करंट टॉपिक्स

सर्वत्र मंगल करना, यही भारत का प्रयोजन है – डॉ. मोहन भागवत जी

गणतंत्र दिवस पर सरसंघचालक व सरकार्यवाह ने फहराया तिरंगा

कर्णावती. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कर्णावती संघ कार्यालय में आयोजित गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में ध्वज वंदन किया.

उन्होंने कहा कि हम जब “जन गण मन” गाते हैं, तब ध्यान में आता है कि भारत भाग्य विधाता को नमन करके हम अपने देश का स्मरण करते हैं. देश की भूमि, उसकी सीमाएं, पहाड़, नदियां, जन, जंगल, पशु, पुत्र, पर्यावरण, भूमि यह सभी हमारी आंखों के सामने आते हैं. भारतीय लोग आस्तिक बुद्धि के लोग हैं. अपनी श्रद्धा को सुरक्षित रख कर देश के लिए प्रार्थना करते हैं, उस प्रार्थना में भारत माता के स्वरूप का वैचारिक दृष्टि से दर्शन करके और भारत माता के पूजन के समय उनके अखंड स्वरूप का चिंतन करते हैं. हम कहते हैं “तव शुभ नामे जागे” जिसमें जागृति का प्रत्यक्ष स्वरूप संविधान सम्मत तिरंगा ध्वज है.

तिरंगे के रंग त्याग, पवित्रता, समृद्धि के प्रतीक हैं. सब को स्वीकारना, संयम पूर्वक जीवन जीना और सतत कर्म करते हुए सर्वत्र मंगल करना, यही अपने देश का प्रयोजन है. भाषण से नहीं खुद के जीवन से लोगों का मार्गदर्शन करना चाहिए. मन की समृद्धि की आराधना करने वाले शुद्ध चरित्र वाले लोग जब सतत प्रयास करेंगे, तब शुभ नाम से भारत जागेगा.

यह अपना गणतंत्र है, जिसे चलाने वाले हम ही हैं. हमारे संविधान में नागरिक अधिकार के साथ नागरिक दायित्व की भी बात कही है. संविधान पढ़ते ही देश को किस दिशा में आगे ले जाना है, वह पता चलता है, इसीलिए उसे अवश्य पढ़ना चाहिए.

हर साल ध्वज वंदन होता है, लेकिन उसके पीछे का भाव, उद्देश्य बना रहना चाहिए. और कार्य करते रहना चाहिए, यही आज के दिन का पाथेय है.

26 जनवरी, 2021

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भय्याजी जोशी ने 72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर त्रिपुरा के अगरतला में त्रिपुरेश्वरी विद्या मंदिर गांधीग्राम में आयोजित कार्यक्रम में ध्वजारोहण व ध्वज वंजदन किया. कार्यक्रम में त्रिपुरा प्रान्त के प्रान्त संघचालक बिमलकांति रॉय जी भी उपस्थित रहे.

इसके अलावा गणतंत्र दिवस के पावन पर्व पर महाल स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के केंद्रीय कार्यालय, में भी राष्ट्रध्वज फहराया गया. नागपुर महानगर के संघचालक राजेश जी लोया ने तिरंगा फहराया तथा ध्वज वंदन किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *