करंट टॉपिक्स

छद्म प्रचार का तर्कसंगत जवाब देने का प्रयास है विश्व संवाद केन्द्र- मनोज कुमार जी

Spread the love

उदयपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ उत्तर पश्चिम क्षेत्र के सह क्षेत्र प्रचार प्रमुख मनोज कुमार ने कहा कि संचार व प्रसार माध्यमों में भारत व भारत के राष्ट्रीय विचारों के संगठनों के विरुद्ध लंबे समय से चलाए जा रहे दुष्प्रचार का तर्कसंगत एवं तथ्यात्मक जवाब देने तथा यथार्थ को जनमानस में प्रसारित करने के उद्देश्य से विश्व संवाद केंद्र की स्थापना की गई. 13 फरवरी, 2000 को उदयपुर में विश्व संवाद केंद्र की स्थापना हुई थी. जिसका उद्घाटन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तत्कालीन अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख सुरेश सोनी ने किया था.

मनोज कुमार शनिवार को उदयपुर में चित्तौड़ प्रांत के विश्व संवाद केंद्र के 21वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में संबोधित कर रहे थे. इसी दौरान ‘युद्ध में अयोध्या’ की समीक्षा भी हुई.

‘आज के वैचारिक युग में विश्व संवाद केंद्र की भूमिका’ विषय पर उन्होंने कहा कि हिंदू विचार एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा अन्य राष्ट्रीय संगठनों व राष्ट्रीय विचारधारा के खिलाफ योजनागत षड्यंत्र के तहत दुष्प्रचार किया जाता रहा है. हिंदू दर्शन व जीवन मूल्यों को विकृत ढंग से पेश किया जाता है. तथ्यों को तोड़मरोड़ कर संदर्भों को काट-छांट कर प्रसारित किया जाता है. इस वजह से समाज भ्रमित होता है. उन्होंने कहा कि विश्व संवाद केंद्र समाज के चिंतन को यथार्थ दृष्टिकोण देने की दिशा में प्रबुद्धजनों व प्रचार प्रसार माध्यमों के बीच सेतु की तरह है. आज देश में 38 संवाद केंद्र चल रहे हैं. विश्व संवाद केंद्र किसी भी समाचार के तथ्यों की जड़ तक जाकर उसके वास्तविक तथ्यों को प्रस्तुत करने का प्रयास करता है. उन्होंने कहा कि आज प्रसार माध्यमों में सोशल मीडिया पर फेक न्यूज व अंतरराष्ट्रीय षड्यंत्र को उजागर करने में विश्व संवाद केंद्र की अहम भूमिका है.

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ चित्तौड़ प्रांत के प्रांत कार्यवाह दीपक शुक्ल ने कहा कि विश्व संवाद केंद्र राष्ट्रीय महत्व के विषयों को सही रूप से जनमानस तक पहुंचाने का एक सशक्त माध्यम है तथा आज के युग में उसकी महत्वपूर्ण भूमिका है।

इस अवसर पर विश्व संवाद केंद्र प्रभारी कमल प्रकाश रोहिला ने संवाद केंद्र की विभिन्न गतिविधियों की जानकारी दी. संवाद केंद्र द्वारा समाचार संकलन कर मीडिया में प्रसारण, नागरिक पत्रकारिता व सोशल मीडिया के प्रशिक्षण, पत्रकार वार्ता का आयोजन, वैचारिक पत्रिका ‘राष्ट्रीय संवाद’ का प्रकाशन व राष्ट्रीय महत्व के विषयों पर अन्य पुस्तकों के प्रकाशन तथा आद्य संवाददाता देवर्षि नारद जयंती पर पत्रकार सम्मान समारोह आदि कार्यक्रमों का आयोजन करता है.

 

 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *