You Are Here: Home » Posts tagged "स्वदेशी जागरण मंच"

    1981 में लिखी डीन कोट्ज की पुस्तक “The Eyes of Darkness में कोरोना वायरस का वर्णन

    स्वदेशी जागरण मंच ने कोरोना वायरस को दी ‘चीनी वायरस” की संज्ञा विश्व की महाशक्तियों में आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी नोवेल कोरोना वायरस संपूर्ण विश्व के लिए खतरा बनता जा रहा है, सब ठप्प पड़ गया है. हर देश  कोरोना से जंग लड़ रहा है. बीच-बीच में यह सवाल भी उठा रहा है कि आखिर नोवेल कोरोना वायरस आया कहां से? क्या यह बायोलॉजिकल हथियार है ? किसी देश ने जानबूझकर इसे प्लांट किया है या मानवीय गलती का परिणाम है? स्वदेश ...

    Read more

    विकास का भारतीय मॉडल ही समृद्धि, रोजगार, सुख और शांति का आधार है – सतीश कुमार

    ग्वालियर (विसंकें). स्वदेशी जागरण मंच के उत्तर भारत के संगठक एवं अखिल भारतीय सह विचार विभाग प्रमुख सतीश जी ने कहा कि विकास का भारतीय मॉडल ही समृद्धि, रोजगार, सुख और शांति का आधार है. रूस का साम्यवादी अर्थ तंत्र और अमेरिका का पूंजीवाद दोनों ही देशों में असफल हुए हैं. रूस की साम्यवादी अर्थव्यवस्था से रूस का पतन हो गया तथा पूंजीवादी अर्थव्यवस्था के चलते ही 2008 में  अमेरिका का आर्थिक पराभव हो गया था. अमेरिका म ...

    Read more

    भरतपुर व टोंक में सीएए के समर्थन में निकाली तिरंगा यात्रा

    जयपुर (विसंकें). नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में देशभर में कार्यक्रम हो रहे हैं. इसी क्रम में राजस्थान के दो जिलों भरतपुर व टोंक में बड़े कार्यक्रमों का आयोजन हुआ. भरतपुर में राष्ट्रीय एकता मंच के नेतृत्व में विभिन्न संगठनों द्वारा नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में तिरंगा यात्रा निकाली गई. इसमें शामिल लोगों ने तीन सौ फीट लंबा तिरंगा लेकर पैदल मार्च किया. तिरंगा यात्रा यातायात चौराहे से शुरू हुई. यात्र ...

    Read more

    श्रद्धेय दत्तोपंत ठेंगड़ी जी सर्वसमावेशी विचारक थे

    दिल्ली में श्रद्धेय दत्तोपंत ठेंगड़ी जन्मशताब्दी समारोह का उद्घाटन नई दिल्ली. भारतीय मजदूर संघ के संस्थापक श्रद्धेय दत्तोपंत ठेंगड़ी जी के जन्मशताब्दी समारोह का दिल्ली में उद्घाटन करते हुए उपराष्ट्रपति एम. वैंकैया नायडू जी ने कहा कि देश के लिए संपदा निर्माण करने वाले किसानों और मजदूरों के यदि स्वास्थ्य की हम अधिक चिंता करें तो वे और भी अधिक संपदा का निर्माण करेंगे. ठेंगड़ी जी ने देश के श्रमिक आंदोलन को एक स ...

    Read more

    भारतीय संस्कृति, समाज व अर्थव्यवस्था की पहचान मुझे दत्तोपंत जी के माध्यम से हुई – एस. गुरुमूर्ति

    मुंबई (विसंकें). रिजर्व बैंक के निदेशक एवं अर्थशास्त्री एस, गुरुमूर्ति जी ने कहा कि ‘भारतीय मजदूर संघ के संस्थापक दत्तोपंत ठेंगड़ी जी समय से आगे की सोच रखने वाले दृष्टा थे.’ ‘वामपंथी आर्थिक सोच से पुरस्कृत हुआ पूंजीवाद अधिक समय तक नहीं रह सकता. यह, दत्तोपंत जी ने 1992 से पूर्व ही कहा था. दोनों के पास संपत्ति का केंद्रीकरण होना, यह इसका मुख्य कारण है. 1990 से पूर्व ही उन्होंने कहा था कि विश्व के प्रत्येक देश ...

