करंट टॉपिक्स

वीर पुरुषों की गाथाएं गौरव भाव का जागरण करती हैं – सुनील कुलकर्णी

Spread the love

गुणवत्ता पथ संचलन के माध्यम से हुतात्माओं का किया स्मरण

भोपाल. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय शारीरिक शिक्षण प्रमुख सुनील कुलकर्णी ने कहा कि हमारा देश फिर से विश्वगुरु बने, इसके लिए संघ अपनी स्थापना के समय से कार्य कर रहा है. वीर पुरुषों की गाथाएं संघ की शाखाओं और कार्यक्रमों में स्वयंसेवकों को सुनाई जाती हैं ताकि समाज में गौरव का भाव जागृत हो सके.

उन्होंने शौर्य स्मारक पर गुणवत्ता पथ संचलन के बाद मानवंदन कार्यक्रम में कहा. इस अवसर पर प्रान्त संघचालक अशोक पांडेय, विभाग संघचालक डॉ. राजेश सेठी, ब्रिगेडियर आर. विनायक, कर्नल भारत भूषण उपस्थित रहे. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भोपाल विभाग की ओर से 1 जनवरी, 2022 शनिवार को स्वाधीनता के अमृत महोत्सव के तहत गुणवत्ता पथ संचलन का आयोजन किया गया. जिसमें 500 से अधिक स्वयंसेवकों ने सहभागिता की. संचलन ठीक 4:30 बजे जवाहर चौक अटल पथ से प्रारंभ होकर तय समय पर शौर्य स्मारक पर पूर्ण हुआ. पथ संचलन जवाहर चौक (अटल पथ) से प्रारंभ होकर प्लेटिनम प्लाजा,  नानक पेट्रोल पंप, शिवाजी प्रतिमा से होते हुए शौर्य स्मारक पहुंचा. यहाँ अमर जवान ज्योति के सामने स्वयंसेवकों ने घोष के माध्यम से मानवंदन कर भारत की स्वतंत्रता के लिए अपना योगदान देने वाले स्वतंत्रता सेनानियों एवं क्रांतिकारियों के प्रति श्रद्धा व्यक्त की.

भोपाल विभाग के संघचालक डॉ. राजेश सेठी ने बताया कि देश में स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है. इसके अंतर्गत अपने महापुरुषों का स्मरण कर उनके प्रति श्रद्धांजलि दी जा रही है. संघ ने भी अखिल भारतीय योजना से गुणवत्ता पथ संचलन और मानवंदना कर नायकों को अपनी श्रद्धांजलि दी.

गुणवत्ता पथ संचलन में लगभग 500 चयनित स्वयंसेवक पूर्ण गणवेश में शामिल हुए. इसके लिए स्वयंसेवकों ने लगभग 3 महीने अपने शाखा स्थान पर नियमित अभ्यास किया. नागरिकों, सामाजिक, धार्मिक संगठनों द्वारा पथ संचलन के दौरान महापुरुषों के चित्रों पर पुष्पांजलि की. संचलन मार्ग में अनेक स्थानों पर विभिन्न सामाजिक संगठनों ने स्वयंसेवकों का जयघोष के साथ स्वागत किया.

रविवार को शारीरिक प्रकटोत्सव कार्यक्रम

इसी क्रम में 2 जनवरी रविवार को करोंद स्थित पीपुल्स स्कूल में शाम 4:00 बजे से प्रकटोत्सव कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. जिसमें स्वयसेवकों द्वारा दंड संचालन, शारीरिक योग-व्यायाम, समता, केरल की युद्धशैली कल्लरी, घोषदल द्वारा घोषवादन आदि की प्रस्तुति दी जाएगी.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *