You Are Here: Home » Posts tagged "संघ" (Page 21)

    प्रणब दा के साथ संघ विरोधियों को भी धन्यवाद

    अपने ही लोगों के तीव्र विरोध के बाद भी पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यक्रम में नागपुर आए, इसके लिए उनका विशेष अभिनंदन एवं धन्यवाद. वह डॉ. केशवराव बलिराम हेडगेवार के कक्ष में भी गए और वहां अपना भाव एकदम स्पष्ट शब्दों में लिखा. वह अत्यंत सहज-सरल थे. परिचय सत्र में जब संघचालक परिचय कराने वाले ही थे कि प्रणबदा ने कहा सब अपना-अपना परिचय देंगे और स्वयं खड़े होकर कहा, ‘मैं प्रणब मुखर ...

    Read more

    मानहानि मामले में राहुल के खिलाफ न्यायालय में आरोप तय

    मुंबई (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता द्वारा भिवंडी कोर्ट में दायर मानहानि मामले में कोर्ट ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ आरोप तय कर दिये हैं. राहुल गांधी के खिलाफ आईपीसी की धारा 499 और 500 के तहत आरोप तय किए गए हैं. मामले में अगली सुनवाई 10 अगस्त को होगी. न्यायालय के निर्देश के बाद राहुल गांधी आज (12 जून, 2018) भिवंडी कोर्ट में पेश हुए थे. न्यायालय में आरोप तय होने के पश्चात राहु ...

    Read more

    मनुष्य, जीव और प्रकृति के मध्य संतुलन बनाने की आवश्यकता – डॉ. भगवती प्रकाश जी

    जयपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र संघचालक डॉ. भगवती प्रकाश जी ने कहा कि आज मनुष्य, जीव और प्रकृति के मध्य सामंजस्य बनाने की आवश्यकता है. हम जाने-अनजाने में पर्यावरण को बहुत नुकसान पहुचांते हैं, इसकी भरपाई के लिए हमें प्रयास करने होंगे. वे मंगलवार को विश्व संवाद केन्द्र की ओर से पर्यावरण और भारतीय चिंतन विषय पर आयोजित स्मारिका के विमोचन कार्यक्रम में संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि प्राच ...

    Read more

    वैचारिक आदान – प्रदान का बेजा विरोध !

    नागपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रशिक्षण वर्ग के समापन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के नाते आने के लिए पूर्व राष्ट्रपति डॉ. प्रणब मुखर्जी ने अपनी स्वीकृति दी है. इससे देश के राजनीतिक गलियारों में हलचल है. डॉ. मुखर्जी एक अनुभवी और परिपक्व राजनेता हैं. संघ ने उनके व्यापक अनुभव और उनकी परिपक्वता को ध्यान में रखकर ही उन्हें स्वयंसेवकों के सम्मुख अपने विचार रखने के लिए आमंत्रित किया है. वहां वह भी संघ के विच ...

    Read more

    संघ को समझने के लिये पहले भारत को जानना आवश्यक – डॉ. मनमोहन वैद्य जी

    नागपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य जी ने कहा कि जिन्हें संघ को समझना है, पहले उन्हें भारत को जानना होगा. जो भारत को समझने का प्रयास करेंगे, वे ही संघ को जान व समझ सकेंगे. वे तरुण भारत के एमआईडीसी कार्यालय को सदिच्छा भेंट के दौरान उपस्थित जनों को संबोधित कर रहे थे. दैनिक तरुण भारत का संचालन करने वाली संस्था श्री नरकेसरी प्रकाशन लिमिटेड के अध्यक्ष डॉ. विलास डांगरे जी न ...

    Read more

    राहुल गांधी और उनका झूठ

    कांग्रेस पार्टी और उनके अध्यक्ष श्री राहुल गांधी लगातार झूठ बोलकर समाज को भ्रमित करने का विफल प्रयास करते दिखते हैं. इसी कड़ी में उनके अधिकृत फेसबुक पेज पर मेरे और सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत के नाम से एक झूठ चलाया है कि संघ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को संविधान द्वारा दिया आरक्षण समाप्त करना चाहता है. यह अत्यंत आधारहीन और सरासर झूठ है. राहुल गांधी इस अपने दावे के संदर्भ में अधिकृत संदर्भ या स्रोत दे ...

    Read more

    करियप्पा पर झूठ और इतिहास में दबा सच

    भारत के तथाकथित सेकुलर पुरोगामी कहलाने वालों को अगर भारत की सेना की छवि को मलिन करने वाली कुछ भी चीज मिलती है तो वे बड़े उत्साह में आ जाते हैं. और अगर एक ही समाचार में सेना, संघ को बदनाम करने का मौका मिले, और वो भी उत्तर भारत और दक्षिण भारत के काल्पनिक विभेद को दिखाते हुए, तो सोने पे सुहागा! पिछले कुछ दिनों से मीडिया में चल रही खबर ‘जनरल करिअप्पा की हत्या करने का षड्यंत्र’ कुछ इसी प्रकार की है. बस बात इतनी ह ...

    Read more

    02 मई / पुण्यतिथि – आधुनिक विश्वकर्मा बड़े भाई रामनरेश सिंह

    बड़े भाई रामनरेश सिंह का जन्म 1925 की दीपावली के शुभ दिन ग्राम बघई (मिर्जापुर, उ.प्र.) में एक सामान्य किसान श्री दलथम्मन सिंह के घर में हुआ था. 1942 में हाईस्कूल कर चुनार तहसील में नकल नवीस के नाते उनकी नौकरी लग गयी. जब वहां सायं शाखा प्रारम्भ हुई, तो ये तहसील की निर्धारित वेशभूषा में ही वहां आने लगे. शाखा पर आने वालों में सबसे बड़े थे. अतः सब इन्हें ‘बड़े भाई’ कहने लगे. उन दिनों माधव जी देशमुख मिर्जापुर मे ...

    Read more

    11 मई / जन्मदिवस – वानप्रस्थी सेना के नायक जितेन्द्रवीर गुप्त जी

    नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्य विस्तार में प्रचारकों का बड़ा योगदान रहता है. पर, उस कार्य को टिकाने तथा समाज के विविध क्षेत्रों में पहुंचाने में वानप्रस्थी, गृहस्थ कार्यकर्ताओं की बहुत बड़ी भूमिका है. 11 मई, 1929 को नरवाना (हरियाणा) में संघ के वरिष्ठ कार्यकर्ता बाबू दिलीप चंद्र गुप्त के घर जन्मे जितेन्द्रवीर गुप्त वानप्रस्थी कार्यकर्ताओं की मालिका के एक सुगंधित पुष्प थे. वर्ष 1979 में वे पंजाब- ...

    Read more

    राष्ट्र रक्षा का शुभ संकल्प लेने का दिन गुरु पूर्णिमा

    भारतीय इतिहास गुरु-शिष्य संबंधों की गाथाओं से भरा पड़ा है. समय-समय पर गुरुओं ने जन-कल्याण के लिये मंत्र दिया, जिसे उनके शिष्यों ने दूर-दूर तक प्रसारित एवं प्रचारित किया इस संबंध की स्मृति में आषाढ़ मास की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा का पावन पर्व अनादिकाल से मनाया जाता रहा है. परंतु इसे महर्षि व्यास ने अधिक व्यापक बनाया. इस कारण इसे व्यास पूर्णिमा भी कहते हैं. प्राचीन काल में गुरु दीक्षा और गुरु दक्षिणा के लिय ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top