    Read more

    10 अक्तूबर / जन्मदिवस – राष्ट्रयोगी दत्तोपंत ठेंगड़ी

    श्री दत्तोपन्त ठेंगड़ी का जन्म दीपावली वाले दिन (10 अक्तूबर, 1920)  को ग्राम आर्वी, जिला वर्धा, महाराष्ट्र में हुआ था. वे बाल्यकाल से ही स्वतन्त्रता संग्राम में सक्रिय रहे. 1935 में वे ‘वानरसेना’ के आर्वी तालुका के अध्यक्ष थे. जब उनका सम्पर्क डॉ. हेडगेवार से हुआ, तो संघ के विचार उनके मन में गहराई से बैठ गये. उनके पिता उन्हें वकील बनाना चाहते थे; पर दत्तोपन्त जी एम.ए. तथा कानून की शिक्षा पूर्णकर 1941 में प्र ...

    Read more

    मेडिकल शोध, आयातित सिंथेटिक विटामिनों से फायदे की बजाय नुकसान होगा – स्वदेशी जागरण मंच

    मुंबई. "स्वदेशी जागरण मंच" के अखिल भारतीय संगठक कश्मीरी लाल जी ने मुम्बई में पत्रकारों से चर्चा में बताया कि 08, 09 जून 2019 को पूना में "अखिल भारतीय राष्ट्रीय परिषद" की बैठक आयोजित होने वाली है, जिसमें आगामी कार्यक्रमों की घोषणा की जाएगी. नई सरकार के गठन के बाद निम्न चुनौतियों के बारे में सरकार से भी चर्चा की जाएगी...... चीन से व्यापार घाटा कम हो रहा है – लगभग दो दशक से सबसे तेज अर्थव्यवस्था, ‘मैन्युफैक्चर ...

    Read more

    तात्कालिक हित नहीं, शाश्वत हित में है राष्ट्रहित – डॉ. मोहन भागवत जी

    नई दिल्ली. भारतीय मजदूर संघ के संस्थापक दत्तोपंत ठेंगड़ी जी की स्मृति में स्वदेशी जागरण मंच द्वारा डॉ. भीमराव अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया. व्याख्यानमाला में मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि दत्तोपंत ठेंगड़ी जी का व्यापक व्यक्तित्व होते हुए भी हर छोटा बड़ा कार्यकर्ता उनसे निःसंकोच अपनी बात कह पाता था. हमको यह देखना पड़ेगा कि विचारों के ...

    Read more

    एमएसएमई परिभाषा में बदलाव – लघु उद्योगों पर संकट

    नई दिल्ली. भारत में लघु उद्योग जीडीपी ग्रोथ, रोजगार, निर्यात और विकेन्द्रीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं. भूमंडलीकरण, खुले आयातों की नीति के कारण, चीनी माल की बाढ़ के कारण उत्पन्न असमान प्रतिस्पर्धा, कानूनों के जंजाल के कारण व्यवसाय में असुविधा के पूर्णतया अभाव और विपणन, वित्तीय और तकनीकी सहयोग के पूर्णतया अभाव के बावजूद भी लघु उद्यम किसी प्रकार से अपने अस्तित्व को बचाने के लिए निरंतर संघर्ष ...

    Read more

    देशी गाय को घर से जोड़ें, और रसायनमुक्त खेती करें – कश्मीरी लाल जी

    नई दिल्ली. स्वदेशी जागरण मंच यमुना विहार विभाग व पूर्वी विभाग द्वारा भारतीय व्यापार व स्वदेशी वस्तुओं को पुर्नजीवित करने तथा विदेशी कंपनी वालमार्ट द्वारा स्वदेशी कम्पनी फ्लिपकार्ट को खरीदने, चीन, अमेरिका सहित अन्य देशों की विदेशी कम्पनियों द्वारा भारतीय उद्योगों को चौपट कर भारतीय अर्थव्यवस्था को प्रभावित करने के विषय पर जोहरीपुर गांव, आर्य गीता स्कूल कृष्णा नगर में स्वदेशी महासम्मेलन का आयोजन किया गया. इस अ ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top