You Are Here: Home » Posts tagged "Dr. hedgewar"

    12 नवम्बर / प्रेरक प्रसंग – मस्जिद में खाकी निक्कर व भगवा पट्टी का सम्मान

    नई दिल्ली. विमान यात्रा सुखद तो है, पर उसकी दुर्घटनाएं बहुत दुखद होती हैं. ऐसा ही एक दुखद प्रसंग 12 नवम्बर, 1996 को घटित हुआ, जब हरियाणा में भिवानी के पास चरखी दादरी गांव के ऊपर दो विमान टकरा गये. इनमें से एक सऊदी अरब का तथा दूसरा कजाक एयरवेज का था. दोनों में आग लग गयी और वे ढाणी फोगाट, खेड़ी सनवाल तथा मालियावास गांवों के खेतों में आ गिरे. सऊदी विमान के कुल 312 लोगों में से 42 हिन्दू, 12 ईसाई तथा शेष सब मुस ...

    Read more

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

    कार्यप्रणाली राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एक कार्यप्रणाली अथवा मैथेडोलाजी है. जिसमें व्यक्ति निर्माण का काम किया जाता है. क्योंकि समाज के आचरण में कई प्रकार के परिवर्तन आज भी हम चाहते हैं. जैसे भेद मुक्त समाज, समता युक्त समाज, शोषण मुक्त समाज और स्वार्थ रहित समाज. संघ की योजना है कि प्रत्येक गांव और जिले में अच्छे स्वयंसेवक खड़े करना. अच्छे स्वयंसेवक का मतलब है ‘जिसका अपना चरित्र विश्वासास्पद और शुद्ध है. वह सम्प ...

    Read more

    महात्मा गाँधी की जीवनदृष्टि का अनुसरण करें

    डॉ. मोहन भागवत भारत देश के आधुनिक इतिहास तथा स्वतंत्र भारत के उत्थान की गाथा में जिन विभूतियों के नाम सदा के लिये अंकित हो गये हैं, जो सनातन काल से चलती आयी भारत की इतिहास गाथा के एक पर्व बन जायेंगे, पूज्य महात्मा गांधी का नाम उनमें प्रमुख है। भारत आध्यात्मिक देश है और आध्यात्मिक आधार पर ही उसका उत्थान होगा, इसे आधार बना कर भारतीय राजनीति को आध्यात्मिक नींव पर खड़ा करने का प्रयोग महात्मा गांधी ने किया। गांध ...

    Read more

    सेवा कार्य के आग्रही के. सूर्यनारायण राव

    संघ में ‘सुरुजी’ के नाम से प्रसिद्ध वरिष्ठ प्रचारक श्री के. सूर्यनारायण राव का जन्म 20 अगस्त, 1924 को कर्नाटक के मैसूर नगर में हुआ था. वैसे यह परिवार इसी राज्य के ग्राम कोरटगेरे (जिला तुमकूर) का मूल निवासी था. उनके पिता श्री कोरटगेरे कृष्णप्पा मैसूर संस्थान में सहायक सचिव थे. उन्होंने पूज्य गोंडवलेकर महाराज से तथा उनकी पत्नी श्रीमती सुंदरप्पा ने ब्रह्मानंदजी से दीक्षा ली थी. अतः धर्म के प्रति प्रेम सुरुजी क ...

    Read more

    अज्ञात स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 13  

    नरेंद्र सहगल भारतवर्ष की सर्वांग स्वतंत्रता के लिए चल रहे सभी आंदोलनों/संघर्षों पर डॉक्टर हेडगेवार की दृष्टि टिकी हुई थी,यही वजह रही कि डॉक्टर हेडगेवार ने अस्वस्थ रहते हुए भी अपनी पूरी ताकत संघ की शाखाओं में लाखों की संख्या में स्वयंसेवकों अर्थात् स्वतंत्रता सेनानियों के निर्माण कार्य में झोंक दी.भविष्य में होने वाले द्वितीय विश्वयुद्ध के समय ब्रिटिश साम्राज्यवाद की होने वाली पतली हालत को उन्होंने भांप लिया ...

