You Are Here: Home » Posts tagged "प्रधानमंत्री"

    आदिवासी दिवस के बहाने अलगाववाद की राजनीति…!!!

    डॉ. नीलम महेंद्रा वैश्विक परिदृश्य में कुछ घटनाक्रम ऐसे होते हैं जो अलग-अलग स्थान और अलग-अलग समय पर घटित होते हैं, लेकिन कालांतर में अगर उन तथ्यों की कड़ियाँ जोड़कर उन्हें समझने की कोशिश की जाए तो गहरे षड्यंत्र सामने आते हैं. इन तथ्यों से इतना तो कहा ही जा सकता है कि सामान्य से लगने वाले ये घटनाक्रम असाधारण नतीजे देने वाले होते हैं. क्योंकि इस प्रक्रिया में संबंधित समूह, स्थान या जाति के इतिहास से छेड़छाड़ करके ...

    Read more

    पथ निहारते नयन…. श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण कार्य शुभारंभ – 1

    पिंकेश लता रघुवंशी अपि स्वर्णमयी लंका न मे लक्ष्मण रोचते । जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी ॥ (वाल्मीकि रामायण) लंका विजयोपरांत लंका के वैभव और बनावट देख वहीं रहने के लक्ष्मण जी के आग्रह पर भगवान राम यही उत्तर तो देते हैं - लक्ष्मण! यद्यपि यह लंका सोने की बनी है, फिर भी इसमें मेरी कोई रुचि नहीं है. (क्योंकि) जननी और जन्मभूमि स्वर्ग से भी महान है. उसी जन्मभूमि को पाने और अपने ही जन्म स्थान को सिद्ध करने के ...

    Read more

    राष्ट्रीय चेतना का उद्घोष : अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण – अंतिम

    नरेन्द्र सहगल   मंदिर निर्माण का शुभारंभ राष्ट्रीय आस्था की विजय अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के शुभारंभ का ऐतिहासिक कार्यक्रम भारत की सनातन संस्कृति पर आधारित परम वैभवशाली राष्ट्र के पुनर्जागरण की गगनभेदी रणभेरी था. भारत के सभी प्रमुख संतों-महात्माओं की उपस्थिति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शास्त्रीय विधि के अनुसार पूजन किया. मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम को समर्पित इस कार्यक्रम ...

    Read more

    श्रीराम मंदिर – भव्य ही नहीं, सामाजिक समरसता, एकात्मता, स्वाभिमान का प्रतीक भी होगा

    नई दिल्ली. मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम हमारे राष्ट्र पुरुष हैं. श्रीराम ने सामाजिक समरसता और सशक्तिकरण का संदेश स्वयं के जीवन से दिया. भगवान श्रीराम के जीवन में अहिल्या उद्धार, शबरी और निषादराज से मित्रता व प्रेम सामाजिक समरसता के अनुपम उदाहरण हैं. इसी प्रकार श्रीराम जन्मभूमि पर बनने वाला भव्य मंदिर भी सामाजिक समरसता एकात्मता, स्वाभिमान का प्रतीक होगा. इसी दृष्टि से सन् 1989 में श्रीराम जन्मभूमि के शिल ...

    Read more

    भारत नव प्रभात में स्वाभिमान के साथ सुशोभित होगा

    लोकेंद्र सिंह 500 वर्षों के संघर्ष और लंबी प्रतीक्षा के पश्चात अब जाकर वह क्षण आया है, जिसका स्वप्न हिन्दू समाज देख रहा था. अयोध्या जी में भारत की श्रद्धा के केंद्र भगवान श्रीराम के मंदिर निर्माण के शुभारंभ के साथ अब जाकर हिन्दू समाज के आत्मगौरव का वनवास भी खत्म हो रहा है. यह कोई साधारण मंदिर नहीं है, भारत के स्वाभिमान का प्रतीक है. इसलिए यह क्षण सामान्य नहीं है, ऐतिहासिक अवसर है. गौरव की अनुभूति से भर जाने ...

