करंट टॉपिक्स

संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन – अबेई में तैनात होगी भारतीय महिला शांति सैनिकों की पलटन

Spread the love

नई दिल्ली. भारत संयुक्त राष्ट्र शांति स्थापना के लिए सबसे बड़े सैन्य योगदान करने वाले देशों में से है. भारत संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन के लिए पूरी महिलाओं की टुकड़ी को तैनात करने वाला है. भारतीय दल, में दो अधिकारी और 25 अन्य रैंक शामिल हैं. वे एक प्लाटून के रूप में काम करेंगे और सुरक्षा संबंधी कई कर्तव्यों को पूरा करने के अलावा Community Outreach पर भी कार्य करेंगे.

संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने गुरुवार को दल की एक तस्वीर के साथ ट्वीट किया. इसमें रुचिरा कंबोज ने लिखा – ”#Abyei @UNISFA_1 में संयुक्त राष्ट्र मिशन के लिए हमारी बटालियन के हिस्से के रूप में शांति सैनिकों की एक #महिला पलटन तैनात कर रहा है. यह हाल के वर्षों में महिला #शांतिरक्षकों की अकेली सबसे बड़ी तैनाती है. टीम को शुभकामनाएं!”

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन ने एक बयान में कहा कि महिला शांति सैनिकों की पलटन को 6 जनवरी, 2023 को अबेई में तैनात किया जाएगा. संयुक्त राष्ट्र अंतरिम सुरक्षा बल में भारतीय बटालियन के हिस्से के रूप में ये तैनाती की जाएगी. साल 2007 में लाइबेरिया में पहली बार महिलाओं की टुकड़ी को तैनात करने के बाद से ये संयुक्त राष्ट्र मिशन में महिला शांति सैनिकों की भारत की सबसे बड़ी एकल इकाई होगी. ये शांति रक्षक दलों में भारतीय महिलाओं की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि करने के भारत के इरादे को भी आगे बढ़ाएगी.

भारतीय महिलाओं की समृद्ध परंपरा

भारतीय दल में दो अधिकारी और 25 अन्य रैंक शामिल हैं. अबेई में हाल ही में हिंसा की बढ़ी घटनाओं के कारण महिलाओं और बच्चों को लेकर चुनौतीपूर्ण मानवीय चिंताएं पैदा हुई हैं. “भारतीय महिलाओं की विशेष रूप से शांति स्थापना में एक समृद्ध परंपरा है.”

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन के बयान में कहा गया कि संयुक्त राष्ट्र की पहली पुलिस सलाहकार डॉ. किरण बेदी, यूनाइटेड नेशंस मिलिट्री जेंडर एडवोकेट ऑफ द ईयर अवार्ड 2019 से सम्मानित मेजर सुमन गवानी और शक्ति देवी ने यूएन पीसकीपिंग में अपनी पहचान बनाई है.

भारत उन राष्ट्रों में शामिल है जो संयुक्त राष्ट्र शांति सेना में सबसे अधिक सैनिक भेजते हैं. उदाहरण – कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य में संयुक्त राष्ट्र संगठन स्थिरीकरण मिशन में भारत दूसरा सबसे बड़ा सैन्य और पाँचवा सबसे बड़ा पुलिस योगदान देने वाला देश है. रिपोर्ट्स के अनुसार, वर्ष 1948 से 2,60,000 से अधिक भारतीयों ने संयुक्त राष्ट्र के 49 शांति अभियानों में सेवा दी है. वर्ष 2007 में भारत संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन में एक महिला दल को तैनात करने वाला पहला देश बना.

Leave a Reply

Your email address will not be published.