WHO – भारत कोरोना के खिलाफ संघर्ष में विश्व का नेतृत्व कर दिखाए, महामारी से कैसे लड़ा जा सकता है Reviewed by Momizat on . भारत ने साइलेंट कीलर कही जाने वाली स्मॉल पॉक्स और पोलियो के उन्मूलन में भी दुनिया का नेतृत्व किया नई दिल्ली. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से आज पूरा विश्व लड़ र भारत ने साइलेंट कीलर कही जाने वाली स्मॉल पॉक्स और पोलियो के उन्मूलन में भी दुनिया का नेतृत्व किया नई दिल्ली. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से आज पूरा विश्व लड़ र Rating: 0
    You Are Here: Home » WHO – भारत कोरोना के खिलाफ संघर्ष में विश्व का नेतृत्व कर दिखाए, महामारी से कैसे लड़ा जा सकता है

    WHO – भारत कोरोना के खिलाफ संघर्ष में विश्व का नेतृत्व कर दिखाए, महामारी से कैसे लड़ा जा सकता है

    भारत ने साइलेंट कीलर कही जाने वाली स्मॉल पॉक्स और पोलियो के उन्मूलन में भी दुनिया का नेतृत्व किया

    नई दिल्ली. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से आज पूरा विश्व लड़ रहा है. चीन में इससे हजारों लोगों की जान चली गई तो उससे बुरा हाल इटली का है. अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, जापान सहित विश्व के लगभग सभी देश इस महामारी से त्रस्त हैं. उन्हें कुछ समझ नहीं आ रहा है.

    ऐसी स्थिति में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत के प्रयासों की सराहना की है. WHO ने कहा कि भारत को इस लड़ाई का नेतृत्व करते हुए दिखाना चाहिए कि क्या होना चाहिए और इस महामारी से किस तरह लड़ा जा सकता है.

    कोरोना वायरस के खतरे से लोगों को बचाने के लिए भारत लगातार सख्त कदम उठा रहा है. कई राज्यों को पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गया है, तो कई राज्यों में कर्फ्यू लगा दिया गया है. अभी तक भारत में कोरोना के 451 मामले सामने आए हैं. 10 लोगों की इस संक्रमण से मौत हो चुकी है. भारत में अभी यह महामारी सिर्फ दूसरे चरण तक पहुंची है. भारत सरकार की यह कोशिश है कि तीसरे चरण यानि कम्‍युनिटी ट्रांसमिशन तक न पहुंचे. भारत पूरी ताकत के साथ कोरोना वायरस के साथ जंग लड़ रहा है.

    कोरोना वायरस को रोकने के लिए भारत के प्रयासों पर  विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी निदेशक माइकल जे रेयान  ने कहा कि भारत और चीन सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले देश हैं. कोरोना वायरस के दूरगामी परिणाम इस बात पर निर्भर करेंगे कि बड़ी जनसंख्या वाले देश इसे लेकर क्या कदम उठाते हैं. यह बहुत जरूरी है कि भारत जन स्वास्थ्य के स्तर पर आक्रामक फैसले लेना जारी रखे. उन्होंने कहा कि भारत ने साइलेंट कीलर कही जाने वाली दो गंभीर बीमारियों स्मॉल पॉक्स और पोलियो के उन्मूलन में दुनिया का नेतृत्व किया.

    कोरोना वायरस संकट के निपटने की प्रशंसा करते हुए रेयान ने कहा कि हमारा मानना है कि भारत में जबरदस्त क्षमता है. जब समुदाय जुटते हैं, सिविल सोसाइटी साथ आती है और सरकारें ड्राइव करती हैं तो लक्ष्य पूरा होता है.

    About The Author

    Number of Entries : 6070

    Leave a Comment

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top