    Read more

    जगत में स्वयं को और स्वयं में सारे जगत को देखने की दृष्टि भारत की है – डॉ. मोहन भागवत

    श्रीराम मंदिर निर्माण कार्य शुभारंभ कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी का उद्बोधन श्रद्धेय महंत नृत्यगोपाल जी महाराज सहित उपस्थित सभी संत चरण, भारत के आदरणीय और जनप्रिय प्रधानमंत्री जी,  उत्तर प्रदेश की मा. राज्यपाल जी,  उत्तर प्रदेश के मा. मुख्यमंत्री जी, सभी नागरिक सज्जन माता-भगिनी. आज आनंद का क्षण है, बहुत प्रकार से आनंद है. हम सबने एक संकल्प लिया था. मुझे स्मरण है कि तब ...

    Read more

    भारत में जन्मीं 36 प्रमुख परंपराओं के पूज्य संत महात्मा रहेंगे उपस्थित – चंपत राय

    श्रीराम मंदिर निर्माण कार्य शुभारंभ कार्यक्रम, प्रधानमंत्री व सरसंघचालक रहेंगे उपस्थित अयोध्या. श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय ने अयोध्या में आयोजित प्रेस वार्ता में 05 अगस्त के कार्यक्रम के संबंध में जानकारी प्रदान की. उन्होंने बताया कि आगामी कृष्णपक्ष द्वितीया, संवत 2077 तदनुसार 05 अगस्त, 2020 को श्रीराम जन्मभूमि पर मन्दिर निमार्ण कार्यारम्भ हेतु भारत की मिट्टी से जन्मी प्रमुख 36 परम्प ...

    Read more

    स्वदेशी रक्षाबंधन – स्वदेशी रक्षा सूत्र बांध बहनें लेंगीं देश की रक्षा का वचन

    सिलीगुड़ी. चीन की कायराना हरकत के पश्चात चीनी सामान के बहिष्कार की मुहिम रंग ला रही है. इस बार बहनें अपनी भाई की कलाई पर चीनी नहीं, स्वदेशी रक्षा सूत्र बांधकर देश की सुरक्षा का वचन लेंगीं. रक्षाबंधन का पर्व 03 अगस्त को है. स्वदेशी रक्षाबंधन की मुहिम को सफल बनाने के लिए उत्तर बंगाल के तराई, डुवार्स व हिल्स में उत्साह देखा जा रहा है. इतना ही नहीं चीन के खिलाफ आर्थिक मोर्चाबंदी पर विभिन्न सामाजिक व व्यापारिक   ...

    Read more

    नभः स्पृशं दीप्तं….स्वागतम राफेल महायोद्धा

    सूर्यप्रकाश सेमवाल राष्ट्ररक्षासमं पुण्यं, राष्ट्ररक्षासमं व्रतम्, राष्ट्ररक्षासमं यज्ञो, दृष्टो नैव च नैव च... (राष्ट्र रक्षा के समान कोई पुण्य नहीं, राष्ट्र रक्षा के समान कोई व्रत नहीं, राष्ट्र रक्षा के समान कोई यज्ञ नहीं) यह उस संस्कृत श्लोक का भावार्थ है जो प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने देश की धरती पर अंबाला एयरबेस में राफेल के पहुँचने पर उसके स्वागत में ट्वीट कर लिखा था. नभः स्पृशं दीप्तम्..स्वागतम् ! ...

    Read more

    सामाजिक समरसता का अनुपम केंद्र बनेगा श्रीराम जन्मभूमि मंदिर – मिलिंद परांडे

    नई दिल्ली. विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के केन्द्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि मुझे ख़ुशी है कि मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की जन्मभूमि के सम्बन्ध में यह पत्रकार वार्ता आज एक ऐसे पावन स्थल पर हो रही है, जहां से डॉ. हेडगेवार जी द्वारा संघ-गंगा तथा डॉ. बाबासाहेब अंबेडकर जी की दीक्षा भूमि से समता-गंगा का उद्गम हुआ. मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम ने सामाजिक समरसता और सशक्तिकरण का संदेश स्वयं के जीवन से द ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top