करंट टॉपिक्स

देशभर में 13 हजार विद्यालयों में 29 लाख छात्र-छात्राएं अध्ययनरत

Spread the love

रांची. विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान शिक्षा क्षेत्र में कार्य करने वाला देश का सबसे विशाल अशासकीय शिक्षा संस्थान है. मिजोरम प्रदेश तथा दमन-दीव व लक्षदीप इन दो केंद्र शासित राज्यों को छोड़कर भारत के सभी राज्यों के 645 जिलों में विद्या भारती का कार्य फैला हुआ है.

विद्यार्थियों की सर्वांगीण उन्नति का लक्ष्य लेकर वर्तमान में 12830 औपचारिक विद्यालय विद्या भारती के मार्गदर्शन में संचालित किए जा रहे हैं, जिनमें लगभग 29 लाख छात्र-छात्राएं अध्ययनरत है. इसके अतिरिक्त दुर्गम पर्वतीय व जनजातीय क्षेत्रों, सीमावर्ती व तटवर्ती भागों तथा नगरों की झुग्गी-झोपड़ियों व ग्रामों की सेवा बस्तियों में भी हम 3480 औपचारिक एकल शिक्षकीय विद्यालयों तथा 2604 संस्कार केंद्रों का निःशुल्क संचालन करते हैं. जिनमें लगभग 1,50,000 (डेढ़ लाख) छात्र-छात्राएं संस्कारक्षम शिक्षा ग्रहण करते हैं.

संस्थान की साधारण सभा भगवान बिरसा मुंडा की भूमि झारखंड की राजधानी राँची में स्थित असदित्य प्रकाश जालान टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज, कुदलुम में 25, 26, 27 मार्च 2022 को आयोजित की गई है. इस बैठक में देशभर के लगभग सभी राज्यों से 350 प्रतिनिधि सहभागिता करेंगे.

साधारण सभा का उद्घाटन समारोह 25 मार्च को प्रातः 9.00 बजे होगा, जिसमें कोडरमा की सांसद केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित रहेंगी. साधारण सभा की अध्यक्षता संस्थान के अध्यक्ष डी. रामकृष्ण राव करेंगे. साधारण सभा में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के परिप्रेक्ष्य में कार्य के विस्तार व गुणवत्ता विकास पर विस्तृत चर्चा की जाएगी. इसी के साथ विद्या भारती के चार आयाम (विद्वत परिषद, शोध, संस्कृति बोध व पूर्व छात्र परिषद) सहित 24 केंद्रीय विषयों की सुदृढ़ता पर भी विचार होगा.

विद्या भारती के विधानानुसार इस वर्ष विद्या भारती के नवीन अध्यक्ष का निर्वाचन तथा नवीन कार्यकारिणी समिति का गठन भी किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.