करंट टॉपिक्स

हम अपने इतिहास को भारतीय दृष्टिकोण से देख रहे हैं

Spread the love

नई दिल्ली. 03 जून को दिल्ली में #सम्राट_पृथ्वीराज_चौहान की स्पेशल स्क्रीनिंग के पश्चात राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि एक दर्शक के नाते मैं कहता हूं कि जो मैग्नीफिसेंस और क्वालिटी हमको दुनिया के चित्र जगत में स्पर्धा में खड़ा कर सकता है, ऐसा हमको यहां पर देखने को मिल रहा है, ये बहुत अच्छी बात है. और विषय को भी आज के भारत में जो संदेश देना चाहिए, वो संदेश बहुत अच्छी तरह से, किसी भी प्रकार से समझौता न करते हुए, लेकिन किसी भी प्रकार से कोई विरोध प्रतिक्रिया खड़ी न करते हुए, यथातथ्य दिया गया है. और सबसे अच्छी बात मुझे ये लगती है कि पृथ्वीराज चौहान, मोहम्मद गौरी की लड़ाई, मत चूको चौहान…ये सब हम पहले भी पढ़ चुके हैं, लेकिन किसी और ने लिखा है. उसका हमने पढ़ा है. भारत की भाषा में, भारत में लिखा हुआ जो चित्रिकृत किया गया वो आज हम पहली बार देख रहे हैं. हमारे इतिहास को भी हम अपनी नजर से, अपने हृदय से समझ रहे हैं और ये समझने का मौका देशवासियों को मिलेगा तो निश्चित ही इसका परिणाम देश के भविष्य पर बहुत अच्छा होगा. भारतवासी सब एक होकर भारत के सम्मान की रक्षा करने में उसी प्रकार से पराक्रमी होंगे, जिस प्रकार से उन पराक्रमी वीरों को इन चित्रों में दिखाया गया है.

मैं बहुत हृदय से आप सभी का,आप दोंनों का विशेषकर और जो-जो इस निर्मिति में सहभागी हुए हैं, उन सबका बहुत अभिनंदन करता हूं. और औपचारिक शुभकामना देने का कोई तुक नहीं है क्योंकि हम सब साथ में ही हैं.

आपने गंगा यहां से बही कही है, उस गंगा में हम सब एकत्र अवगाहन कर रहे हैं. इसके सुफल निकलते जाएं, इतनी शुभकामना व्यक्त करता हूं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.