सफल होने के साथ-साथ व्यक्ति का जीवन उद्देश्यपूर्ण भी होना चाहिए – डॉ. मोहन भागवत जी

सफल होने के साथ-साथ व्यक्ति का जीवन उद्देश्यपूर्ण भी होना चाहिए – डॉ. मोहन भागवत जी

नई दिल्ली (इंविसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि जीवन में सफल होने के साथ-साथ जीवन को उद्देश्यपूर्ण भी होना चाहिए. तभी मनुष्य को…

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ – संघ शिक्षा वर्ग तृतीय वर्ष का शुभारम्भ

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ – संघ शिक्षा वर्ग तृतीय वर्ष का शुभारम्भ

नागपुर (विसंकें). रेशिमबाग स्थित डॉ. हेडगवार स्मृति भवन परिसर के महर्षि व्यास सभागृह में तृतीय वर्ष संघ शिक्षा वर्ग का सोमवार प्रातः शुभारंभ हुआ. उद्घाटन सत्र में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ…

सोशल मीडिया के प्रयोग में भी राष्ट्र हित, सामाजिक हित का ध्यान रखना चाहिये – जे. नन्दकुमार जी

सोशल मीडिया के प्रयोग में भी राष्ट्र हित, सामाजिक हित का ध्यान रखना चाहिये – जे. नन्दकुमार जी

वाराणसी (विसंकें). विश्व संवाद केन्द्र काशी तथा पत्रकारिता एवं जनसम्प्रेषण विभाग काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वाधान में चिकित्सा विज्ञान संस्थान के केएन उडुप्पा सभागार में आदि पत्रकार देवर्षि नारद…

पत्रकारों को व्यवहार में पारदर्शिता और नैतिकता का मापदंड अपनाना चाहिये – दत्तात्रेय होसबले जी

पत्रकारों को व्यवहार में पारदर्शिता और नैतिकता का मापदंड अपनाना चाहिये – दत्तात्रेय होसबले जी

मुंबई (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले जी ने कहा कि समाज को शिक्षा व दिशा देने वाले पत्रकारों (मीडिया) को देखने, बोलने और लिखने को लेकर…

श्री गुरु तेगबहादुर जी आज भी विश्व के लिए प्रेरणा स्रोत – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

श्री गुरु तेगबहादुर जी आज भी विश्व के लिए प्रेरणा स्रोत – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संग के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल जी ने कहा कि श्री गुरु तेगबहादुर जी ने उस समय अपने जीवन का बलिदान ना दिया होता तो…

साधना के बिना प्रतिभा का सामर्थ्य असंभव होता है – डॉ. मोहन भागवत जी

साधना के बिना प्रतिभा का सामर्थ्य असंभव होता है – डॉ. मोहन भागवत जी

मुंबई (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि अपनी प्रतिभा के प्रकाश से जगमगाने वाली प्रतिभाओं की नक्षत्र मालिका को अभिवादन करता हूँ. आज…

वामपंथी आतंक के शिकार पीड़ितों की दास्तां नेशनल मीडिया को नहीं भा रही ?

वामपंथी आतंक के शिकार पीड़ितों की दास्तां नेशनल मीडिया को नहीं भा रही ?

हमारे कार्य का आधार घृणा, हिंसा नहीं, आत्मीयता है – डॉ. कृष्ण गोपाल जी केरल में वामपंथी आतंक के पीड़ितों ने सुनाया अपना दर्द विस्मया, ये नाम अधिकांश ने सुना…

सहकारिता

सहकारिता का अर्थ है मिल जुलकर काम करना. हमारी संयुक्त परिवार व्यवस्था सहकारिता का एक अच्छा उदाहरण है. जब हम सहकारिता की बात करते हैं, तब हमारा उद्देश्य आर्थिक क्षेत्र में सहयोग करना होता है. हमारी सभी आवश्यक वस्तुएं सहयोग द्वारा ही जुटाई जाती हैं. आज के युग में कोई भी काम सहयोग के बिना पूरा नहीं हो सकता है. ह more ...

February 01, 2017 (0) comments

26 मई / जन्मदिवस – निष्ठावान कार्यकर्ता हो. वे. शेषाद्रि

नई दिल्ली. आज राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का साहित्य हर भाषा में प्रचुर मात्रा में निर्माण हो रहा है, पर इस कार्य के प्रारम्भ में जिन कार्यकर्ताओं की प्रमुख भूमिका रही, उनमें श्री होंगसन्द्र वेंकटरमैया शेषाद्रि जी का नाम शीर्ष पर है. 26 मई, 1926 को बंगलौर में जन्मे शेषाद्रि जी 1943 में स्वयंसेवक बने. 1946 में मैस more ...

May 26, 2017 (0) comments
Scroll to top