकास परिषद ने अयोध्या में श्रीराम मंदिर पूजन के उपलक्ष्य में श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर में कारसेवकों को सम्मानित किया. इस दौरान परिषद सदस्य ...

    Read more

    गया में भी दीपोत्सव, एकल अभियान ने 270 गांवों में जश्न मनाया

    गया. यह लोगों के विश्वास की “जीत’ है. विक्रम संवत् 2077, मास भाद्रपद कृष्ण पक्ष द्वितीया तिथि.... सनातन धर्मावलंबियों के लिए इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया. अयोध्या में प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर की नींव रख दी गई है, जल्द ही हिन्दुओं के प्रमुख आस्था का केन्द्र अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण का कार्य पूरा हो जाएगा. शक्तिपीठ मां मंगलागौरी मंदिर 1008 दीपों से सजा रहा. विष्णुपद मंदिर में 101 दीप सजे. सीताक ...

    Read more

    अयोध्या में शिला पूजन शुरू होते ही धर्मनगरी के देवालयों में शंखनाद, विजय महामंत्र, हनुमान चालीसा का पाठ

    कुरुक्षेत्र. श्रीराम जन्मभूमि को लेकर 500 साल के संघर्ष के पश्चात हिन्दू समाज को जीत मिली. वहीं श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण कार्य का शुभारंभ होने पर चहुंओर प्रसन्नता है. मठ-मंदिरों में भजन- कीर्तन का दौर चल रहा है. दीपोत्सव का आयोजन किया जा रहा है. प्रसन्नता में आतिशबाजी की जा रही है. अयोध्या में पूजन शुरू होते ही धर्मनगरी में शंखनाद व मंत्रोच्चार गूंज उठे. जय श्रीराम के उद्घोष से वातावरण गूंज उठा. हर ...

    Read more

    लखनऊ की यादें – जिन्होंने राममन्दिर आन्दोलन में तन मन समर्पित किया

    अवध. हजरतगंज चौराहे पर कारसेवकों की भीड़ और पुलिस की घेराबन्दी. श्रीराम मन्दिर आन्दोलन का केन्द्र अयोध्या थी, लेकिन इस आन्दोलन का एक रास्ता लखनऊ से भी होकर जाता था. बाहर से आ रहे कारसेवकों की सेवा लखनऊ के ही निवासी करते थे. अयोध्या कूच के ऐलान के साथ ही दिसम्बर 1992 से पहले लखनऊ में रामभक्तों का कारवां दिखाई देता था, जो अयोध्या की ओर बढ़ता जा रहा था. लखनऊ में संघ का हर स्वयंसेवक अयोध्या पहुंचना चाहता था. जो न ...

    Read more

    ऐसे हुई श्रीराम जन्मभूमि की मुक्ति…..

    विनोद बंसल ईस्वी सन् 1528 से लेकर आज तक भारत ने असंख्य उतार-चढ़ाव देखे हैं. एक ओर उसने वह असहनीय दर्द सहा, जब भव्य तथा विशाल मंदिर को धूल धूसरित कर अपने सत्ता मद में चूर एक विदेशी आक्रान्ता ने भारत की आस्था को कुचलकर देश के स्वाभिमान की नृशंस ह्त्या का दुःसाहस किया. तो वहीं, 06 दिसंबर 1992 का वह दृश्य भी देखा, जब लाखों रामभक्तों ने 464 वर्ष पूर्व जन्मभूमि के साथ हुई उस दुष्टता का परिमार्जन करते हुए पापी के ब ...

    Read more

    भारत नव प्रभात में स्वाभिमान के साथ सुशोभित होगा

    लोकेंद्र सिंह 500 वर्षों के संघर्ष और लंबी प्रतीक्षा के पश्चात अब जाकर वह क्षण आया है, जिसका स्वप्न हिन्दू समाज देख रहा था. अयोध्या जी में भारत की श्रद्धा के केंद्र भगवान श्रीराम के मंदिर निर्माण के शुभारंभ के साथ अब जाकर हिन्दू समाज के आत्मगौरव का वनवास भी खत्म हो रहा है. यह कोई साधारण मंदिर नहीं है, भारत के स्वाभिमान का प्रतीक है. इसलिए यह क्षण सामान्य नहीं है, ऐतिहासिक अवसर है. गौरव की अनुभूति से भर जाने ...

    Read more

    गोरखपुर में श्रीराम मंदिर आंदोलन की लौ जगाने वाले कार्यकर्ता

    गोरखपुर. श्रीराम मंदिर निर्माण कार्य का शुभारंभ कल (05 अगस्त) होने वाला है. इसे लेकर पूरे देश में उत्साह है, प्रत्येक व्यक्ति उत्साहित है. गोरक्षनगरी में भी दीप जलाकर स्वागत की तैयारियां चल रही हैं. लेकिन मंदिर निर्माण के लिए चले लंबे आंदोलन में अपनी जवानी लगा देने वाले बहुत से कारसेवक व आंदोलनकारी ऐसे हैं जो अब गोलोकवासी हो चुके हैं, उनकी मंदिर देखने की हसरत अधूरी ही रह गई. क्षेत्र में मंदिर आंदोलन को धार ...

    Read more

    बलिदान तो देना पड़ेगा, इस मंदिर के लिए बलिदान देने की लंबी परंपरा रही है

    राघवेन्द्र सिंह जयपुर. सैकड़ों वर्षों तक संघर्ष व अनेकों बलिदान के बाद आखिरकार वह समय आ ही गया है, जिसकी समस्त भारतवर्ष के लोगों को चिरप्रतीक्षा थी. रामभक्तों का वह सपना पूरा होने का अध्याय 05 अगस्त को शुरू होगा, जब अयोध्या नगरी में जन्मभूमि पर रामलला के भव्य मंदिर का निर्माण कार्य शुभारम्भ हो जाएगा. जिसके साक्षी भारत ही नहीं, विदेशों में बैठे रामभक्त भी बनेंगे. श्रीराम जन्मभूमि की रक्षा के लिए मुगलों से ले ...

    Read more

    राष्ट्रीय चेतना का उद्घोष : अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण – 13

    नरेंद्र सहगल प्राणोत्सर्ग करने का दृढ़ संकल्प मंदिर पर लगा सरकारी ताला खुलने के बाद सभी हिन्दू संगठनों ने इस स्थान पर एक भव्य मंदिर बनाने के लिए प्रयास शुरु कर दिए. इस कालखंड में निरंतर 6 वर्षों के इंतजार के बाद सरकार भी टालमटोल करती रही और न्यायालय भी इस मुद्दे को लटकाता रहा. निरंतर 6-7 वर्षों के इंतजार के बाद विश्व हिन्दू परिषद के मार्गदर्शक मंडल के सभी संतों महात्माओं ने सर्वसम्मति के साथ एक स्वर में 6 दि ...

    Read more

    श्रीराम जन्मभूमि मंदिर और भविष्य का भारत

    लखनऊ. विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के कार्याध्यक्ष एडवोकेट आलोक कुमार ने कहा कि 1989 में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर के लिए शिलान्यास हुआ था, पर मंदिर का निर्माण शासकीय बाधाओं, राजनीतिक तिकड़मों और न्यायालयों में देरी के मकड़ जाल में फंस गया. लगभग 31 वर्ष बाद, अब यह सुखद संयोग बना है कि 5 अगस्त को माननीय प्रधानमंत्री की उपस्थिति में मंदिर का निर्माण शुरू होगा और यह आशा की जा सकती है कि लगभग 3 वर्षो के समय म ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top