करंट टॉपिक्स

भारत को भारत की आंखों से देखने का समय

  नई दिल्ली. भारत प्रकाशन द्वारा दिल्ली में आयोजित पर्यावरण संवाद में स्वामी चिदानंद सरस्वती जी ने भारत की विधियों को अपनाने और बढ़ावा देने...

भारतीय मूल्य, संस्कृति, व कहानियों के फिल्मांकन के लिए उत्साहित करता चित्र भारती फिल्मोत्सव

सिनेमाई दुनिया में भारतीय फिल्मों की सार्थक उपस्थिति को समझना हो तो हाल ही में आयोजित चित्र भारती लघु फिल्मोत्सव की उत्सवी बानगी से साक्षात्कार...

वीर सावरकर न होते तो देश को लताजी की आवाज सुनने को न मिलती – डॉ. हरीश भिमानी

भोपाल. चित्र भारती फ़िल्म फेस्टिवल में 26 मार्च को आयोजित तीसरी मास्टर क्लास सुप्रसिद्ध गायिका स्वर्गीय लता मंगेशकर को समर्पित रही. 'यादें : लता मंगेशकर' कार्यक्रम...

भटकाव की राह पर कांग्रेस, गलत प्रयास

राजस्थान में महंगाई विरोधी रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने जिस तरह एक बार फिर हिन्दुत्व को हिन्दू से अलग बताने का प्रयास...

प्रसंगवश – क्योंकि ध्यानचंद हॉकी के भगवान नहीं बने..!

जयराम शुक्ल भारतीय इतिहास में दो महापुरुष ऐसे भी हैं जो भारत रत्नों से कई, कई, कई गुना ज्यादा सम्मानित और लोकमानस में आराध्य हैं....

पर्यावरण संरक्षण और हमारी संस्कृति

सुखदेव वशिष्ठ हमें विश्व का सबसे बड़ा तथा श्रेष्ठ लोकतंत्र होने का गौरव प्राप्त होने के बावजूद आज परिधान से लेकर खान-पान, ज्ञान से लेकर...

समाज में निरंतर बढ़ता संघ का प्रभाव…!!!

बद्री नारायण राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रतिनिधि सभा की बैठक में दत्तात्रेय होसबाले को सरकार्यवाह (संघ में नंबर 2 की पोजिशन) चुना गया. होसबाले बहुत...