करंट टॉपिक्स

विदिशा – मुरवास में विहिप प्रान्त संगठन मंत्री व हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं पर हमला

 

विदिशा. जिले के मुरवास में विहिप प्रांत संगठन मंत्री खगेंद्र भार्गव सहित हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं पर मुस्लिम समुदाय के सैकड़ों लोगों द्वारा जानलेवा हमला किया गया. बीते दिनों मुरवास के दबंग वन माफिया ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर दलित सरपंच आशादेवी के पति संतराम बाल्मीकि की ट्रैक्टर से कुचलकर हत्या कर दी थी. प्रान्त संगठन मंत्री खगेन्द्र भार्गव के साथ विहिप, हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ता पीड़ित परिवार से मिलने के लिए जा रहे थे. इसी दौरान मुरवास में जिहादी भीड़ ने गाड़ियों को घेरकर हमला किया. विहिप के पदाधिकारियों को पुलिस की सुरक्षा में थाने लाया गया, उसके बाद भी बड़ी संख्या में भीड़ ने पुलिस थाने को घेरे रखा. इस दौरान भड़काऊ नारेबाजी भी की गयी.

घटना के बाद बड़ी संख्या में आस पास के गांवों से भीड़ जमा हो गयी थी, जिससे किसी तरह विहिप और हिन्दू जागरण मंच के नेताओं को बचाया जा सका. पुलिस के समझाने के बाद भी भीड़ शांत होने को तैयार नहीं थी. इसके बाद भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गयी. स्थिति की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया है.

घटना के बाद विहिप के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि “विदिशा में बाल्मीकि समाज की सरपंच के पति संतराम की इस्लामिक जिहादियों द्वारा हत्या व उनसे मिलने गए विहिप पदाधिकारियों पर पत्थरों व गोलियों से हमला बेहद निंदनीय है. घटना ने मीम और भीम के नारे लगाने वालों की भी पोल खोल दी है.”

विश्व हिन्दू परिषद्, मध्यभारत ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर घटना की निंदा की. स्थानीय हिन्दू परिवारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की भी मांग की गई. विहिप मध्यभारत प्रान्त ने कहा कि “इस घटना से आप सभी समझ सकते हैं कि जब बाहर से आने वालों पर ये हमला कर सकते हैं, तो इस क्षेत्र के हिन्दुओं की स्थिति कितनी भयावह होगी. प्रान्त मंत्री पप्पू वर्मा ने कहा कि यह घटना बहुत ही गम्भीर है, प्रशासन हमला करने वालों पर कार्रवाई करे. चेतावनी देते हुए कहा कि इस घटना पर प्रशासन तुरंत कार्यवाही करे, वर्ना हिन्दू समाज स्वयं उत्तर देगा. साथ ही वहां के वाल्मीकि समाज के बंधुओं को सुरक्षा प्रदान की जाए.”

क्या है पूरा मामला ?

विदिशा जिले की लटेरी तहसील के अंतर्गत मुरवास गांव में दबंग वन माफियाओं ने दलित समाज से ताल्लुक रखने वाले संतराम बाल्मीकि की ट्रैक्टर से कुचल कर निर्मम हत्या कर दी थी. संतराम बीते वर्षों से लगातार वन माफिया के खिलाफ मोर्चा खोले हुए थे, जिससे आक्रोशित माफियाओं ने भरी दोपहर में संतराम की ट्रैक्टर से कुचल कर हत्या कर दी.

हत्या की खबर लगते ही सिरोंज सहित लटेरी के कई समाजिक संगठनों के लोग मुरवास पहुंचे और जमकर नारेबाजी करते हुए सड़क पर चक्का जाम कर डाला.

One thought on “विदिशा – मुरवास में विहिप प्रान्त संगठन मंत्री व हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं पर हमला

  1. सभी राजनीतिक पार्टी सामने आए या साफ इनकार करें ।मुगलों का अत्याचार ज्यादा बढ़ गया है ।सभी हिन्दू संगठित होकर सामना करें यदि आप सब जबाब नहीं दिए तो हिन्दुओं का विनाश निश्चित ही है ।सभी हिन्दू हथियार से लैस हो।जय श्रीराम जी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *