करंट टॉपिक्स

ज्ञात-अज्ञात हुतात्माओं के सर्वेक्षण के लिए गांव गांव जाएगी विद्यार्थी परिषद

Spread the love

नई दिल्ली. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की दो दिवसीय केंद्रीय कार्यसमिति बैठक 18 अक्तूबर को रानी सती मंदिर, गांधी मैदान, पटना में सम्पन्न हुई. आगामी वर्ष के महत्वपूर्ण निर्णय बैठक में लिए गए. आगामी महत्वपूर्ण योजनाओं में अभाविप की केंद्रीय कार्यसमिति ने तय किया कि देश भर के गांव-गांव में जाकर, वीर हुतात्माओं का सर्वेक्षण किया जाएगा.

प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए अभाविप की महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा “भारत के स्वाधीनता में बहुत से वीरों की सहभागिता रही है, जिनका इतिहास कहीं ना कहीं लुप्त करने का प्रयास किया गया है. स्वाधीनता के इस अमृत वर्ष में अभाविप ऐसे सभी सैनिकों के बलिदान को नागरिकों के सामने लाने का प्रयास करेगी.”

इस वर्ष 15 अगस्त को अभाविप ने देश भर में 1,09,635 स्थानों पर ध्वजारोहण करके देश में स्वाधीनता के पर्व को जन जन तक ले जाने का काम किया है. वर्ष भर भी हर माह में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम जैसे इंटर्नशिप, सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता तथा तिरंगा यात्रा आदि का आयोजन भी देश भर में किया जाएगा.

अभाविप का 67वाँ अधिवेशन जबलपुर में 24-26 दिसम्बर में होना तय हुआ है. देश भर से प्रमुख कार्यकर्ता कोरोना के नियमों का पालन करते हुए अधिवेशन में शामिल होंगे. हर वर्ष प्रो. यशवंतराव केलकर युवा पुरस्कार भी समाज में प्रभावशाली कार्य करने वाले युवा को अभाविप के अ. भा. अधिवेशन में दिया जाता है. इस वर्ष के आवेदन के लिए भी अभाविप ने जानकारी साझा की है. अभाविप की यात्रा पर आने वाली पुस्तक “ध्येय यात्रा” का कार्य भी अंतिम चरण में है और शीघ्र ही उसका विमोचन किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.