करंट टॉपिक्स

बेंगलुरु हिंसा में आतंकी कनेक्शन – गिरफ्तार संदिग्ध के अल-हिंद के सदस्यों से भी संपर्क

Spread the love

2016 में संघ कार्यकर्ता रुद्रेश की हत्या के मामले में आरोपियों के संपर्क में भी रहा

बेंगलुरू (विसंकें). बेंगलुरु हिंसा के मामले में आतंकी कनेक्शन भी सामने आ रहे हैं. पुलिस ने जानकारी दी है कि हिंसा के मामले में एक संदिग्ध व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है. यह व्यक्ति राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता की हत्या के मामेल से संबंधित आरोपियों के संपर्क में भी था. साथ ही पिछले कुछ वर्षों से आतंकवादी संगठन अल-हिंद के सदस्यों के संपर्क में भी था. संयुक्त पुलिस आयुक्त संदीप पाटिल ने संदिग्ध व्यक्ति को हिरासत में लिये जाने के संबंध में जानकारी दी.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बेंगलुरू के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त संदीप पाटिल ने सोमवार को जानकारी दी कि शहर के देवराजीवन हल्ली (डीजे हल्ली) में हुई हिंसा की जांच कर रही अपराध शाखा ने एक व्यक्ति समीउद्दीन को हिरासत में लिया है. यह व्यक्ति राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता रुद्रेश की हत्या के आरोपियों के संपर्क में था और पिछले कुछ साल से अल हिंद का सदस्य है.

जांच में जानकारी मिली कि समीउद्दीन रूद्रेश हत्या मामले के आरोपियों के संपर्क में था और पिछले कुछ साल से अल हिंद का सदस्य रहा है. आगे पूछताछ के लिए समीउद्दीन को पुलिस हिरासत में रखा जाएगा.

बाइक पर सवार युवकों ने अक्तूबर 2016 में रूद्रेश की हत्या कर दी थी, रुद्रेश शहर में शिवाजी नगर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद घर लौट रहा था. मामले के संबंध में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था. बहरहाल, अपराध शाखा के सूत्रों ने बताया कि एक क्षेत्रीय दल से जुड़े एक और व्यक्ति को हिंसा मामले में गिरफ्तार किया गया है. शहर में 11 अगस्त की रात हिंसा और आगजनी के मामले में 260 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया है. सोशल मीडिया पर कथित भड़काऊ पोस्ट के बाद हिंसा के दौरान पुलकेशीनगर के कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति और उनकी बहन को निशाना बनाया गया था.

तथाकथित विवादित फेसबुक पोस्ट के पश्चात भीड़ ने 11 अगस्त को पुलकेशीनगर के कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति  के घर में आग लगा दी थी. सैकड़ों वाहनों को आग के हवाले कर दिया था. पुलिस स्टेशन, पुलिस वाहनों को आग के हवाले करने के साथ ही पुलिस कर्मियों पर हमला किया था. जिसमें 60 से अधिक पुलिस कर्मी घायल हुए थे.

इस मामले में बेंगलुरु पूर्व के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) एसडी शरणप्पा ने बताया कि “हमने शुक्रवार से अब तक 58 और लोगों को गिरफ्तार किया है, दंगों में उनकी भूमिका के लिए अब तक 264 लोगों को गिरफ्तार किया है.”

“गिरफ्तार किए गए लोगों में से मुख्य आरोपित पूछताछ के लिए हमारी (पुलिस) हिरासत में हैं, जबकि अन्य को शहर के बाहरी इलाके में केंद्रीय जेल और 14 दिनों की न्यायिक हिरासत के तहत बेल्लारी जेल में रखा गया है. दंगों में उनकी भूमिका पर जाँच प्रक्रिया जारी है.”

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *