अनीश, अंजुम, महमूद व तौफीक जैसे मनचले बने एक मासूम परिवार की बर्बादी का कारण Reviewed by Momizat on . अलवर, जयपुर. अपहरण, दुष्कर्म, गोकशी, वाहन चोरी आदि के लिए कुख्यात मेवात क्षेत्र के मुस्लिम बहुल रामगढ़ से एक बार फिर द्रवित कर देने वाला मामला सामने आया है. कुछ अलवर, जयपुर. अपहरण, दुष्कर्म, गोकशी, वाहन चोरी आदि के लिए कुख्यात मेवात क्षेत्र के मुस्लिम बहुल रामगढ़ से एक बार फिर द्रवित कर देने वाला मामला सामने आया है. कुछ Rating: 0
    You Are Here: Home » अनीश, अंजुम, महमूद व तौफीक जैसे मनचले बने एक मासूम परिवार की बर्बादी का कारण

    अनीश, अंजुम, महमूद व तौफीक जैसे मनचले बने एक मासूम परिवार की बर्बादी का कारण

    Spread the love

    अलवर, जयपुर. अपहरण, दुष्कर्म, गोकशी, वाहन चोरी आदि के लिए कुख्यात मेवात क्षेत्र के मुस्लिम बहुल रामगढ़ से एक बार फिर द्रवित कर देने वाला मामला सामने आया है. कुछ मनचलों की हरकतों के कारण एक मासूम परिवार अनाथ हो गया.

    पिछले सप्ताह रामगढ़ थाना क्षेत्र की एक नाबालिग किशोरी ने मनचलों से परेशान होकर कुएं में कूद कर आत्महत्या करने का प्रयास किया था. जानकारी में आया कि बालौतनगर निवासी मुस्लिम युवक अनीश हिन्दू बच्ची का पिछले डेढ़ वर्ष से पीछा कर रहा था और उस पर गलत काम करने के लिए दबाव बना रहा था. उसकी हरकतों से परेशान होकर किशोरी ने स्कूल जाना भी छोड़ दिया था. बार-बार की समझाने के बाद भी युवक के चाल-चलन में कोई अंतर नहीं आया. पिछले दिनों उसने लड़की के परिवार वालों को नींद की गोली खिला बच्ची पर फिर दबाव बनाने की कोशिश की. परेशान होकर किशोरी ने कुएं में कूदकर जान देने का प्रयास किया. घटना के बाद  पुलिस ने अनीश उसके भाई अंजुम, महमूद व दोस्त तौफीक पर किशोरी से छेड़छाड़ व पॉक्सो एक्ट के अंतर्गत मामला दर्ज किया.

    लेकिन बात यहीं पर समाप्त नहीं हुई. दो दिन बाद किशोरी के पिता श्रवण का शव घर से 500 मीटर दूर एक पेड़ से लटका मिला. पीड़ित पक्ष ने आरोपी के परिजनों पर पिता को बुला कर पेड़ से लटका कर जान से मारने का आरोप लगाया. तो आरोपी इसे आत्महत्या बता रहे हैं. पुलिस ने मामले में हत्या का केस दर्ज किया है.

    इस मामले में पुलिस भी कटघरे में है. युवती के भाई द्वारा रिपोर्ट दर्ज कराने के बावजूद दो दिन तक पुलिस द्वारा रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई थी. तीसरे दिन मीडिया में मामला बढ़ता देख रिपोर्ट दर्ज की गई. जिसमें एसएचओ रामकिशन ने बताया था कि दो दिन तक नेट समस्या के कारण रिपोर्ट दर्ज करने में देरी हुई. किशोरी के पिता का शव मोर्चरी में रखवा दिया गया था.

    यह था घटनाक्रम
    रामगढ़ कस्बे में 18 जून को नाबालिग ने घर के पास बने कुएं में छलांग लगा ली, हालांकि घरवालों ने उसे बचा लिया. तब भाई आरोपियों के खिलाफ शिकायत करने रामगढ़ थाने पहुंचा. मगर नाबालिग के साथ दुष्कर्म की रिपोर्ट 20 जून की शाम को दर्ज हुई. पुलिस ने आरोपी को पहले शांतिभंग में बाद में पॉक्सो में गिरफ्तार किया. इसके बाद आरोपी पीड़ित परिवार पर लगातार राजीनामे का दबाव बनाते रहे. लेकिन पीड़ित पक्ष ने उनकी बात नहीं मानी. जिसके चलते 24 जून को पीड़िता के पिता का घर के पास पेड़ पर फांसी लगा शव मिला. घटना के बाद परिजनों ने आरोपी के 4 परिजनों पर नामजद हत्या का मामला दर्ज करवाया.


    विहिप ने पीड़ित परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग की
    अलवर. रामगढ़ कस्बे में नाबालिग के साथ हुई दुष्कर्म की घटना व पिता की मौत के मामले में विश्व हिन्दू परिषद के पदाधिकारी शुक्रवार को पीड़ित परिवार से मिले.

    विहिप क्षेत्रीय मंत्री सुरेश उपाध्याय ने प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि पीड़ित परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है. जिस कारण इस केस को कार्यकर्ताओं द्वारा लड़ा जाएगा. उन्होंने दोषियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करने और जांच कर दोषी पुलिसकर्मियों को निलंबित करने की मांग की. वह प्रशासन से पीड़ित परिवार को मुआवजा देने व योग्यता अनुसार सरकारी नौकरी की मांग करते हैं. उन्होंने यह भी बताया कि 29 जून को होने वाली शादी में सभी कार्यकर्ता पीड़ित परिवार का आर्थिक सहयोग करेंगे.

    •  
    •  
    •  
    •  
    •  

    About The Author

    Number of Entries : 6865

    Comments (1)

      Leave a Comment

      हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

      VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

      Scroll to top