करंट टॉपिक्स

विवेकानंद शिला स्मारक के शिल्पी – एकनाथ रानाडे

एकनाथ रानाडे जी का जन्म 19 नवम्बर, 1914 को ग्राम टिलटिला (जिला अमरावती, महाराष्ट्र) में हुआ था. पढ़ने के लिए वे अपने बड़े भाई के...

स्वाधीनता के अमृत काल में विवेकानन्द संदेश यात्रा

सन् 1857 से चले लम्बे स्वाधीनता संग्राम के उपरान्त भारत 15 अगस्त, 1947 को स्वाधीन हुआ. इस वर्ष हमारी स्वाधीनता को 75 वर्ष पूर्ण हो...

देव दीपावली – काशी में गंगा के आकाशगंगा से मिलन का अद्भुत, अलौकिक और अविस्मरणीय दृश्य

काशी. काशी में कार्तिक पूर्णिमा पर सूर्यास्त के पश्चात घाटों पर उभरे अद्भुत, अलौकिक और अविस्मरणीय दृश्य के साक्षी काशीवासी ही नहीं, बल्कि देश-विदेश के...

भगिनी निवेदिता का शिक्षा दर्शन

रेखा चुड़ासमा ई.स. 1884 में मार्गरेट नोबल ने अपना शिक्षण व्यवसाय प्रारंभ किया, उसका परिचय पेस्टलोजी और फ्रोबेल द्वारा प्रतिपादित नई शिक्षा पद्धति से हुआ....

विजयादशमी उत्सव पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन जी भागवत का उद्बोधन

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ श्री विजयादशमी उत्सव (आश्विन शुद्ध दशमी बुधवार दि. 5 अक्तूबर 2022) आज के कार्यक्रम की प्रमुख अतिथि आदरणीया श्रीमती संतोष यादव जी,...

अमृत महोत्सव – स्त्री, स्वराज और स्वदेशी

प्रो. गीता भट्ट औपनिवेशिक ताकतों के विरोध में जिन दो शब्दों ने वैचारिक अलख जगाई, वे थे -  स्वराज और स्वदेशी. इन दो शब्दों ने...

सार्वजनिक एवं सांस्कृतिक कार्यों से ही समाज परिवर्तन संभव – भय्याजी जोशी

काशी. शनिवार को सार्वजनिक गणेश उत्सव समिति के तत्वाधान में आर्य महिला डिग्री कॉलेज के सभागार में "राष्ट्र निर्माण में युवा शक्ति : गणेश उत्सव...

अमृत महोत्सव – संकल्पबद्ध होकर त्याग व परिश्रम से भारत को परमवैभव संपन्न बनाना है

डॉ. मोहन भागवत सरसंघचालक, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कल (15 अगस्त) भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण होंगे, स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव के निमित्त समारंभ...

सर्वविदित, सुस्पष्ट भारत की पहचान, भारत के “स्व” को नकारा गया..!!

[caption id="attachment_28204" align="aligncenter" width="1280"] File Photo[/caption] सर्वानुमति से लिया गया ध्वज समिति का निर्णय क्यों नहीं स्वीकार हुआ? डॉ. मनमोहन वैद्य सह सरकार्यवाह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक...

भारतीय हिन्दू चिंतन, व जीवन दर्शन को दुनिया स्वीकार करने लगी है – विनीत नवाथे

बड़वाह. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ सह प्रांत कार्यवाह विनीत नवाथे ने कहा कि संघ शाखा व्यक्ति निर्माण व लोक संस्कार का एक अनूठा उदाहरण है. डॉ....