You Are Here: Home » Posts tagged "VSK"

    आध्यात्मिक अधिष्ठान और भौतिक समृद्धि से युक्त समतामूलक समाज की स्थापना करना ही संघ का लक्ष्य

    लखनऊ. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अवध प्रान्त द्वारा डॉ. राममनोहर लोहिया विधि विश्वविद्यालय के आम्बेडकर सभागार में आयोजित ‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ - विचार और कार्य’ विषयक संगोष्ठी को मुख्यवक्ता के रूप में अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार जी ने संबोधित किया. उन्होंने कहा कि आज पूरे देश में संघ के प्रति अनुकूलता का माहौल है. समाज जीवन में बहुत बड़ा वर्ग है जो संघ से जुड़ना चाहता है. इस प्रकार की संगोष्ठी का आयो ...

    Read more

    सामाजिक, सांस्कृतिक ध्रुवीकरण के दौर में तटस्थता खतरनाक है

    पुणे (विसंकें). प्रज्ञा प्रवाह के अखिल भारतीय संयोजक जे. नंदकुमार जी ने कहा कि ''वर्तमान में देश में एक बहुत बड़ा सामाजिक और सांस्कृतिक ध्रुवीकरण हो रहा है. इस स्थिति में विचारकों और बुद्धिजीवियों का तटस्थ होना खतरनाक है और इसलिए उन्हें स्पष्ट भूमिका लेनी चाहिए. जे. नंदकुमार जी ऋतम ऐप और महाराष्ट्र एजुकेशन सोसाइटी द्वारा आयोजित मीडिया संवाद परिषद के समापन सत्र में संबोधित कर रहे थे. मंच पर विश्व संवाद केंद् ...

    Read more

    धर्म का अनुसरण करने वाले ही कल्याणकारी योजनाएं चला सकते हैं – डॉ. सुरेंद्र जैन

    देहरादून (विसंकें). हिमालय हुंकार पाक्षिक पत्रिका का ‘धर्म और राजनीति’ विशेषांक का विमोचन महादेवी कन्या पाठशाला के सभागार में सम्पन्न हुआ. हिन्दू महाविद्यालय रोहतक के पूर्व प्राचार्य एवं विश्व हिन्दू परिषद के संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेंद्र जैन जी ने धर्म के महत्व का वर्णन करते हुए कहा कि क्रूर राजनीति को धर्म ही सही राह पर लाता है. अभी तक हम धर्म का सही अर्थ नहीं समझ पाए हैं, धर्म का सम्बन्ध किसी पंथ या पूज ...

    Read more

    ‘आजाद हिन्द सरकार के 75 वर्ष’ पर राष्ट्रदेव के विशेषांक का विमोचन

    मेरठ. विश्व संवाद केन्द्र मेरठ द्वारा प्रकाशित राष्ट्रदेव पत्रिका के विशेषांक ‘आजाद हिन्द सरकार के 75 वर्ष’ का विमोचन किया गया. राष्ट्रदेव के सम्पादक अजय मित्तल ने कहा कि 21 अक्तूबर 1943 को सिंगापुर में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने अस्थायी आजाद हिन्द सरकार की घोषणा की थी. उस समय जापान, जर्मनी, चीन, इटली, कोरिया, फिलीपींस आदि नौ देशों ने इसको मान्यता भी प्रदान कर दी थी. उस ऐतिहासिक क्षण में नेताजी ने भरे गले स ...

    Read more

    प्यारे लाल बेरी जी का जीवन

    प्यारे लाल बेरी जी सन् 1946 में अमृतसर में तत्कालीन संघ प्रचारक ठाकुर राम सिंह जी के संपर्क में आने के बाद संघ के स्वयंसेवक बने. दुर्भाग्यवश 1947 में भारत का विभाजन हो गया. आप तब अमृतसर में ही संघ कार्य कर रहे थे. पाकिस्तान से भारत आने वाले लोगों के ठहरने, भोजन की व्यवस्था तथा उनको गंतव्य तक पहुंचाने के लिये बनी 'पंजाब रक्षा समिति' के भी सदस्य थे. अमृतसर में मुस्लिमों द्वारा पाकिस्तान जाने के समय खाली किये ...

