करंट टॉपिक्स

इतिहास स्मृति – गोवंश रक्षा हेतु महान आन्दोलन

स्वतन्त्र भारत के इतिहास में 7 नवम्बर, 1966 का दिन बड़ा महत्वपूर्ण है. इस दिन राजधानी दिल्ली में संसद भवन के सामने गोवंश की रक्षा...

भारतीय राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रणेता वीर सावरकर – उदय माहुरकर

सीकर. शेखावाटी साहित्य संगम के दूसरे दिन का शुभारंभ आशुतोष द्वारा बाँसुरी वादन के साथ किया गया. प्रथम सत्र के मुख्य अतिथि भारतीय गणराज्य के...

Global Hunger Index और भारत विरोधी षड्यंत्र

Global Hunger Index से जुड़ी रिपोर्ट सामने आने के बाद से विवाद खड़ा हो गया है. दरअसल, इस वैश्विक सूचकांक में भारत को 121 देशों...

हैदराबाद नि:शस्त्र प्रतिरोध – जब बाबासाहेब आंबेडकर ने हैदराबाद निजाम को भारत का शत्रु कहा था  

डॉ. श्रीरंग गोडबोले हैदराबाद निजाम के संबंध में तत्कालीन तीन महत्वपूर्ण राष्ट्रीय नेताओं की भूमिकाओं को समझना आवश्यक है. ये तीन नेता हैं - महात्मा...

भारत के स्वत्व के जागरण के लिए प्रतिबद्ध संघ

रायपुर, छत्तीसगढ़. रायपुर में संपन्न तीन दिवसीय अखिल भारतीय समन्वय बैठक के संबंध में  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य जी ने...

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का विरोध करने वाले कौन..?

बलबीर पुंज गत 31 अगस्त को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्षा ममता बनर्जी ने कहा, ‘‘...मुझे नहीं लगता कि संघ इतना...

अमृत महोत्सव – ‘स्व’ के लिए पूर्णाहुति : स्वतंत्रता सेनानी बालमुकुंद त्रिपाठी

स्वतंत्रता सेनानी पं. बालमुकुन्द त्रिपाठी का नाम आते ही एक विस्मृत योद्धा का स्मरण हो आता है. पं. बालमुकुंद त्रिपाठी को सविनय अवज्ञा आंदोलन में...

महात्मा गांधी के चित्र को क्षतिग्रस्त करने के मामले में 4 कांग्रेस कार्यकर्ता गिरफ्तार

वायनाड, केरल. राहुल गांधी के वायनाड स्थित कार्यालय में महात्मा गांधी के चित्र को कथित रूप से क्षतिग्रस्त करने के आरोप में राहुल गांधी के...

“स्व की विजय और प्राप्ति के लिए पूर्णाहुति : नेताजी सुभाष चंद्र बोस”

डॉ. आनंद सिंह राणा भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक महारथी सुभाष चंद्र बोस को सन् 1939 में जबलपुर के पवित्र तीर्थ त्रिपुरी में भारत का...

अमृत महोत्सव लेखमाला – सशस्त्र क्रांति के स्वर्णिम पृष्ठ : भाग 17

स्वामी दयानंद, स्वामी विवेकानंद, महर्षि अरविंद आदि संतों ने जगाई राष्ट्रीय चेतना नरेन्द्र सहगल विश्व के एकमात्र राष्ट्र भारत को यदि ‘आध्यात्मिक राष्ट्र’ की संज्ञा से सम्मानित किया जाए...