You Are Here: Home » Posts tagged "संघ प्रमुख"

    दीपनिष्ठा को जगाओ अन्यथा मर जाओगे

    जयराम शुक्ल यह घड़ी बिल्कुल नहीं है शांति और संतोष की, ‘सूर्यनिष्ठा’ सम्पदा होगी गगन के कोष की. यह धरा का मामला है घोर काली रात है, कौन जिम्मेदार है यह सभी को ज्ञात है.. रोशनी की खोज में किस सूर्य के घर जाओगे, ‘दीपनिष्ठा’ को जगाओ अन्यथा मर जाओगे.. प्रधानमंत्री के राष्ट्र के नाम संबोधन को गुन-धुन रहा था कि सयास बालकवि बैरागी के उपरोक्त काव्यांश का स्मरण हो आया. उस दिन बैरागी जी दूसरी पुण्यतिथि भी थी. कवि को ...

    Read more

    सोशल मीडिया फेक न्यूज – मोहन भागवत मनु स्मृति और जाति व्यवस्था को लागू करना चाहते हैं?

    नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत जी द्वारा पुस्तक विमोचन की एक पुरानी फोटो का उपयोग कर सोशल मीडिया पर झूठ फैलाया जा रहा है. वर्ष 2014 के कार्यक्रम की एक फोटो के साथ दावा किया जा रहा है कि मोहन भागवत ने अलग-अलग जातियों के लिए पुस्तकें लिखवाई जा रही हैं, और जैसे ही यह काम पूरा हो जाएगा, मनु स्मृति को लागू कर दिया जाएगा. पोस्ट में यह भी दावा किया गया है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ...

    Read more

    विकास का स्वदेशी मॉडल विषय पर वेबिनार का आयोजन

    नई दिल्ली. वैश्विक महामारी के चलते पूरा विश्व कराह रहा है, वहीं भारत मजबूती से उसका सामना करते हुए पूरे विश्व को रास्ता दिखाने के लिए तैयार है. देश में महामारी के बाद अर्थव्यवस्था पर प्रभाव पड़ना लगभग तय है. इस स्थिति से निपटने के लिए जहां एक ओर सरकार को कठोर कदम उठाने होंगे, तो देश के प्रत्येक नागरिक को भी स्वरोजगार को अपनाकर अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए खड़ा होना होगा. इस संकट से बाहर आने के लिए हमे ...

    Read more

    संघ की संकल्पना : सेवा उपकार नहीं, समाज के प्रति कर्तव्य

    लोकेन्द्र सिंह देश के किसी भी हिस्से में, जब भी आपदा की स्थितियां बनती हैं, तब राहत/सेवा कार्यों में राष्ट्रीय स्वयंसवेक संघ के स्वयंसेवक अग्रिम पंक्ति में दिखाई देते हैं. चरखी दादरी विमान दुर्घटना, गुजरात भूकंप, ओडिसा चक्रवात, केदारनाथ चक्रवात, केरल बाढ़ या अन्य आपात स्थितियों में संघ के स्वयंसेवकों ने पूर्ण समर्पण से राहत कार्यों में अग्रणी रहकर महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया. अब जबकि समूचा देश कोरोना ...

    Read more

    संकट को अवसर बनाकर हम एक नए भारत का उत्थान करें

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, नागपुर महानगर द्वारा आयोजित बौद्धिक वर्ग में सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी का उद्बोधन स्व-आधारित तंत्र के निर्माण और स्वदेशी के आचरण का आहवान संघ अपनी प्रसिद्धि, स्वार्थ या डंका बजाने के लिए सेवा कार्य नहीं करता सरसंघचालक ने पालघर में संतों की हत्या पर जताया दुःख, एकांत में आत्मसाधना – लोकांत में परोपकार, संघ कार्य का यही स्वरूप नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन ...

