करंट टॉपिक्स

अलवर (मेवात) क्षेत्र में हिन्दू समाज का जीना दूभर, अपराधियों पर नहीं हो रही कार्रवाई

Spread the love

अलवर. अलवर जिले के विभिन्न क्षेत्रों में क्षेत्रों में गैर मुस्लिम समाज का रहना दूभर हो गया है. अलवर (मेवात) के रामगढ़, किशनगढ़ बास, तिजारा, राजगढ़, लक्ष्मणगढ़ और अलवर ग्रामीण तहसीलों में मेव मुसलमानों की जनसंख्या काफी बढ़ गई है. और देश के विभिन्न हिस्सों से सामने आती घटनाओं के समान ही यहां भी गैर मुसलमानों की प्रताड़ना का क्रम जारी है. गैर मुस्लिमों की बहन-बेटियों के साथ दुष्कर्म, छेड़छाड़, अनुसूचित जाति समाज की कृषि भूमि पर जबरन कब्जे, उन पर अत्याचार और जबरन मतांतरण जैसी घटनाएं निरंतर सामने आती रहती हैं. प्रताड़नाओं के चलते बड़ी संख्या में हिन्दू समाज के कमजोर वर्गों के लोग अपने घर छोड़कर पलायन करने को विवश हैं. मेव समुदाय के मुसलमान गोकशी, गो-तस्करी, ओएलएक्स के माध्यम से ठगी, टटलूबाजी (सोने की ईंटों के नाम पर ठगी), ट्रकों में व्यापारियों के माल को भरकर ले जाने और फिर बीच में ही विक्रय कर माल हड़प लेने जैसे अपराधों के लिए कुख्यात है. सरकार, पुलिस एवं प्रशासन की निष्क्रियता के चलते अराजक तत्वों का साहस लगातार बढ़ रहा है. पिछले दिनों पुलिस पर गोली चलाने की भी अनेक घटनाएं अलवर जिले में हो चुकी हैं.

विश्व हिन्दू परिषद जिला अध्यक्ष दिलीप मोदी ने कहा कि अलवर जिले के कई क्षेत्रों में हिन्दू बहन बेटियों के साथ दुष्कर्म, छेड़छाड़, अत्याचार और गो तस्करी की घटनाएं बेतहाशा बढ़ी हैं. ठगी की घटनाओं से अलवर बदनाम हो चुका है. खाली भूखण्डों पर कब्जे हो गए हैं. तुष्टीकरण के कारण कोई कार्रवाई नहीं हो रही और अपराधी खुलेआम घूम रहे हैं.

प्रताड़नाओं से परेशान होकर ही हिन्दू समाज सड़कों पर उतरा और मौन जुलूस निकाला. जूलूस में आमजन से लेकर अनेक समाजसेवी और जन प्रतिनिधि शामिल हुए. कंपनी बाग शहीद स्मारक से लेकर जिला कलेक्टर कार्यालय तक रैली निकालकर विरोध प्रदर्शन करते हुए कलेक्ट्रेट का घेराव किया और पिछले दिनों हुई दुष्कर्म की निम्न घटनाओं की ओर राज्यपाल का ध्यान आकर्षित करते हुए उनके नाम एक ज्ञापन भी सौंपा….

  1. ग्राम नाहरपुर, पुलिस थाना रामगढ़, विधानसभा क्षेत्र अलवर ग्रामीण, जून 2021 के अंतिम सप्ताह में ओड समाज की एक नाबालिग 12 वर्षीय बालिका के साथ मेव समाज के 3 युवकों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म किए जाने की घटना हुई. जिसकी प्राथमिकी संख्या 322/21 है, प्राथमिकी पुलिस थाना रामगढ़ में दर्ज कराई गई.
  2. एमआईए अलवर की एक फैक्ट्री में महिला के साथ 2 वर्ष में कई बार सामूहिक दुष्कर्म हुआ, जिसका वीडियो हाल ही में सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. महिला ने अलवर के महिला थाने में केस दर्ज कराया है. जिसकी मुकदमा संख्या 206/21 है.
  3. कोटकासिम थाना क्षेत्र में एक नाबालिग का अपहरण कर ढाई माह तक दुष्कर्म किए जाने का मामला, जिसकी मुकदमा संख्या 139/21 है.
  4. खैरथल थाना क्षेत्र में मुकदमा संख्या 365/21 के अंतर्गत अनुसूचित जाति समाज की नाबालिग बालिका को बहला-फुसलाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म करने का मामला.
  5. खैरथल थाना अंतर्गत मुकदमा संख्या 370/21, नाबालिग बालिका के साथ दुष्कर्म किए जाने का मामला.
  6. भिवाड़ी के चौपानकी थाना क्षेत्र के महिला थाने में दीवानी मुकदमा संख्या 87/21 के अंतर्गत दर्ज 16 वर्षीय बालिका के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला.
  7. देसूला में गोचर भूमि पर अवैध कब्रिस्तान का निर्माण कर कब्जा करने का मामला.

ज्ञापन में कहा गया है कि ऐसी घटनाएं लगभग प्रतिदिन ही घट रही हैं, जिन पर कोई ठोस कार्यवाही भी नहीं होती. इससे ऐसा प्रतीत होता है कि अपराधियों को उनके समाज एवं वर्तमान सत्ताधारी दल के जनप्रतिनिधियों एवं सत्तारूढ़ पार्टी के पदाधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है. उनके दबाव के चलते पुलिस प्रशासन कानून का पालन करवा कर अपराधियों को उचित दंड दिलवाने में भी सक्षम दिखाई नहीं दे रहा है.

ज्ञापन में राज्यपाल से निवेदन किया गया है कि वे राज्य सरकार को गो तस्करी रोकने, हिन्दू धार्मिक स्थलों की सुरक्षा करने और हिन्दू समाज की महिलाओं व बालिकाओं को प्रताड़ित करने वालों की पहचान कर उन्हें उचित दंड दिलवाए जाने की व्यवस्था करने हेतु निर्देशित करें ताकि क्षेत्र में हो रहे हिन्दू समाज के पलायन को रोका जा सके.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *