करंट टॉपिक्स

वैक्सीनेशन – देश में 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए 01 मार्च से टीकाकरण अभियान

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने अगले चरण में सामान्य नागरिकों के लिए टीकाककण अभियान की घोषणा कर दी. टीकाकरण का अगला चरण 01 मार्च से प्रारंभ होगा. जिसके तहत 45 वर्ष से अधिक आयु के बीमार लोगों तथा 60 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को टीकाकरण अभियान में शामिल किया जाएगा. केंद्र सरकार द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 10 हजार सरकारी केंद्रों और 20 हजार निजी अस्पतालों में कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा. दोनों आयु वर्ग के लोग सरकारी केंद्रों में जाते हैं तो उनके लिए टीका निःशुल्क होगा, लेकिन निजी अस्पतालों में इसके लिए पैसे देने होंगे.

वर्तमान में देशभर में टीकाकरण अभियान चल रहा है, जिसमें स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीकाकरण किया जा रहा है.

सरकार ने बुधवार को निर्णय लिया कि 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों तथा किसी दूसरी बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को 1 मार्च से कोरोना वायरस रोधी टीका सरकारी केंद्रों पर नि:शुल्क लगाया जाएगा. वहीं, निजी क्लिनिकों एवं केंद्रों पर उन्हें इसके लिए शुल्क देना पड़ेगा. केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इसका निर्णय किया गया.

बैठक के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने संवाददाताओं को बताया कि कोरोना वायरस रोधी टीका 1 मार्च से लगाया जाएगा. इस श्रेणी में लोगों को 10 हजार सरकारी केंद्रों पर टीका लगाया जाएगा. निजी केंद्र पर टीकाकरण का शुल्क कितना होगा, इसके बारे में विचार विमर्श करने के बाद स्वास्थ्य विभाग दो-तीन दिनों में घोषणा करेगा. स्वास्थ्य मंत्रालय इस संबंध में मैन्यूफेक्चरर्स और अस्पतालों से बात कर रहा है.

देश में टीकाकरण की स्थित

25 फरवरी, प्रातः 7 बजे तक 2,64,315 सत्रों के माध्यम से 1,26,71,163 लोगों को टीके लगाए जा चुके हैं. इनमें 65,47,831 एचसीडब्ल्यू (पहली खुराक), 16,16,348 एचसीडब्ल्यू (दूसरी खुराक) और 45,06,984 एफएलडब्ल्यू (पहली खुराक) शामिल हैं.

कोविड-19 टीकाकरण की दूसरी खुराक 13 फरवरी, 2021 को उन लाभार्थियों के लिए शुरू की गई, जिन्हें पहली खुराक लिए 28 दिन पूरे हो चुके हैं. फ्रंटलाइन कर्मियों का टीकाकरण 2 फरवरी 2021 को शुरू हुआ था.

टीकाकरण अभियान के 40वें दिन (24 फरवरी, 2021) को 5,03,947 लोगों को कोविड के टीके लगाए गए. जिसमें से, 2,87,032 लाभार्थियों को  9,959 सत्रों में पहली खुराक (एचसीडल्ब्लू और एफएलडब्ल्यू) दी गई और 2,16,915 एचसीडब्ल्यू को वैक्सीन की दूसरी खुराक दी गई. कुल 1,26,71,163 दवाई की खुराक में से 1,10,54,815 (एचसीडब्ल्यू और एफएलडब्ल्यू) को वैक्सीन की पहली खुराक मिली है और कुल 16,16,348 एचसीडब्ल्यू को वैक्सीन की दूसरी खुराक दी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *