समाज हित पत्रकारिता का परम धर्म

समाज हित पत्रकारिता का परम धर्म

नारद जयंति – 23 मई पुराणों में वर्णित विभिन्न ऐतिहासिक कथाओं में श्रेष्ठ मुनि नारद की भूमिका नवीनतम सूचनाओं के कुशल संवाहक व प्रभावी उपदेष्टा के रूप में सहज ही…

समरसता के स्वर को सबल बनाना होगा – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

समरसता के स्वर को सबल बनाना होगा – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

श्रीमती शुभांगी भडभडे डॉ. हेडगेवार प्रज्ञा सम्मान से सम्मानित कोलकाता (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल जी ने कहा कि डॉ. हेडगेवार का दर्शन एक सारस्वत…

बाबा साहेब ने शोषित समाज का उद्धार करते हुए राष्ट्र की एकता, अखंडता पर कोई आंच नहीं आने दी – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

बाबा साहेब ने शोषित समाज का उद्धार करते हुए राष्ट्र की एकता, अखंडता पर कोई आंच नहीं आने दी – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

नई दिल्ली (इंविसंकें). बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर जी की 125वीं जयंती के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने उनको श्रद्धा सुमन अर्पित करने के लिए भिन्न-भिन्न तरह की घोष रचनाओं…

गंगा भारतीय संस्कृति का पुण्य प्रवाह – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

गंगा भारतीय संस्कृति का पुण्य प्रवाह – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

हरिद्वार (विसंकें). दिव्य प्रेम सेवा मिशन द्वारा अर्धकुम्भ मंथन के अन्तर्गत आयोजित व्याख्यान माला की चतुर्थ श्रृंखला में भारतीय संस्कृति के विकास में गंगा का महत्व विषय पर चर्चा की…

स्वतंत्रता और समता एक साथ तभी आ सकती है, जब उसके साथ बंधुता हो – डॉ. मोहन भागवत जी

स्वतंत्रता और समता एक साथ तभी आ सकती है, जब उसके साथ बंधुता हो – डॉ. मोहन भागवत जी

कर्णावती, गुजरात (विसंकें). रविवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, कर्णावती महानगर द्वारा आयोजित वर्षप्रतिपदा उत्सव के अवसर पर अपने उद्बोधन में सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि संघ में…

समाज अपने पुरुषार्थ के बलबूते व्यवस्थाएं खड़ी करे – डॉ. मनमोहन वैद्य जी

समाज अपने पुरुषार्थ के बलबूते व्यवस्थाएं खड़ी करे – डॉ. मनमोहन वैद्य जी

नई दिल्ली (इंविसंके). स्वदेशी जागरण मंच द्वारा चैत्र शुक्ल प्रतिपदा विक्रमी संवत 2073 के अवसर पर नववर्ष स्वागत समारोह आयोजित किया गया. इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल…

जो व्यक्ति मातृभूमि का नहीं, वह किसी का नहीं हो सकता – इंद्रेश कुमार जी

जो व्यक्ति मातृभूमि का नहीं, वह किसी का नहीं हो सकता – इंद्रेश कुमार जी

वाराणसी (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य इंद्रेश कुमार जी ने कहा कि जो व्यक्ति मातृभूमि का नहीं है, वह किसी का नहीं हो सकता है.…

समाज हित पत्रकारिता का परम धर्म

नारद जयंति – 23 मई पुराणों में वर्णित विभिन्न ऐतिहासिक कथाओं में श्रेष्ठ मुनि नारद की भूमिका नवीनतम सूचनाओं के कुशल संवाहक व प्रभावी उपदेष्टा के रूप में सहज ही उभरती है. वर्तमान में जब सम्पूर्ण मानव जाति एक ओर सूचना क्रान्ति का आनन्द लेती प्रतीत होती है तो दूसरी ओर यह भी कटु सत्य है कि मीडिया आधारित सामाजिक स more ...

May 04, 2016 (0) comments

05 मई / जन्मदिवस – सेवा के धाम विष्णु कुमार जी

नई दिल्ली. सेवा पथ के साधक विष्णु जी का जन्म कर्नाटक में बंगलौर के पास अक्कीरामपुर नगर में 5 मई, 1933 को हुआ था. छह भाई और एक बहन वाले परिवार में वे सबसे छोटे थे. घर में सेवा व अध्यात्म का वातावरण होने के कारण छह में से दो भाई संघ के प्रचारक बने, जबकि दो रामकृष्ण मिशन के संन्यासी. विष्णु जी का मन बचपन से ही न more ...

May 05, 2016 (0) comments
Scroll to top