    Read more

    समाजहित में सकारात्मक पत्रकारिता की आवश्यकता – ओमप्रकाश सिसौदिया

    ग्वालियर (विसंकें). आद्य पत्रकार देवर्षि नारद जी की जयंती के उपलक्ष्य में रविवार को पत्रकार सम्मान समारोह एवं विचार संगोष्ठी का आयोजन किया गया. "मामा" माणिकचंद वाजपेयी स्मृति सेवा न्यास द्वारा नई सड़क स्थित राष्ट्रोत्थान विवेकानंद सभागार में आयोजित कार्यक्रम में पत्रकारिता क्षेत्र की विभिन्न विधाओं में कार्य करने वाले पत्रकारों का सम्मान किया गया. कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ...

    Read more

    पत्रकारों को अपनी विश्वसनीयता को कायम रखना चाहिए – भाऊ तोरसेकर

    पणजी (विसंकें). वरिष्ठ पत्रकार भाऊ तोरसेकर ने कहा कि अनेक माध्यमों के कारण पाठक, समाज जागृत हुआ है. इसलिए पत्रकारों को इन माध्यमों से आगे जाकर अपनी विश्वसनीयता कायम रखनी चाहिए. पत्रकारों को ने संदर्भ देने चाहिए. पत्रकारिता दायित्त्व का काम है, संरक्षण मांग कर पत्रकारों का निर्भय पत्रकारिता करना संभव नहीं. वे विश्व संवाद केंद्र, मुंबई राष्ट्रीय स्वधर्म संस्कार मंडल, पणजी के संयुक्त तत्वाधान में नारद जयंती के ...

    Read more

    ऋतम् (Ritam) व चौथा खम्भा न्यूज़ ने आयोजित किया सोशल मीडिया कॉन्क्लेव

    गुरुग्राम. चौथा खम्भा न्यूज़ व ऋतम् (Ritam) ने गुरुग्राम में 28 अप्रैल को सोशल मीडिया कॉन्क्लेव का आयोजन किया. इसमें प्रो. राकेश सिन्हा, कपिल मिश्रा, डॉ. नील, मनोज कुरील और अधिवक्ता प्रशांत उमराव पटेल ने वक्ता के रूप में भाग लिया. कॉन्क्लेव का उद्देश्य सोशल मीडिया के बढ़ते प्रभाव, इसका सदुपयोग एवं मुख्य चेतावनियां रहा. डॉ. नील ने पावर ऑफ सोशल मीडिया के बारे में कहा कि सोशल मीडिया से आम आदमी को अपनी भावना को र ...

    Read more

    पत्रकार होली मिलन कार्यक्रम का आयोजन

    मेरठ. होली का त्यौहार हमारी सामाजिक समरसता, सांस्कृतिक एवं भारतीयता का प्रतीक है. होली का पर्व भारत में 2400 वर्षों से अधिक समय से मनाया जा रहा है. वरिष्ठ पत्रकार एवं आईआईएमटी विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष डॉ. नरेन्द्र मिश्र ने विश्व संवाद केन्द्र द्वारा आयोजित ‘पत्रकार होली मिलन समारोह’ में संबोधित किया. उन्होंने कहा कि आज ही भारत के विभिन्न प्रदेशों में होली को अलग-अलग स्वरूपों के साथ मनाया ...

    Read more

    ध्येयनिष्ठ पत्रकारिता के प्रतीक हैं मामाजी माणिकचंद्र वाजपेयी – रामबहादुर राय

    भोपाल (विसंकें). विश्व संवाद केंद्र की ओर से 'ध्येयनिष्ठ पत्रकारिता' विषय पर आयोजित परिसंवाद में मुख्य वक्ता वरिष्ठ पत्रकार रामबहादुर राय ने कहा कि मामाजी माणिकचंद्र वाजपेयी श्रेष्ठ संपादकों की श्रेणी में तो थे ही, वह आपातकाल में लोकतंत्र के सिपाही भी थे. आपातकाल के समय लोकतंत्र की रक्षा के लिए वह जेल तक गए. उनकी पत्रकारिता की यात्रा को देखें तो पाएंगे कि मामाजी ध्येयनिष्ठ पत्रकारिता के प्रतीक हैं. इस अवसर ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top