करंट टॉपिक्स


Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/sandvskbhar21/public_html/wp-content/themes/newsreaders/assets/lib/breadcrumbs/breadcrumbs.php on line 252

इतिहास को न तो भुलाया जा सकता है और न ही छिपाया

इतिहास को न तो भुलाया जा सकता है और न ही छिपाया जा सकता है. जब-जब इस तरह का प्रयास होता है, उसके परिणाम बुरे...

युवाओं के प्रेरणा स्रोत – वीर सावरकर ‘ विषय पर वेबिनार का आयोजन

  जयपुर. इतिहास संकलन समिति, चित्तौड़ प्रांत की ओर से ' युवाओं के प्रेरणा स्रोत - वीर सावरकर ' विषय पर आयोजित वेबिनार में मुख्य...

स्वातंत्र्यवीर सावरकर पर ‘द वीक’ का माफ़ीनामा

लोकेन्द्र सिंह 'द वीक' पत्रिका ने स्वातंत्र्यवीर सावरकर पर लिखे गए झूठे और अपमानजनक लेख के लिए माफी मांगी है. ‘द वीक’ की यह माफ़ी राष्ट्रभक्त...

काशी की पहली शाखा ने मनाया वार्षिकोत्सव, संघ संस्थापक की उपस्थिति में हुई थी प्रारंभ

काशी. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्थापक डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार जी द्वारा आरम्भ की गयी काशी की प्रथम शाखा “धनधानेश्वर” का वार्षिकोत्सव शनिवार को सम्पन्न...

पराक्रम दिवस – जब नेताजी ने अंग्रेजों के संसाधनों से लड़ी अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई

सौरभ कुमार देश गुलामी की बेड़ियों में जकड़ा था. भारत का एक वीर सपूत देश से सैकड़ों किमी दूर बैठा देश की आजादी के लिए...

NCERT – पुस्तक में पढ़ाया शाहजहां और औरंगजेब ने मंदिरों की मरम्मत करवाई, स्रोत पूछा तो कहा पता नहीं

वामपंथी विचार के लेखकों ने शिक्षण संस्थानों में पढ़ाए जाने वाले विषयों व इतिहास को किस कदर तोड़ मरोड़कर लिखा है, इसे लेकर समय-समय पर...

ब्रिटिश साम्राज्य पर अंतिम निर्णायक प्रहार करने वाले नेता जी सुभाष चंद्र बोस

पुण्यतिथि पर विशेष “तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा” नरेंद्र सहगल यह एक ऐतिहासिक सच्चाई है कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस के नेतृत्व में आजाद...

भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा दृष्टि का पुनरावलोकन – 1

भारत की सुरक्षा नीति का मूल्यांकन और विश्लेषण करने का यह सर्वथा उचित समय है . जब राष्ट्रीय सुरक्षा-सिद्धांत को स्वातंत्र्यवीर सावरकर और सुभाषचंद्र बोस की...

अलग झंडे की मांग और टीपू जयंती मनाने वालों को वीर सावरकर के नाम से चिढ़ क्यों?

नई दिल्ली. जब देशभर में भारतीय स्वातंत्र्य समर के महायोद्धा अमर बलिदानी वीर विनायक दामोदर सावरकर की जयंती मनाई जा रही है. इसी शुभ अवसर...

भविष्यद्रष्टा सावरकर

-  प्रशांत पोळ निर्भयता, निडरता, निर्भीकता. इन सब का पर्यायवाची शब्द हैं – वीर सावरकर. इस सामान्य कद – काठी के व्यक्ति में असामान्य और...