    Read more

    अज्ञात  स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 8

    नरेंद्र सहगल देश की स्वतंत्रता के लिए प्रत्येक आंदोलन एवं प्रयास का गहराई से अध्ययन करने के लिए डॉक्टर हेडगेवार कोई भी अवसर नहीं छोड़ते थे. कांग्रेस के गर्म धड़े के नेता डॉक्टर मुंजे ने एक ‘रायफल एसोसिएशन’ बनाई जो युवकों को निकटवर्ती जंगलों में ले जाकर निशानेबाजी तथा सामने खड़े शत्रु का प्रतिकार करने का प्रशिक्षण देती थी. डॉक्टर हेडगेवार ने भी डॉ. मुंजे के साथ कई दिनों तक जंगलों में रहकर यह प्रशिक्षण प्राप्त क ...

    Read more

    अज्ञात स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 7

    नरेंद्र सहगल हिन्दू धर्म के सिद्धांतों और अधिकांश रीतिरिवाजों में डॉ. हेडगेवार पूर्ण निष्ठा रखते हुए जेल में अपनी दिनचर्या का निर्वाह करते थे. वे यज्ञोपवीत पहनते थे. जेल के नियमों के अनुसार जब उन्हें इसे उतारने के लिए कहा गया तो उन्होंने ऐसा करने से साफ इन्कार कर दिया ‘मैं इसे नहीं उतार सकता, यह मेरा धार्मिक हक है, इसमें दखलअंदाजी करने का आपका कोई अधिकार नहीं बनता’. उस समय जेल के पर्यवेक्षक एक आयरिश सज्जन थ ...

    Read more

    अज्ञात  स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 6

    नरेंद्र सहगल प्रखर राष्ट्रभक्ति की सुदृढ़ मानसिकता के साथ डॉक्टर हेडगेवार ने ‘कांग्रेसी’ कहलाना भी स्वीकार कर लिया. नागपुर अधिवेशन में अपना रुतबा जमाने के बाद वे महात्मा गांधी द्वारा मार्गदर्शित असहयोग आंदोलन को सफल बनाने के लिए जी जान से जुट गए. गांधी जी के आह्वान पर सारा देश अहसयोग आंदोलन में हर प्रकार से शिरकत करने को तैयार हो गया. पूर्व में अनुशीलन समिति द्वारा संचालित सशस्त्र क्रांति और बाद में 1857 जै ...

    Read more

    अज्ञात  स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 5

    नरेंद्र सहगल भारत में चल रहे सभी प्रकार के स्वतंत्रता-आंदोलनों, शस्त्रक्रांति के प्रयत्नों, समाज सुधार के लिए कार्यरत विभिन्न संस्थाओं तथा सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के जागरण में जुटी सभी धार्मिक संस्थाओं का निकट से अध्ययन करने के लिए डॉक्टर साहब इनके सभी कार्यकलापों में यथासम्भव भागीदारी करते थे. उनका यह निश्चित मत था कि देश के शत्रुओं को जिस किसी भी मार्ग से भारत भूमि से निकाला जा सके, वही उचित तथा योग्य है. इ ...

    Read more

    राष्ट्र निर्माण में संघ की भूमिका, विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रम में शामिल

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का इतिहास और ‘राष्ट्र निर्माण’ में इसकी भूमिका को नागपुर स्थित एक विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रम में शामिल किया गया है. राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय ने बीए (इतिहास) के द्वितीय वर्ष के पाठ्यक्रम में आरएसएस के इतिहास को शामिल किया है. पाठ्यक्रम के तीसरे खंड में राष्ट्र निर्माण में आरएसएस की भूमिका का वर्णन है. प्रथम खंड में कांग्रेस की स्थापना और जवाहर लाल नेहरू ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top