करंट टॉपिक्स

बलिदानी वीर – अरुणाचल में 1962 के चीन-भारत युद्ध के नायकों और अरुणाचल के नायकों की प्रदर्शनी का उद्घाटन संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने किया

Spread the love

अरुणाचल प्रदेश. 12 दिसंबर 2022 को दोनी- पोलो विद्या निकेतन, तालोम रुक्बो नगर, पासीघाट, अरुणाचल प्रदेश में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने अरुणाचल में 1962 भारत चीन युद्ध के नायकों और अरुणाचल के वीर नायकों सहित बलिदानी वीरों की श्रृंखला को लेकर प्रदर्शनी का उद्घाटन किया. यह प्रदर्शनी अरुणाचल प्रदेश में 1962 के भारत चीन युद्ध के दौरान दृढ़ता से लड़ने वाले भारतीय सैनिकों की वीरता की कहानियों का एक संग्रह है. सभी लेख ग्रुप कैप्टन मोहंतो पैंगिंग पाओ वीएम (सेवानिवृत्त) ने संकलित और प्रस्तुत किए हैं. युद्ध के दौरान कई सैनिक वीरगति को प्राप्त हुए थे. प्रदर्शनी में एक परमवीर चक्र, कई महावीर चक्र और वीर चक्र पुरस्कार विजेताओं को प्रदर्शित किया गया है. कुछ गुमनाम नायक जिन्हें सम्मानित नहीं किया गया था, लेकिन स्थानीय लोगों, यहां तक कि दुश्मन ताकतों द्वारा सम्मानित किया गया था, उन्हें भी प्रदर्शनी में दिखाया गया है. प्रदर्शनी में अरुणाचल के नायकों को भी दिखाया गया है, जिन्होंने दूर-दराज के जम्मू-कश्मीर में राष्ट्र-विरोधी तत्वों से लड़ाई लड़ी. उनमें से कुछ बलिदान हुए और अशोक चक्र, कीर्ति चक्र, सेना पदक आदि जैसे वीरता पुरस्कारों से सम्मानित हुए.

कई गणमान्य व्यक्तियों, अधिकारियों और स्थानीय लोगों ने प्रदर्शनी देखी. प्रदर्शनी को अन्य स्थानों पर आयोजित और प्रदर्शित करने की योजना है और आम जनता के बीच अधिक जागरूकता पैदा करने के लिए भी कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे. सरसंघचालक डॉ. भागवत जी आज से चार दिवसीय दौरे पर पासीघाट पहुंचे हैं. इस अवसर पर अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य वी. भागैय्या जी और अरुणाचल प्रदेश प्रांत कार्यवाह निदो सकतेर भी उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.