    Read more

    संघ स्वार्थ, प्रसिद्धि या अपना डंका बजाने के लिए सेवाकार्य नहीं करता

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, नागपुर महानगर द्वारा आयोजित बौद्धिक वर्ग में सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी का उद्बोधन के अंश 1). एकांत में आत्मसाधना- लोकांत में परोपकार- यही व्यक्ति के जीवन का और संघ कार्य का स्वरुप है. 2). संघ स्वार्थ, प्रसिद्धि या अपना डंका बजाने के लिए सेवाकार्य नहीं करता. 130करोड का समाज अपना समाज है, यह अपना देश है, इसलिए हम कार्य करते हैं. जो पीड़ित – वो अपने, सब के लिए कार्य करना है. कोई छूटे ...

    Read more

    एक ही स्थान पर दिखेगी हजारों सेवा कार्यों की झलक

    जयपुर (विसंकें). महात्मा गांधी कहते थे कि यदि आप खुद को खोजना चाहते हो तो अपने आप को दूसरों की सेवा में खो दो. ऐसे ही निःस्वार्थ भाव के साथ सेवा कार्यों में जुटी राष्ट्रीय सेवा भारती सहित देश की बारह सौ से अधिक सेवा संस्थाओं के कार्य राजधानी जयपुर में एक मंच पर देखने को मिलेंगे. इनका एक विशाल संगम 27 से 29 मार्च तक राष्ट्रीय सेवा भारती के तत्वाधान में जामडोली स्थित केशव विद्यापीठ में आयोजित होगा. प्रत्येक प ...

    Read more

    प्रपंची मीडिया गिरोह ने संघ प्रमुख के बयान को फिर अपनी सुविधा अनुसार तोड़ा मरोड़ा…..!

    नई दिल्ली. टीआरपी के लिए या कहें कि अपना एजेंडा सेट करने के लिए मीडिया किस तरह तथ्यों को तोड़ मरोड़कर प्रस्तुत करता है, इसका उदाहरण आज फिर देखने को मिला. रांची में आयोजित कार्यक्रम में संघ प्रमुख के कथन को लेकर मीडिया ने यही किया. सरसंघचालक मोहन भागवत ने राष्ट्रवाद (Nationalism) शब्द को लेकर इंग्लैंड में कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत का उद्धरण दिया था. लेकिन मीडिया ने कथन को अपनी सुविधा के अनुसार प्रस्तुत किया ...

    Read more

    राष्ट्राभिमुख समाज निर्माण में रत आध्यात्मिक कर्मयोगी : श्री गुरुजी

    नरेंद्र सहगल भारत के प्रत्येक जिले में प्रवास करते हुए श्री गुरुजी राष्ट्रीय महत्व की समस्याओं और मुद्दों पर लोगों एवं सरकार को सचेत करते हुए भविष्य में आने वाले संकटों की जानकारी तथा उनका समाधान बताते रहते थे. दिसंबर 1951 में वैश्य कॉलेज रोहतक (हरियाणा) के मैदान में स्वयंसेवकों तथा नागरिकों को संबोधित करते हुए श्री गुरुजी ने कहा था - “भारत ने चीन को तिब्बत की भूमि भेंट करके एक भयानक भूल कर डाली है. जो गलती ...

    Read more

    हम जो लक्ष्य लेकर चले हैं, वह मातृशक्ति के बिना पूर्ण नहीं हो सकता – डॉ. मोहन भागवत

    गुजरात (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने कर्णावती में आयोजित स्वयंसेवक परिवार मिलन कार्यक्रम को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि स्वयंसेवक जो कुछ काम संघ में करते हैं, वह जानकारी परिवार को भी दें, ऐसी पूर्ण अपेक्षा है क्योंकि हम जो काम करते हैं, वह कर सकें, उसके लिए हमारे घर में जो माता-बहनें हैं उनको जो करना पड़ता है, वह हमारे कार्य से कई गुना ज्यादा कष्टदायक है. उन्होंने कहा कि ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top