सूचनाओं का मानव हित में उपयोग ही ज्ञान है – दत्तात्रेय होसबोले

सूचनाओं का मानव हित में उपयोग ही ज्ञान है – दत्तात्रेय होसबोले

रजत जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल का पटना में आयोजन पटना (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले जी ने…

संघ का विचार व कार्य सत्य निष्ठा पर आधारित, किसी के प्रति विरोध, द्वेष पर नहीं – डॉ. मोहन भागवत जी

संघ का विचार व कार्य सत्य निष्ठा पर आधारित, किसी के प्रति विरोध, द्वेष पर नहीं – डॉ. मोहन भागवत जी

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि भारत प्रकाशन ने संघ को लेकर जानकारी बढ़ाने या जिज्ञासा बढ़ाने वाला अंक प्रकाशित किया है,…

समाज का गौरवशाली अतीत ही नयी पीढ़ी को आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है – डॉ. मोहन भागवत जी

समाज का गौरवशाली अतीत ही नयी पीढ़ी को आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है – डॉ. मोहन भागवत जी

उदयपुर (विसंकें). महाराणा प्रताप के जीवन को समर्पित मेवाड़ एवं भारत के गौरवशाली इतिहास को जीवन्त करने वाले ‘राष्ट्रीय तीर्थ - प्रताप गौरव केंद्र, उदयपुर’ का लोकार्पण राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ…

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ देश, समाज के लिए कार्य करने वाला संगठन है – डॉ. मोहन भागवत जी

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ देश, समाज के लिए कार्य करने वाला संगठन है – डॉ. मोहन भागवत जी

भीलवाड़ा, चित्तौड़. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि संघ विगत 90 वर्षों ऐसी साधना में प्रयत्नरत है कि भारत एक खुशहाल देश बने, समृद्धशाली…

अनुकूलता लक्ष्य साधन में सहायक तो हो सकती है, पर लक्ष्य की प्राप्ति अपनी कार्यपद्धति से ही होगी – डॉ. मोहन भागवत जी

अनुकूलता लक्ष्य साधन में सहायक तो हो सकती है, पर लक्ष्य की प्राप्ति अपनी कार्यपद्धति से ही होगी – डॉ. मोहन भागवत जी

होशियारपुर. सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने 20 नवम्बर को सायं 6 बजे पूर्ण गणवेश में एक हजार से अधिक स्वयंसेवकों को संबोधित किया. उन्होंने स्वयंसेवको को अनुकूल परिस्थितियों के…

संघ का उद्देश्य संपूर्ण समाज का संगठन है – डॉ. मोहन भागवत जी

संघ का उद्देश्य संपूर्ण समाज का संगठन है – डॉ. मोहन भागवत जी

होशियारपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने एक दिवसीय पंजाब प्रवास के दौरान डीएवी स्कूल में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. उन्होंने कार्यकर्ताओं से संघ कार्य…

देश में चरित्र और राष्ट्र मूल्यों पर आधारित शिक्षा आवश्यक – अरुण कुमार जी

देश में चरित्र और राष्ट्र मूल्यों पर आधारित शिक्षा आवश्यक – अरुण कुमार जी

इंदौर (विसंकें). इंदौर में राष्ट्र चेतना शिविर के समापन अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख अरुण कुमार जी उपस्थित रहे. समापन सत्र में उद्बोधन के…

समाज को सही दिशा में मोड़ने वाली नारी शक्ति..!

भारत में नारी शक्ति का सम्मान प्राचीन काल से रहा है. भारत की संस्कृति और सभ्यता को बनाये रखने में यहाँ की महिलाओं का बहुत बड़ा योगदान रहा है. भारतीय समाज समय के साथ काफी बदला है. लेकिन इसके मूल्य आज भी वही हैं. समय के साथ भारतीय समाज में बदलाव लाने का काम यहाँ की महिलाओं ने किया है. प्राचीन काल से चली आ रही प more ...

November 27, 2016 (1) comments

10 दिसंबर / बलिदान दिवस – सोनाखान (छत्तीसगढ़) के हुतात्मा वीर नारायण सिंह

नई दिल्ली. वीर नारायण सिंह का जन्म सन् 1795 में सोनाखान के जमींदार रामसाय के घर हुआ था. वे बिंझवार आदिवासी समुदाय के थे, उनके पिता ने वर्ष 1818-19 के दौरान अंग्रेजों तथा भोंसले राजाओं के विरुद्ध तलवार उठाई, लेकिन कैप्टन मैक्सन ने विद्रोह को दबा दिया. इसके बाद भी बिंझवार आदिवासियों के सामर्थ्य और संगठित शक्ति more ...

December 10, 2016 (0) comments
Scroll to top